सेक्सी साली के साथ चोदा चोदी

दिल्ली के कुनाल ने अपनी ही साली के साथ रंगरलियाँ मनाली। अब जब साली ही उसे गंदे इशारे गई तो चुदाई तो होगी ही न। ऊपर से कुनाल को भी अपनी पत्नी कुछ खास पसंद नहीं थी। तो मौका मिलते ही कुनाल ने सेक्सी साली के साथ चोदा चोदी कर डाली।

दोस्तों मेरा नाम कुनाल और मैंने अपनी सेक्सी साली को चोदा और उसकी चुत को तो लाल किया ही साथ ही अपने लंग को भी लाल कर डाला। मेरी उम्र 29 साल है और मेरा एक बेटा भी है। मुझे अपनी वाइफ कुछ खास पसंद नहीं है इसलिए मैंने इतना अश्लील काम अपनी साली के साथ किया। 

क्यों की मेरी पत्नी गाँव की रहने वाली थी इसलिए वो और उसकी छोटी बहन कुछ खास पढ़े लिखे नहीं थे। उसकी बहन यानि मेरी साली पूरी की पूरी देहाती और ग्वार थी और उसका शरीर एक दम हॉट और सेक्सी था। 

उसके बड़े बड़े मटकते चूतड़ और ऊपर नीचे हिलते थन मुझे काफी पसंद थे और मैं उनके दबोच कर चूसना चाहता था। मेरी साली कुछ दिनों के लिए मेरे यहाँ रहने आई हुई थी। 

गाँव में कुछ लोगो को कोरोना हो गया था तो वो कुछ दिन हमारे साथ रहने के लिए आई हुई थी। अब मेरी सास और ससुर मेरे यहाँ रहे ये तो काफी शर्म की बात होगी इसलिए उन्होंने अपनी बैठी को यहाँ बेज दिया। 

मेरी साली का नाम सोनल था और मेरी पत्नी का नाम रूपा था। मेरी पत्नी रूपा को मैंने काफी चूस और चोदा था पर फिर भी न तो उसकी गांड बड़ी हुई न स्तन। 

अब धीरे धीरे हम दोनों में प्यार और चुदाई खत्म होने लगी और बस इस तरह मेरी नजर मेरी साली पड़ी। 

मेरी साली की उम्र 22 साल थी वो काफी जवान और सेक्सी कली थी जिसे मैं तोड़ना चाहता था। 

अब देखते ही देलखते लॉकडाउन भी लग गया और कोरोना देश में फैलने लगा और मेरी सास को कोरोना हो गया। तो एक दिन के लिए मेरी पत्नी और साली वापस अपने घर गाँव चले गए ताकि अपनी माँ का ख्याल रख साके। उसके अगले ही दिन मेरी वाइफ ने सोनल वो वापस मेरे पास भेज दिया ताकि उसको कोरोना न हो जाए। 

वो जैसे भी अनपढ़ थी तो वहा रूकती तो कुछ न कुछ हो ही जाता। धीरे धीरे मामला खराब होता गया और सासु माँ को अस्पताल लेजाना पड़ा। मेरी पत्नी बस वही के कामो में लगी रही और यहाँ मैं अपने बेटे और साली के साथ अकेले रहने लगा। 

घर पर मेरी साली मेरे 5 साल के बेटे के साथ खेलती रहती और मैं पास बैठा उसके सेक्सी शरीर पर नजरे गड़ाए बैठा रहता। धीरे धीरे सोनल को पता लगता रहा की मैं उसके किसी कुतो वाली नजरो से देखता हूँ इसलिए वो कभी कभी वो मुझ  मतलब वाली गन्दी बात भी बोल दिया करती। 

एक शाम जब वो मेरे बेटे के साथ खेल रही थी तो वो बार बार अपने स्तनों को ऊपर उठा कर सेट करती। वो बार बार ऐसा करती और अपने सूट के गले से स्तन आधे बाहर निकलती। 

मैं उसके स्तनों की दरार देख कामुक होता और बस वही देखता रहता। उसी बेच उसने मेरे बेटे का खिलौना लिया और उसे अपने स्तनों के बीच घुसा दिया और मेरे बेटे को कहा ” अब बताओ कहा गया बाबू का खिलौना ? “

मेरा बेटा यहाँ वहा देखता और बस जमीं पर बैठ जाता। 

तभी साली ने मेरे बेटे को कहा ” नहीं मिला ? अब देखना तुम्हारे पापा कैसे ढूँढ़ते है !! “

अपना लंड खड़ा करने के लिए हमें इंस्टाग्राम पर फॉलो करे !!

follow antarvasnastory on instagram

साली मेरे पास आई और अपनी छाती मेरे सामने कर के बोली ” छोटे बाबू ने तो हार मन ली अब आप कोशिश करो !! “

मैं सोनल को देख हसने लगा और बोला कुछ और नहीं मिला खेलने को !!

साली ने मेरा हाथ पकड़ा और अपने सूट के गले से अंदर घुसा कर कहा ” हार मत मानो ! “

खिलौना काफी छोटा था तो मैं उसकी ब्रा के अंदर हाथ डाल कर उसके स्तनों के बेचन खोजने लगा। 

तभी मेरे हाथ उसका एक निप्पल आ गया और मैने उसे जोर से दबा दिया। 

तभी साली कामुक आवाज निकाल कर मुझे सेक्सी तरीके से देखने लगी। 

मेरी आँखों में देखते हुए वो आगे बढ़ी और मेरे हाथो को एक बार चुम लिया। 

बस उसकी हाँ यही तो मुझे चाहिए ही। मैं जल्दी से भागा और को दूसरे कमरे में बंद कर वापस आया। 

और वापस एते ही मैं अपनी साली को गले लगा कर उसके होठो पर चूमने लगा।    

मैंने जल्दी जल्दी उसका सूट और सलवार उतारा और उसके स्तनों को दबाने चूसने लग गया। साली गहरी सासे लेते लेते बोली ” जीजू किसी को पता तो नहीं चलेगा न ? “

मैं हाँ बोला और अपनी नंगी साली को गोद में उठा और अपने बैडरूम में लगाया। 

अंदर लेजाकर मैंने उसे अपने बेड पर प्यार से लेटाया और उसके ऊपर चढ़ कर उसकी गर्दन पर चूमने लगा। 

साली – अहह जीजू !! अहह आप कितने !! हरामी हो !!

मैंने कहा – तू भी तो रंडी है !!!

उसके बाद हम एक दूसरे से जमकर प्यार करने लगे। 

साली – मेरे मुँह में थूको !!

मैंने कहा – क्यों ?

साली – मेने ब्लू फिल्म में देखा है मुझे पड़ा कामुक लगता है !

मैं मुँह में थूक जमा किया और अपनी साली के मुँह के अंदर थूक दिया। उसके बाद साली ने लेते लेते अपना सर उठाया और मेरे हाथो को चूमने लगी।

मैं अपने एक हाथ को उसकी सलवार में घुसाया और उसकी कच्छी के अंदर ही उसकी गर्म चुत में उनलगिया डालने लगा। 

उसकी बड़ी बड़ी झाट के बाल  गंदे तो लग रहे थे पर उसके कोमल शरीर की वजह से मैं रुक नहीं पाया। 

उसकी नरम जांघो के बीच गीली चुत में मैं उनलगी करती उसके होठो को चूमता रहा और साली मेरे नीचे लेती चुदाई के लिए तड़पती रही।   

कुछ देर बाद जब चुत से अपनी निकलने लगा तो मैंने जल्दी जल्दी अपनी जीन्स और साली की सलवार उतरी और अपने सूखे लंड को उसकी गीली चुत के अंदर घुसाने लगा। 

मैंने अपना लाल टोपा उसकी चुत के ऊपर रखा और उसे दबा कर अंदर घुसा दिया। 

टोपा चुत के दरवाजो को पार कर के अंदर घुस गया और साली ने चुत टाइट करने मेरे लिंग कर अंदर फसा दिया। 

तब मुझे याद आया की मैंने कंडोम तो लगाया ही नहीं। मैंने लंड बाहर निकालने चाहता तो पता लगा की साली ने अपनी चुत टाइट कर रखी थी और मुझे लंड बाहर निकलने में दर्द होने लगा। 

तभी साली ने मेरी गांड पर हाथ रखा और उसे अपने नाख़ून से जकड़ कर मेरी कमर अपनी चुत की तरफ धकेलने लगी। 

अपनी चुत में लंड धकेल कर वो बोली ” जीजू करना है तो ऐसे ही करो !! “

मैं सोचा की चली ऐसे ही सही निकलने से पहले ही बाहर निकाल दुगा। 

उसके बाद मैं अपनी कमर उछाल उछाल कर साली की चुत में लंड मारने लगा और साली की टाइट चुत को अंदर से जोर जोर से रगड़ने लगा। 

चुदाई से पुरे कमरे में घपा घप की आवाज आने लगी और मैं जोर जोर से सेक्स करता रहा। 

साली अपने उछलते स्तनों को हाथो में लेकर सहारा देने लगी और मैं बार बार उसके सुंदर रसीले हाथो को चूमता रहा। 

वो चुदाई के दौरान पता नहीं क्यों बार बार मुझे बोली ” मेरे मुँह में थूको मेरे मुँह में थूको !! “

मैं चोदते चोदते बार बार उसके मुँह में थूकता रहा और सेक्सी सोनल की छूट को लाला करता रहा। 

अचानक ही मेरा झाड़ गया और सोनल बोली ” आप तो बस दिखावे के शेर हो जीजू !! “

ये सुनकर मुझे गुसा आया और मैं अपने लटके लंड से उसे फिरसे चोदने लगा इस बीच साली मुझे नामर्द, बहन का लंड और पता नहीं क्या क्या बोलती रही। 

मैं उस वक्त ये नहीं सोचा की मैं उसकी चुत में माल झाड़ दिया बल्कि मैं ये सोचा की मैंने काफी जल्दी झाड़ दिया। 

मैं घुसे में अपने लटके लंड को चुत के अंदर घुसा कर चुदाई करता रहा और अपने लंड को टाइट करने की पूरी कोशिश करता रहा। 

कुछ देर बाद वो धीरे धीर फिरसे खड़ा हो गया और मैं साली की चुदाई करता रहा। 

तभी साली की चुत से हल्का सा अपनी निकला और वो तड़पते हुए शांत हो गई। 

उसके बाद वो तेज सासे लेते लेते मुझे बोली और नहीं बस जीजू और मत चोदो !!

पर मैं चोदता रहा और दोबारा अपना माल पानी उसकी चुत में ही झाड़ डाला। 

कुछ देर मैं थक कर अपनी सेक्सी साली के कोमल शरीर के ऊपर पड़ा रहा और लंड अंदर ही घुसा रहा। 

उसके बाद जब मैंने लंड बाहर निकाला तो वो तो पूरा लाल हो कर सूज गया था। 

ऊपर से साली की चुत का और बुरा हाल हो रखा था। 

चुत के अंदर से मेरा माल रिस्ता हुआ बाहर गिरने लगा और मैं अपने दर्द करते लाल लिंग को देख हैरान हो गया।

तो दोस्तों उसके बाद मैंने साली को बच्चा रोकने की दवा दी और कुछ दिन तक दर्द करने लंड को आराम दिया। 

एक हफ्ते बाद हमने चुदाई फिरसे शुरू की और अब तक करते आ रहे है।   

अगर कहानी अच्छी लगी तो मुझे यहाँ ईमेल करना !! – [email protected]

error: Content is protected !!