स्कूल में किया फर्स्ट टाइम सेक्स नई गर्लफ्रेंड के साथ

मैं दसवीं क्लास में था जब मेने पहली बार पोर्न देखि थी। स्कूल मैं हम लड़के एक दूसरे के लंड के बारे मैं पुछा करते थे की कसिका कितना बड़ा है। ये मेरी सेक्स कहानी है इसमें मेने स्कूल में किया फर्स्ट टाइम सेक्स नई गर्लफ्रेंड के साथ। मेरा दोस्त राहुल भोत कमीना इंसान था जिसने  मुझे पहली बार ब्लू फिल्म दिखाई थी। उस फिल्म मैं एक गोरी लड़की एक अफ्रीकन लड़के का लंड अपने स्तनों के बीच मैं ले कर रगड़ रही थी।

ये देख कर मैं हैरान हो गया क्यों की मुझे नही पता था की इस तरह से भी सेक्स होता है। उस दिन के बाद से मेने अपने घर वालो से एक फ़ोन की मांग करना शुरू कर दिआ। जब मुझे फोन मिला तो मैं रोज राहिल से अलग अलग वीडियो लेने लगा। और इंटरनेट से भी डाउनलोड करना शुरू केर दिआ। मेरा नाम शुरभाम है और मेरी Virgin Sex Story पढ़ कर कमेंट मैं जरूत बताना की आपको ये सेक्स स्टोरी कैसे लगी। 

मुझे बड़े स्तन वाली लड़कियां पसंद हैं। मेरे पास बहुत सारे वीडियो थे जिसमें आदमी बड़े बड़े स्तन को दबाते हुए चूसता है। पोर्न वीडियोस देख देख कर मैं अपना लंड रोज हिलता था। मैं इन दिनों के दौरान दिन में 5 बार हस्तमैथुन करता हूं। अक्सर मैं स्तन चूसने और Antarvasna Sex के बारे में सपना देख रहा था। 

जल्द ही मुझे ऐसा लगने लगा कि यह पर्याप्त नहीं है। मैं एक ऐसी लड़की की तलाश में था जो सेक्स लाइफ का आनंद दे सके। लेकिन 10 वीं कक्षा के छात्र के रूप में मुझे लगता है कि मैं इन सभी चीजों को बहुत तेजी से कर रहा था। मेरी कक्षा में कई लड़कियाँ थीं और जैसे ही मुझे बड़े स्तन पसंद आए मैंने उन लड़कियों को खोजना शुरू कर दिया जिनके पास बड़े स्तन हैं। 

जल्द ही मुझे एक लड़की मिली जिसका नाम रिया था। वह 12 वीं कक्षा में थी जिसका मतलब है कि वह मुझसे वरिष्ठ है। मुझे पता चला कि कई स्कूली छात्र उसके साथ यौन संबंध बनाना चाहते हैं। उनके सामने, मैं एक बच्चा था। लेकिन जैसा कि मेरे पास एक स्मार्टफोन है मैंने फेसबुक पर रिया को खोजने की कोशिश की। और मैंने उसे पाया और एक संदेश भेजा। 

मैंने उससे दोस्ती करने के लिए कहा और उसने कहा कि हाँ यह ठीक है। जल्द ही हम एक-दूसरे को सबसे अच्छे दोस्त की तरह संदेश भेजना शुरू करते हैं लेकिन मैं उसे केवल अपनी वासना के लिए चाहता हूं। हम दिन भर फेसबुक पर बातें करने लगे।

मैं उसके साथ चुदाई करना चाहता था पर उसे इस बारे मैं नही पता था। बात आगे बढ़ने के लिए मैं उसे गन्दी बाते करता था और वो सब कुछ समझते हुए भी अनजान बन जाती थी। 

हम स्कूल के अंदर और बाहर दोनों जगह एक-दूसरे से मिलने लगे। जब भी मैं रिया के साथ होता था मुझे ऐसा लगने लगता था कि मैं उसके शरीर की वजह से उत्तेजित और शहद हूँ। मैं उसके स्तन और सफ़ेद टांगों को घूर रहा था और उसने मेरी गतिविधियों को देखना शुरू कर दिया। 

मुझे ऐसा लगने लगा जैसे रिया को पता है कि मैं उसके साथ चुत चुदाई का खेल कहलना चाहता हु। पर ये सब जानते हुए भी रिया ने मेरे साथ दोस्ती कायम राखी। क्यों की वो मुझ से बड़ी थी मेरे अंदर कभी पहर पहल करने की हिमत नही हो स्की। 

मेरी अन्तर्वासना टाइम के साथ साथ और बढ़ती गई और मेरी पढाई मैं मन नही लगता था। मेरे दिमाग मैं सेक्स का भूत सवार हो गया था।  राहुल की वजह से मुझे पोर्न और गन्दी फिल्म देखने की आदत बभी हो गई थी। कभी कभी मै अपना फ़ोन चुपके से स्कूल लेजाना शुरू कर दिआ। 

अब जब भी मेरा मन करता टॉयलेट का बहाना कर के मैं स्कूल के बाथरूम मैं मुठ मरने लगा। मैं रिया को कभी बोल नहीं पाया और न मेरी हिमत हो रही थी। पर एक दिन वो सब हो गया जो मैं करना चाहता था।

मेरे स्कूल का एक वार्षिक कार्यकरम था जिसमें हर किसी  को आना था। मेरे पास भी करने को कुछ नही थे उस दिन क्यों की बार बार मुठ मर कर मैं बोर हो गया था।  

जब मैं स्कूल गया तो मैने देखा की वह रिया और उसकी फ्रेंड भी आ राखी है। मेने आज से पहले रिया को इतने छोटे कपड़ो मैं कभी  नही देखा था। उसने एक करॉप टॉप और जीन्स पहने हुई थी वो भी हाई हील्स के साथ। 

वो मेरे पास आई  और बोली “अरे शुभम कैसे हो आज कल तोह तुम गायब से रहते हो क्या हो गया है तुमको ? “मेसे कहा ” पढाई पर ज़ादा जोर  दे रखा है आज कल” मेने रिया के बारे मैं सोचना छोड़ दिया था क्यों की मैं उम्मीद चूका था।

पर उस दिन रिया को के बड़े स्तन और मुलायम पेट देख कर मेरे दिमाग मैं गन्दी बाटे आने लग गई।  उसके ब्लैक टॉप मैं से उसके ब्रा दिख रही थी मैं उसको देकता रहा और वो भी सब समजा रही थी की मैं मन मैं क्या सोच रा हु। 

थोड़ी देर  बाद लंड खड़ा हो गया और मेरे पेंट से दिखने लगा  उस दिन मैं इतने वासना से भर गया की मैं बाद रिया को देखता रहा।  शायद रिया भी वही छाती थी जो मैं चाहता था तभी उसने आज तब मुझे कभी घूरने से मन नही किआ। रिया ने मेरा लंड देखा और मुस्कुरा कर कहा “लगता है तुमको मेरी ड्रेस पसंद आई। ” मैं सामान गया की आज मेरा लक मेरा साथ दे रहा है।  

साथ ही साथ मुझे खुद पर गुसा भी आया क्यों की अगर मैं रिया को पहले सब बता देता तोह मुझे इतना रुका न पड़ता। रिया ने मुझे मेरे कान में बोले मेरे पिच औ और स्कूल की छत की तरफ जाने लगी। मैं ख़ुशी से मनो झूम उठा।  मैं सोच रहा था की एक 10 वी क्लास का लड़का एक बारवी क्लास की लड़की के साथ चुदाई करने जा रहा है। 

सीढ़ियाँ चढ़ते हुए मैं रिया की गांड देख कर पागल हो रा था। उसकी चाल किसी मॉडल से काम नही थी  क्यों की उसने हाई हील्स पहने थी। समारोह के दौरान सभी स्टूडेंट्स और टीचर्स ग्राउंड मैं थे। हामो स्कूल की छत पर जाना मना था पर फिर भी रिया मुझे वह ले गई। 

वह जा कर रिया ने मुझे कामुक नज़रो से देख कर कहा “आज तक तुम देखते आये हो आज जब करने का मौका है तोह कुछ नही कर रहे। क्यों ?”  ये सुन कर मैं रिया पर कुतो की तरह जपत पड़ा और उसको किश करने लगा।

मेने रिया को फ्रेंच किश की और उसकी जीभ को धीरे से चूसने लगा।  ये सब देख रिया बोली “लगता है काफी बार कर चुके हो” उसको लग रहा था की मैं काफू बार कर चूका हु पर ये मेरा फर्स्ट टाइम था और ये सब मेने पोर्न देख कर सीखा था। 

मेंसे उसको पूछे से पकड़ा और उसके स्तन उसे टॉप के बहार से दबाने लगा। और उसकी गर्दन पर किस करना शुरू कर दिया। मेने इंटरनेट पर पढ़ा था की लड़कीओ की गर्दन पर किस करने से लड़कीअ और गर्म हो जाती है। जल्द ही रिया भी मदहोश हो गई।  

जहा सब लोग ग्राउंड मैं इवेंट एन्जॉय कर रहे थे मैं रिया को स्कूल की छत्त पर चोदने वाला था। मेने छत्त के दरवाजे पर कुण्डी लगा दी और रिया के साथ चुत चुदाई करना शुरू कर दिआ । मेने रिया का टॉप उतरा और उसकी ब्रा के ऊपर से ही उसके चुचे ज़ोर ज़ोर से चूसे लगा तभी  रिया के मुँह से यह…. की आवाज़ आने लगी। 

क्यों की हम स्कूल के टॉप फ्लोर पर थे कोई हमें न देख सकता था न सुन।  मेंसे इसकी बात का फयदा उठाते हुए वो सब करना शुरू कऱ दिया जो मैं करना चाहता था। 

मेरा मुँह लगते ही रिया के निप्पल्स लाल और टाइट हो गए। ये सब देख के मेरा लैंड भी फूलने लगा। जब भी मैं रिया के निप्पल पर अपनी जीभ लगता रिया मदहोश हो जाती। पहले तोह मेंसे जैम कर रिया को किश किआ और थोड़ी देर बाद मेने देखा की रिया की जीन्स उसकी चुत की और से थोड़ी गीली होने लगी।  

मैं उसके स्तनों मैं पाना मुँह डाल लिए और वो मज़े से मुझे देख रही थी।  इतने बड़े स्तन मेने पहले बार देखे थे। तभी रिया ने मुझे पीछे धका दिया और बोली बस करो आज के लिए इतना काफी है। ये बोल कर रिया ने अपनी ब्रा और टॉप  पहन लिए। पर मुझे ये मंजूर नही था। 

ज़िन्दगी मैं पहली बार मुझे अपनी वासना को बाहर निकलने का मौका मिला था और मैं ये गवाना नही चाहता था। मेने रिया का हाथ पकड़ा और अपनी तरफ खेच लिआ। 

तभी वो मुस्करा कर बोली “देखो अभी हमको दाना चाइये ये सब फिर कभी कर ले गे। ” मेने कहा “फिर कभी मौका मिले न मिले मैं तोह आज और ऐसी वक़्त करना चाहता हु। ” 

ये सुन कर रिया शर्मा गई और मुस्कुरा उठी और मेने उसकी जीन्स मैं अपना हाथ दाल कर उसकी चुत मैं ऊँगली करने लगा। और दूसरे हाथ से उसके टॉप मैं हाथ दाल कर ब्रा खोलने लगा।

और उसकी चुचे दबाने और खीचने लगा। रिया बोली “और और और तेज़” और मेने झट से उसकी जीन्स उतर कर उसकी गांड चाटने लगा।  मेरा खुद पर आप खो दिआ। रिया को डोगग्य स्टाइल मैं झुका कर मैं उसकी गांड यू चाट रा था मनो उसमे से शहद निकल रा हो। 

रिया खड़ी हुई और मेरा सर पकड़ कर अपनी चुत चटवाने लगी। जल्द ही उसकी चुत मैं से पानी निकल गया और उसका शरीर ढेला पड़ गया।  फिर मेने अपना गरम और फुला हुआ लंड निकाला और उसके मुँह मैं डाल दिया । रिया स्कूल की छत्त पर मेरा लंड चूस रही थी और मैं तहज ससे ले रहा था। 

फिर मेने उसके मुँह से अपना लंड निकल कर उसकी गरम और गीली चुत मैं दल दिआ। मैं रिया को खड़े खड़े पीछे से धके लगा रा था और उसके स्तनों को भी दबा रा था। 

जब मैं डिस्चार्ज होने वाला था तोह मेने अपना लंड उसकी चिकनी और लाला चूत से बाहर निकाल लिया। और जैसे लड़की के ऊपर लड़का अपना मॉल डाल देता है वैसे ही मेने भी रिया के ऊपर डाल दिया। ये सब करने के बाद रिया भोत थक गई मेने उसका मुँह अपने रुमाल से साफ किआ और उसको उसके कपडे पहने मैं हेल्प की। 

उसके बाद रिया ने मुझे थैंक यू जेंटलमेन बोला और मेरा हाथ पकड़ कर मुझे निचे ले गई। वो निचे जा कर ऐसे बर्ताव कर रही थी की मानो कुछ हुआ ही न हो।

स्कूल इवेंट ख़तम होने के बाद जब सब घर जा रहे थे तब रिया ने मुझे लव यू बोला और अपनी सहेलिओ के साथ चली गई।  उस दिन के बाद हम दोनों एक बॉयफ्रेंड और गर्लफ्रेंड के रिश्ते मैं बांध गए। उसने बारवी क्लास पूरी की और कॉलेज मैं चली गई। 

वो मुझ से बड़ी थी पर जो मैं उसको दे रा था और कोई लड़का नही दे पा रा था। इसी तरह रिया और मेने कई बार सेक्स किआ। और करते रहे। रिया की वजह से मेरी गन्दी फिम देखने और Desi Sex Stories पढ़ने की आदत भी छूट गई थी। अब आदत लगी थी तोह बस चुदाई करने की।        

error: Content is protected !!