सौतेली माँ ने दी बेटे को कामवासना संतुष्टि

यह अंतर्वासना कहानी एक ऐसे परिवार की है जो कि मुंबई में रहता था। इस परिवार में राज नाम का एक आदमी था जिसने दूसरी शादी की थी, और उसका एक बड़ा बेटा भी था। 

एक दुर्घटना में राज की पहली बीवी का देहांत हो गया। मां की कमी दूर करने के लिए और बीवी की संतुष्टि के लिए राज ने दूसरी शादी कर ली। राज का बड़ा बेटा जिसका नाम रोहित था, वह कॉलेज में पढ़ता था। वह एक बहुत ही सुलझा हुआ व्यक्ति था जो कि अपने काम से काम रखता था। लेकिन वह सीधा था जलेबी की तरह और इस Family Sex Story को पढ़कर आपको बहुत मज़ा आएगा।

और अब बात करते हैं राज की दूसरी बीवी के बारे में।

राज की दूसरी बीवी का नाम प्रिया था और वह एक टीचर थी। जो कि स्कूल में 12वीं कक्षा को पढ़ाती थी। राजकीय मुलाकात प्रिया से अपने बेटे रोहित की पेरेंट्स मीटिंग में हुई थी।

पहली ही नजर में दोनों ने एक दूसरे को दिल दे बैठे और दोनों की आंखें लड़ गई। उसके बाद राज ने प्रिया को डेटिंग करना शुरू कर दिया और दोनों में काफी अच्छी बातचीत होने लगी। प्रिया हमेशा कहती थी, रोहित काफी होनहार लड़का है परंतु, वह सहमा सा रहता है।

रोहित बोला – हा, सही कह रही हो जब से उसकी मां का देहांत हुआ है तब से वह ऐसा हो गया है। और मुझे भी ऐसा लगता है कि उसको कहीं ना कहीं एक मां की कमी होती है।

तो प्रिया ने बोला – अगर तुम चाहो तो, मैं रोहित की एक बहुत अच्छी मां बनूंगी।

फिर दोनों ने शादी कर ली और राज को एक सुंदर बीवी और रोहित को एक सुंदर मां मिल गई। प्रिया हमेशा ही रोहित को खुश रखने के लिए कई कोशिशें करती थी, कि वह उससे घुले मिले।

परंतु रोहित को यह सब बहुत ही अजीब सा लगता था और वह कम ही बात करता था प्रिया से। प्रिया एक बहुत ही आकर्षक और हॉट औरत थी।

उसका सेक्सी फिगर इतना मस्त था कि हर पुरुष उसकी तरफ आकर्षित होता था। और ऐसा भी हुआ रोहित के साथ।

अब अंतर्वासना की तो कोई सीमा और उम्र नहीं होती। और रोहित को अपनी नई नवेली दूसरी मां पर बहुत ही ज्यादा अंतर्वासना थी।

रोहित अक्षर चुपचाप प्रिया को देखा करता था उनके कपड़े बदलते हुए, उनको नहाते हुए या उनको और कोई काम करते हुए। एक बार तो रोहित ने प्रिया की कच्छी और ब्रा चुरा ली।

वह इन दोनों को सूंघता था बहुत ही धड़क के साथ और अपने लंड पर रगड़ता था। प्रिया एक दिन देखने के लिए आई उसके कमरे में कि मेरी ब्रा और पेंटी कहां चली जाती है।

रोहित का आधा दरवाजा खुला हुआ था और प्रिया ने यह देखना। की रोहित उसकी ब्रा और पेंटी को लेकर अपने लंड पर मसल रहा है।

यह देखकर पहले तो प्रिया बहुत ही ढंग और हैरान रह गई।

उसने एक पल को सोचा यह सब रोहित के पापा राज को बता देना चाहिए। परंतु वह एक समझदार और अच्छी मां बनना चाहती थी इसलिए उसने यह बात छुपा ली। और अकेले में रोहित से बात करने के लिए वह उसे बाहर खाने पर ले गई।

वहां पर प्रिया ने बताया मुझे पता है तुम अभी जवान हो और तुम्हारे अंदर काफी जवानी फूट रही होगी। लेकिन मैं तुम्हारी सौतेली मां हूं और तुम ऐसा नहीं कर सकते ना ही सोच सकते हो। रोहित कुछ भी नहीं बोला और सहमा हुआ सिर नीचे करके बस उसकी बातों को सुनता रहा।

प्रिया को लगाओ उसने कुछ बुरा बोल दिया उसने बोला रोहित क्या तुम ठीक हो। रोहित बोला – नहीं मैं नहीं ठीक हूं मुझे आप बहुत अच्छी लगती हो।

प्रिया बोली – आव्व !!! रोहित मुझे पता है बेटा।

परंतु रोहित बोला अच्छा लगना, वह सामान्य स्थिति नहीं है। और मेरे अंदर आपके लिए कामवासना की इच्छाएं उत्पन्न होती हैं।

यह सुनकर प्रिया दंग रह गई और उसे समझ नहीं आया कि क्या बोलूं। प्रिय और रोहित दोनों घर आगए और शांति से बैठ गए। रोहित अपने कमरे में चला गया और प्रिया अकेले में सोच विचार करने लगी।

फिर उसने सोचा मुझे एक अच्छी सौतेली मां बनना चाहिए और रोहित वैसे भी सहमा हुआ लड़का है।

प्रिया बोली – अगर मैं चाहूं तो रोहित की मदद कर सकती हूँ

और सौतेली माँ होने की वजह से कामवासना संतुष्टि दे सकती हूँ

वह रोहित के कमरे में गई और उसके पास जाकर बैठ गई। धीरे-धीरे रोहित को उसने गले लगा लिया।

प्रिया बोली – देखो रोहित, यह हम दोनों के बीच में रहेगा और मैं तुम्हारी मदद करना चाहती हूं।

मैं एक बहुत ही अच्छी सौतेली मां बनना चाहती हूं। 

पहले तो रोहित को कुछ समझ में नहीं आया फिर बाद में उसके दिमाग की बत्ती जली जब। प्रिया ने धीरे-धीरे उसकी जांग पर हाथ फेरना शुरू कर दिया।

और बस इतनी सी ही क्रिया से रोहित का लंड पूरी तरह से खड़ा हो गया। प्रिय समझ गइ कि रोहित कितना ज्यादा यह करना चाहता है।

और फिर धीरे-धीरे उसने अपने गोरे बदन पर से अपने कपड़े उतारना शुरू करें। रोहित यह सब देख के बस अपने लंड को मसल रहा था और उसके मुंह से लार टपक रही थी।

और प्रिया के बड़े-बड़े, गोल-गोल स्तनों को देखकर आनंद और बड़ रहा था। फिर धीरे से प्रिया रोहित के करीब आई और उसे उसके होठों पर एक चुम्मा दिया।

इस क्रिया के बाद रोहित भी ज्यादा गरम हो गया। और उसने प्रिया को बेड पर लिटा दिया और उसको बहुत जोर जोर से चूमने लगा।

प्रिया बोली – आराम से रोहित, इतना जोर से तो तुम्हारे पापा भी नहीं करते

परंतु राज का ध्यान प्रिया की बातों पर नहीं, उसके नरम बदन और बल खाते स्तनों पर था। फिर राज उसके बड़े-बड़े स्तनों को आटे की लोई की तरह दबाने लगा।

प्रिया को भी बाद में बहुत आनंद आने लगा। और रोहित ने अपना लंड बाहर निकाला क्योंकि वह अंतिम चरण में था। और उसने प्रिया की दोनों टांगों को ऊपर किया।

और  पुरे बल और तेजी के साथ अपना लंड प्रिया की चूत में घुसा दिया।

प्रिया एकदम से चीख पड़ी और बोली – आराम से रोहित!!! इतनी जोर से तो तुम्हारे पापा भी नहीं डालते।

इसके बाद रोहित अपनी कमर को बहुत ही जोर-जोर से अंदर-बाहर करने लगा। और प्रिया को पूर्ण चरम योनी सुख देने लगा।

प्रिया अपने मन में ही सोचने लगी – रोहित का इतना बड़ा कैसे है? इतना बड़ा तो राज का लंड भी नहीं है।

राज बहुत ही जल्दी थक जाते हैं, मुझे संतुष्टि नहीं दे पाते।

परंतु रोहित, वह तो जैसे जवानी के जोश से भरा हुआ है। 

और वह प्रिया को पूर्ण चरम संतुष्टि दे रहा था अपने मजबूत लोड़े से

यह दोनों बस एक-दूसरे से लिपटे हुए थे, उनके होंठ एक-दूसरे पर चिपके हुए थे। और रोहित का सीना प्रिया के सीने पर रगड़ रहा था, हर एक झटके के साथ।

दोनों ही बहुत ही ज्यादा आनंद और कामवासना की संतुष्टि प्राप्त कर रहे थे। फिर रोहित अपनी चरम सीमा पर आ गया और उसका छुटने वाला था।

प्रिया को यह महसूस हो गया कि रोहित अब बस अपने आखिरी चरण पर है।

और उसने रोहित को बुला – रोहित बेटा!! मेरे अंदर मत झाड़ना, सारा माल बाहर निकाल दो।

बेटा अपनी मां को अपना माल दे दो….. सारा मेरे पेट और मेरे मुंह पर निकाल दो

रोहित का जैसे ही वीर्य निकलने वाला था उसने अपना सारा वीर्य, प्रिया के पेट और चेहरे पर निकाल दिया।

यह काम क्रिया करने के बाद रोहित ने चेहरे पर अलग ही खुशी और संतुष्टि दिखी। इसके बाद रोहित काफी खुश रहने लगा और इन दोनों के बीच में अच्छे रिश्ते नाते बन गए।

प्रिया ने अपना काम कर दिया और प्रिया को संतुष्टि भी मिली कामवासना की साथ ही में रोहित भी खुश हो गया। परंतु या खुशी बस एक ही बार की थी। और इन दोनों ने अपना यह काम प्रिया का बंधन ऐसे ही चालू रखा।

आसा करते है आपको ये सौतेली माँ बेटा चुदाई कहानी पड़के मज़ा आया होगा। इस Hindi Sex Story को लेकर आपके क्या विचार है, हमे कमेंट करके जरूर बताये।

error: Content is protected !!