रिंकू के पुद्दो मे फंसा मेरा लंड

कहानी का लेखक एक लड़की के साथ सेक्स कर रहा होता है की तभी लड़की की माँ आ खड़ी होती है और उनको सेक्स करता देख लेती है। अब लेखक वहा से नंगा भागा या पिट कर गया ये आप अन्तर्वासना कहानी पढ़कर जाने।

पुद्दे यानि चूतड या नितंब। इन्हे कूल्हे या हिप्स भी कहते है। हमारे यहां
की भाषा मे इन्हे पुद्दे कहा जाता है।क्योंकि चूतडो पर लात मारने से
‘पद्द’ की आवाज आती है इसीलिए इन्हे पुद्दे कहा जाता।

प्रस्तुत कहानी मे मैने अपनी गर्लफ्रेंड रिंकू के पुद्दो को चोदा है यानि
गांड मारी है। जिस वजह से रिंकू के पुद्दो मे फंसा मेरा लंड मैंने इसका नाम रखा।

तो कहानी पढिये और मेरे लिए भगवान से प्रार्थना कीजिए कि मुझे हमेशा नयी
नयी लडकियो और औरतो को चोदने का अवसर मिले और मेरा लंड हमेशा उनकी
गांड,चूत,या मुँह मे पडा रहे।मेरे हाथ हमेशा उनके बूब्स और चूतड दबाते
रहे।और मेरे होंठ हमेशा उनके होंठो गालो,चूतो के दानो,और गांड के छेदो,और
बूब्स के निप्पलस का रसपान करते रहे।

अब मै Hot Hindi Sex Story पर आता हूं।

हैल्लो दोस्तो,मै हूं आप आपका चोदू यार यानि विनीत कुमार।मै लडकियो और
औरतो की चूत और गांड का दीवाना हूं।मै हमेशा चूत और गांड के लिए प्यासा
रहता हूं।
मैने आज तक अनेक लडकियो को चोदा और उनकी चूत गांड दोनो का पूरा मजा लिया।

मै कुछ दिनो पहले अपनी गर्लफ्रेंड रिंकू की गांड मारना चाहता था लेकिन
रिंकू नही मान रही थी।वो गांड मरवाने से पैदा होने वाले दर्द से डर रही
थी।

रिंकू मुझे बहुत चाहती थी और अपनी चूत के द्वार हमेशा मेरे लंड लिए खुले
रखती थी लेकिन गांड का द्वार खुलवाने से डर रही थी।

लेकिन मै तो हर हालत मे रिंकू की गांड मारने के लिए मरा जा रहा था।
उसकी बडी सी गोल चिकनी मखमली प्यारी भरी हुई गांड देखकर मेरा लंड आपे से
बाहर हो जाता था।

मोटी गांड वाली बहन को चोदा भाग-1

एक दिन मैने ठान लिया कि आज तो रिंकू को गांड चुदाई के लिए मनाकर ही रहूंगा।

मैने उसे फोन किया और कहा-रिंकू प्लीज एक बार अपने पीछे के छेद को चोदने दो।

वो बोली-नही मै पीछे नही कराऊंगी,वहां बहुत दर्द होता है।

मै बोला-मेरी जान मै तो तेरी गांड के लिए तडप रहा हूं।एक बार गांड चोदने
दो,विनती कर रहा हूं पैर पकड कर याचना कर रहा हूं।

अपना लंड खड़ा करने के लिए हमें इंस्टाग्राम पर फॉलो करे !!

follow antarvasnastory on instagram

वो मेरे ऐसा कहने से द्रवित हो गयी और रोते हुए कहने लगी-ऐसा मत कहो मेरी
जान,मै तुम्हारी खुशी के लिए कुछ भी कर सकती हूं।ठीक है मार लेना मेरी
गांड।

मै बहुत ही खुश हो गया और रिंकू से बात करके गांड चुदाई का पूरा प्लान
तैयार कर दिया।

प्लान के मुताबिक रिंकू की मम्मी दोपहर को 12 बजे उसके पिताजी को टिफिन
देने जाती और 2 बजे वापस आती थी।यानि दो घंटे तक रिंकू अकेली घर रहती
थी।दो घंटे मे तो मै आराम से रिंकू की गांड चोद सकता था।

अगले दिन 12 बजे जैसे ही रिंकू की मम्मी टिफिन लेकर निकली मै सीधा रिंकू
के घर पहुंच गया।रिंकू ने अच्छे से नहा धोकर हल्के कपडे पहन रखे थे और
मेरा ही इंतजार कर रही थी।

मेरे जाते ही उसने गले लगकर मेरा स्वागत किया और मेरे गाल पर चुम्मी
दी।मै भी उसे बेसब्री से चूमते और चाटते हुए उसके पुद्दे दबाने
लगा।पुद्दे यानि चूतड या नितंब।

वो भी गर्म हो रही थी और चूमने चाटने मे मेरा सहयोग कर रही थी।मेरा लंड
टाईट हो गया था और उसकी चूत पर प्रहार कर रहा था।
फिर मैने उसे पीछे घुमाया और उसकी गांड पर लंड से धक्के मारने लगा और
उसके मम्मे दबाते हुए गाल पर चूमने लगा।

अब मेरा लंड लोहे के सरिये जैसा टाईट हो गया था और उसकी गांड मे घुसने के
लिए तैयार था।
वो भी गर्म हो गयी थी और अपनी गांड मेरे लंड पर दबा रही थी।

अब मैने रिंकू से कपडे उतारने के लिए कहा लेकिन वो इनकार करने लगी और
कहने लगी कि घर मे कोई आ गया था इतनी जल्दी कपडे कैसे पहनेंगे।इसलिए मै
अपने पजामी और पैंटी घुटनो तक उतारकर अपनी गांड तुम्हारे सामने प्रस्तुत
करती हूं तुम जल्दी से गांड मारो और चले जाओ।

लेकिन मै कहां मानने वाला था मै तो उसे पूरी नंगी करके उसकी गांड चोदना चाहता था।
इसलिए मै उसे बार बार कपडे उतारने के लिए कहने लगा।

वो मान गयी और अपने कपडे उतारने लगी।मै भी अपने कपडे उतारने लगा।
थोडी ही देर मे हम दोनो नंगे खडे थे।

मै उसके चूतड चाटने लगा और दोनो चूतडो के बीच जीभ घुसाकर उसकी गांड का
छेद चाटने लगा।मै आईसक्रीम की तरह स्वाद ले लेकर उसकी गांड को चाट और चूस
रहा था।

फिर मैने अपनी एक उंगली पर बहुत सारा थूक लिया और उसकी गांड मे घुसाकर
आगे पीछे करने लगा।उसकी गांड बहुत टाईट थी और मुझे अपनी उंगली उसमे फंसी
हुई महसूस हो रही थी।

फिर मैने दोनो उंगलियां थूक मे भिगोकर उसकी गांड मे घुसा दी।

फिर मैने अपना लंड उसके हाथ मे दिया।उसने मेरा लंड मुंह मे लिया और चूसने लगी।
जब मेरा लंड चिकना हो गया तो उसने मुंह से बाहर निकाल दिया।

अब मैने सरसो की बोतल उठायी अपने हाथ मे बहुत सारा सरसो का तेल लिया और
उसकी गांड के छेद पर तेल लगाकर चिकना करने लगा।
फिर मैने अपने लंड को भी उसी तेल से चिकना किया।

कॉलेज के लड़के ने चोदा अपनी मौसी को भाग-1

अब मै पूरी तरह तैयार था रिंकू की गांड चोदने के लिए।

मैने उसे घोडी बनाया और लंड गांड की दरार पर रख दिया।फिर दोनो पुद्दे
खोले और गांड के छेद पर लंड सेट करने लगा।
फिर एक जोर का धक्का मारा और रिंकू की दर्दभरी चीख निकल गयी।मेरे लंड का
सुपाडा उसकी गांड मे घुस चुका था।

फिर मैने एक और धक्का मारा तो लगभग आधा लंड उसकी गांड मे था।
दर्द के मारे रिंकू चीखना चाहती थी लेकिन आसपास के लोग इकट्ठे न हो जाए
इसलिए बडी मुश्किल से अपने आपको संयत कर रही थी।

थोडी देर तक मै आधे लंड से ही रिंकू का गुदा चोदन करता रहा।फिर एक अंतिम
और करारा घस्सा मारा।पूरा लंड रिंकू की गांड मे प्रविष्ट हो गया।

500 ₹ में बुलाई सुंदर लड़की और चारपाई तोड़ दी

फिर मै मस्ती से भर गया और आगे पीछे होकर उसकी गांड मारने लगा।

वो भी मस्ती मे आ गयी और गांड हिला हिलाकर चुदवाने लगी।उसके स्पंज जैसे
मांसल चूतडो को मसलते हुए मै उसकी गांड मार रहा था।

उसकी गांड बहुत ही टाईट और गर्म थी जिसे मारते हुए मुझे स्वर्ग का आनन्द
मिल रहा था।
उसकी गांड की कसावट और गर्मी को मेरा लंड ज्यादा देर तक नही झेल सकता
था।इसलिए मुझे लगा कि थोडी ही देर मे मेरा लंड वीर्य छोडने वाला है।

मैने उसकी कमर को पकड लिया और आँखे बंद करके दनादन धक्के मारने लगा।

इस तरह पूरी उत्तेजना और रफ्तार से मै रिंकू की गांड चुदाई कर ही रहा था
कि महसूस दरवाजे पर किसी की आहट सुनाई दी।
तभी दरवाजा खुला और मैने वहां मैने रिंकू की मम्मी को देखा।मै उसे देखकर
इतना डर गया कि रिंकू की गांड मे झड गया।बहुत सारा माल निकला जिससे रिंकू
की गांड भर गयी और बाहर टपकने लगा।मैने लंड बाहर निकाला और मै भागना
चाहता था।रिंकू की मम्मी हमे अभी भी आश्चर्यचकित होकर देख रही थी।

रिंकू की मां क्रोधभरी आंखो से हम दोनो को देख रही थी। रिंकू भी अपनी
मम्मी को वहां देखकर बुरी तरह शर्मा गयी थी और डर भी रही थी।

मै भागना तो चाहता था पर नंगा होने के कारण कैसे भाग सकता था।
मैने तुरंत अपनी अंडरवियर और पैंट पहनी और कमीज कंधे पर डालकर वहां से भाग खडा हुआ।

उसके बाद वहां क्या हुआ मुझे नही पता। क्योंकि मै घर आ गया था और डर के
मारे मेरी साँसे फूली हुई थी।

समाप्त

आपको कहानी कैसी लगी?
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
error: Content is protected !!