रगड़ी चुत से चुत भाग-2

मेरा नाम करिशम है और ये मेरी लेस्बियन सेक्स कहानी है जिसमे में आपको बताने जा रही हूँ की कैसे मेने अपनी दोस्त मीनाक्षी की चुत से अपनी चुत रगड़ी। अगर आपने मेरी कहानी का पहला भाग नहीं पढ़ा तो यहाँ क्लिक करे (रगड़ी चुत से चुत भाग-1

वो गन्दी फिल्म देखते देखते मुझसे रहा नही गया और मेने अचानक से मीनाक्षी के होठो पर चुमबना शुरू और दिया। मीनाक्षी डर गई और मुझे पीछे धका दिया और बोली “क्या? पागल हो गई है क्या तू करिश्मा?? “

उसके आँखों में देखते हुए मेने कहा : यही तो तू भी करना चाहती है। अब क्यों रुक रही है?

मीनाक्षी (सोचते हुए) : हाँ मुझे लड़कियों की चुदाई देखना पसंद है पर मैं वो सब असली में नही कर सकती।   

मैने धीरे से उसके कान में कहा : मुझे तू भोत पसंद है। और मैं कब से तेरे साथ गंदे काम करना चाहती थी। और मुझे पता है तू भी यही सब चाहती है मुझ से। 

मीनाक्षी (धीरे से मेरी कमर पैर हाथ रखते हुए) : घर पर कोई है क्या ? किसी को पता लग गया तो ?

मैंने मुस्कुराते हुए कहा : वो सब मुझ पर छोड़ दे मेरी जान।

और उसको दोबारा चुमबना शुरू कर दिया। साथ ही साथ मेने उसकी सलवार में हाथ डाला और उसकी चुत हल्के हाथ से सहलाने लगी। गन्दी फिल्म की वजह से उसकी चुत पहले ही गीली थी। 

हम दोनों होश खो चुके थे और एक दूसरे को गन्दी गन्दी जगह चुम्बे जा रहे थे। मैं मीनाक्षी की गीली और चिपचिपी चुत में अपनी ऊँगली अंदर बहार कर रही थी।  

मीनाक्षी को सास चढ़ने लगी और वो तेज़ी से हाफने लगी। मेने धीरे धीरे धीरे उसके सरे कपडे उतार दिए और उसकी चुचिओ को चाटने लगी। 

उसकी तेज सासो के कारण मेरी चुत से भी लार टपकने लगी और मेरी कच्छी भी गीली होने लगी। और मेरे अंदर नई अन्तर्वासना जागने लगी। 

मनसखी के स्तन चूसते चूसते मैं अपनी चुत में भी ऊँगली करने लगी। तभी मीनाक्षी ने मुझे धका दिए और मेरे दोनों टांगे खोल मेरी चुत पे मुँह मारना शुरू कर दिया।

मैं चिलाती रही पर वो नहीं रुकी और मेरी काली चुत से सफ़ेद पानी निकना चूरू हो गया।

तभी मीनाक्षी पीछे लेटी और अपनी चुत को मेरी चुत से लगा कर रगड़ने लगी। 

कमरे में अकेले हम दोनों बिस्तर पैर एक दूसरे को देख चुत से चुत रगड़ रहे थे। थोड़ी देर बाद मीनाक्षी की चुत से पानी निलकने लगा और उसने पूरा बिस्तर गिला कर दिया साथ साथ मेरी चुत भी उसके रस से भीग गई।  

वो थक गई थे पर मैं नही। अभी भी में उसकी चुत पे अपनी अच्छे से अपनी रगड़ रही थी। ऐसा एहसास मुझे आज तक नही हुआ। मेने अपनी आँखे बंद की और अपनी चुत उसके शरीर से रगड़ती रही। 

मीनाक्षी थोड़ा आराम करने के बाद उठी और मेरी गांड में ऊँगली करने लगी साथ ही वो मेरी चुत चाटने लगी। मुझे इतना तेज़ एहसास पहली बार हुआ। मेरा शरीर कापने लगा और मेरी चुत से निकला पानी मीनाक्षी पीने लगी। वो मेरी चुत का पानी ऐसे चाट रही थी जैसे मेरी काली चुत से रसीला शहद निकल रहा हो।   

चुदाई के बाद हम दोनों काफी थक गए और कुछ देर के लिए वही नंगे सो गए। मेरी Sexy Story in Hindi आपको कैसे लगी कमेंट कर के बताये और अपने दोस्तों के साथ शेयर भी करे। 

error: Content is protected !!