मम्मी पापा और चाचा दोनों से चुदवाती थी!

मेरी मम्मी के पास ना इतनी ज्यादा थी कि वह रात में पापा से और दिन में चाचा से काम डलवाती थी। मेरी मां को बहुत ही ज्यादा वासना की भूख थी जो कि सिर्फ एक आदमी से शांत नहीं होती थी। इसलिए मम्मी पापा और चाचा दोनों से चुदवाती थी अपनी अंतर्वासना की प्यास को बुझाने के लिए।

मैं उनका सबसे बड़ा बेटा मुकेश हूं मैं लखनऊ में रहता हूं और यह मेरी मां की अंतर्वासना कहानी है जिसे मैं आप लोगों के साथ साझा कर रहा हूं। हो सकता है कुछ लोगों को यह Antarvasna कहानी अजीब सी लगेगी बेटा ही अपनी मां की ऐसी कहानी बता रहा है।

लेकिन यह बात ही कुछ इतनी अजीब है जिसको मैं बिल्कुल भी सह नहीं पा रहा हूं कि मेरी मां कितनी बड़ी रंडी है। वो मेरे पापा को धोखा दे, मेरे चाचा से चुदवा रही है और मैं खड़ा-खड़ा बस देखकर मुट्ठ मार रहा हूं।

जब मैं देर रात तक मियां खलीफा की चुदाई देख कर अपना लंड मसल रहा था लंड मसलते मसलते मैंने मुट्ठ मार दी। और जैसा कि कई लोगों को पता है मुझे बहुत प्यास लगती है तो मैं पानी पीने के लिए अपने कमरे से बाहर निकला।

diwwali-banner-gif-min

तभी मैंने मम्मी पापा के कमरे में देखा पापा मम्मी को चोद रहे हैं दबा दबा कर। एक अच्छे लड़के की तरह मुझे यह नहीं देखना चाहिए था परंतु पहली बार अपनी आंखों के सामने चुदाई देख रहा था  भले  ही मेरे मां-बाप की  क्यों ना हो।

और सच बता रहा हूं मेरा बाप मेरी मां को बहुत मस्त तरीके से चोद रहा था। मेरा बात चल रही मेरी मां की चूत के अपने लंड को मारता था उसके बड़े बड़े स्तनों पर नीचे हैं देते हैं गुब्बारे की तरह। यह देख कर बहुत मजा आता था मेरा लंड डंडे की तरह खड़ा था और मैं अपने पजामे करने की मुठ मारता था।

अगले दिन मैं सुबह देर से उठा चुकी रात भर अपने मां-बाप की चुदाई देख रहा था। वह दिन संडे का दिन था तो मैं घर पर ही था और मेरा चाचा भी घर पर ही था। मेरा बाप चाचा को बहुत ही ज्यादा मानता था तो वह हमारे साथ ही रहते थे और उनकी अभी शादी नहीं हुई थी।

मैं टीवी पर वेब सीरीज देख रहा था और अपने रविवार का मजा ले रहा था। तभी मेरा चाचा मेरे पास आकर बैठ गया और बोला – और लड़के क्या देख रहा है।

मैंने बोला – एक्स फिल्में देख रहा हूं।

चाचा – हां हां  सही है सही है बेटा देख यही तो तेरी उम्र है मजे लेने की।

ezgif-com-gif-maker
ऑफर्स सिर्फ आपके लिए!

फिर वह बोला भाभी कहां है।

मैंने कहा वह पर कमरे में मेरे कपड़े प्रेस कर रही है।

चाचा बोला अच्छा ठीक है तुम पिक्चर देखो मैं ऊपर जाकर भाभी से मिलकर आता हूं जरूरी काम है।

मुझे क्या पता था कि वो ठरक मैं है और मैंने कहा ठीक है चाचा जी!

मैं कई घंटों से पिक्चर देख रहा था और देखते-देखते बोर हो गया तो सोचा क्यों ना कमरे में जाकर चुदाई देखकर मुट्ठ  मारी जाए

अपना लंड खड़ा करने के लिए हमें इंस्टाग्राम पर फॉलो करे !!

follow antarvasnastory on instagram

मैं अपने कमरे में गया और मैंने यह देखा चाचा मेरी मां के साथ चिपका हुआ है और उसे चूम रहा है।

यह देख के मेरे दिल की धड़कनें बढ़ गई, मेरे पसीने छूटने लग गए, और मेरा लंड खड़ा हो गया। मेरी मां और मेरे चाचा दोनों किसी प्रेमी की तरह चिपके हुए थे दोनों के होंठ से होंठ लड़े थे। दोनों एक दूसरे की जबान को चाट रहे थे और एक दूसरे का वासना रस पी रहे थे।

यह नजारा देख कर मेरे मुंह से नहीं निकला बहन चोद!!!

यह क्या हो रहा है मेरी मां कितनी बड़ी रंडी है पापा से तो ठीक है लेकिन चाचा से भी चुदवा रही है।

लेकिन मुझे यह भी देख कर बहुत मजा आ रहा था क्योंकि मैं बहुत हरामी लड़का था। चाचा ने मेरी मां को इतनी जोर से पकड़ा हुआ था और उसके बड़े-बड़े चूची को दबा दबा कर दबा रहा था।

Phones
अभी देखे! कही ये ऑफर्स आपसे छूट न जाये

मम्मी – हो देवर जी तुम कितने कमीने हो गए हो मेरे पति के जाते ही मेरे पास आ जाते हो!!

चाचा – क्या करें भाभी जी आप हो ही इतनी सेक्सी की आप को चोदने का मन करता हर रोज।।

मैंने कहा यह क्या हो रहा है बहन चोद यह तो बिल्कुल किसी (अंतर्वासना की ➡Desi Sex Story) की तरह चुदाई कर रहे हैं।

फिर चाचा मेरी मां को चूमते चूमते उसके पेट तक चला गया, पेट से वह उसकी चूत तक चला गया। मेरी मां के पेटीकोट उसने ऊपर उठाई और अपना मुंह अंदर घुसा कर उसकी योनि को चाटने लगा।

मम्मी – हां हां ऐसे ही चाटो मुझे तुम्हारे भैया तू मेरी चूत को चाटते ही नहीं है, बस लोड़ा चुस्वा लेते हैं।

चाचा बहुत जोर जोर से मेरी मां की चूत को चाट रहा था और उसके बड़े बड़े स्तनों को दबा रहा था।

फिर मेरा चाचा खड़ा हुआ और उसने अपना खड़ा खड़ा लंड ही मां की चूत में खड़े-खड़े घुसा दिया। और मम्मी चाचा की चुदाई चालू हो गई।

मम्मी – अहह! अहह! उह! आ! आ! आ!!!

तुम तो बहुत कमीनी हो तुम ने खड़े-खड़े ही मेरे  घुसा दिया।।

चाचा दबा दबा कर मां को चोद रहा था उसने पूरा का पूरा नंगा कर दिया मम्मी को। और उसकी बड़ी गोल गांड को पकड़कर सहारा लेकर मां की चूत की जबरदस्त चुदाई कर रहा था।

home-and-kitchen

यार! प्रचंड चुदाई देखकर मेरा लंड बिल्कुल खड़ा था और मैं उनको देखकर मुट्ठ मार रहा था। चाचा घचाघच दबा दबा कर मां को चोदा जा रहा था और उसको जो भी रहा था खड़े-खड़े ही वह सारे मजे ले रहा था साला।

जैसे चाचा ने अपनी चुदाई की रफ्तार और बढ़ा दी मैंने अपनी मुठ मारने की रफ्तार और बढ़ा दी।

और सर कुछ ही देर में हम तीनों का झड़ा, मेरी मां का, मेरे चाचा का, और मेरे लंड से सारा माल निकल गया।

इन तीनों की यह आपसी अंतर्वासना प्रचंड चुदाई ऐसे ही चलती रहे और मेरी रंडी मां दोनों के साथ खेलती रही।

रात में वह पापा से चुदवाती हुई और दिन में वह चाचा से चुदवाती थी इस बीच मेरा बुरा हाल हो गया था।

क्योंकि मुझे दिन-रात मुठ मारनी पड़ रही थी। अब आप लोग समझदार हैं जो समझ गए, वह समझ गए, कि मैं क्या कहना चाह रहा हूं।।

error: Content is protected !!