मम्मी और आंटी

चेतन की ग्रुप सेक्स स्टोरी तो काफी कामुक है जिसमे उसने और उसके दोस्त ने बड़ी जबरदस्त चुदाई मचाई और अपने आप को पूरा संतोष करके ही छोड़ा। उसने और उसके दोस्त ने अपनी मम्मी और आंटी के साथ क्या किया ये कहानी पढ़कर जानिए।

मेरा नाम चेतन है मैं बलिया रहने वाला हु मेरी उम्र 21 साल है ये मेरी पहली sexy story है आप लोग मजे ले स्टोरी पर आता हू।

मेरे घर मैं और मेरी दूसरी मम्मी थी मेरे बाप ने दूसरी सादी की थी और कुछ महीनों बाद ही उसका देहाँत हो गया मेरी दूसरी मम्मी का नाम निर्मला था मैं उनके साथ कुछ ही महीने रहा था इसलिए मेरी mom son sex stories काफी हॉट और सेक्सी है। उसके बाद मैं काम करने दिल्ली आ गया था वो गाव में अकेली रहती थी।

मैं अपनी कमाई के कुछ पैसे उनको भेज दिया करता था मैं जिस कमरे में किराये पर रहता था उसमे एक लड़का मेरे साथ रहता था वो कलकत्ता का था उसका नाम रूपेश था वो 22 साल का था हम् साथ में काम करते थे एक दिन रूपेश ने मुझसे कहा यर अगर तू कहे तो मैं अपनी मम्मी को यहाँ बुला लू । दोस्तों यहाँ से मेरी देसी कहानी का असली मजा शुरू हुआ।

मैने उससे कहा बुला ले यार उसकी भी सिर्फ मम्मी ही थी कुछ दिनों बाद उसने अपनी मम्मी को बुला लिया उसकी मम्मी अमिता वो 42 साल की थी लम्बी चौड़ी गोरा रग बड़े हेब्बी बूब्स थे वो हमारे साथ रहने लगी रात एक ही कमरे में हम सब सोते थे कभी कभी आंटी की दोनो चुचिया बाहर दिखती थी एक दिन आंटी मुझसे बोली तेरे घर में सिर्फ तेरी मम्मी है ना मैने कहा हा आंटी उन्होंने बोला तू भी उनको बुला ले।

मैने बहुत सोचने के बाद उनको बुला लिया अपनी मम्मी के बारे में बता दू उनका मेघना है वो 40 साल की है जिस्म से हेल्थी है टाइट बड़े बूब्स है बहुत सेक्सी है कुछ दिनों बाद वो भी आ गयी सबका आपस में जान परिचय हुवा कमरे में लेटने की जगह कम थी तो सब लोग जमीन पे लेटने लगे।

एक दिन रात को मेरी आँख कुली मैने देखा मम्मी और आंटी आपस में चिपकी लेटी थी दोनो की चुचिया आपस में रगड़ रही थी मम्मी एक बूब्स बाहर था आंटी का पेटीकोट नीचे सरका था उनकी बालो वाली चूत साफ दिख रही थी वो बेसुद सो रही थी अगले दिन मैने और रूपेश ने रात को दारू पी हम काफी नशे में हो गए रात को पता नही कैसे मैं आंटी के बगल में लेट गया।

मुझे पता भी नही चला रात को जब आंटी ने करवट ली वो मेरे ऊपर आ गयी मुझसे रहा नही गया मैने उनके बूब्स को हल्के से दबाने लगा वो नींद में आह कर रही थी मैने एक हाथ उनकी चूत पर रख दिया जो गीली थी और उंगली करने लगा उन्होंने बिना कुछ बोले मेरी नेकर नीचे कर दी और लड़ को सहलाने लगी जब लड़ खड़ा हो गया उन्होंने मुझे चिपका लिया और लड़ को चूत पर सेट कर दिया।

मैने जोस में ध्क्का लगा दिया लड़ चूत में घुस गया आंटी हूँ कर संत होगयी मुझे उनकी गर्म चूत दकके मरता रहा हुम् दोनो पसीने पसीने हो चुके थे उनके बूब्स को मुह में लिए चूस रहा था मैं एक दम से माल निकल गया उनकी चूत में चला गया मैं निढाल होकर अलग हो गया।

मुझे होस आया की रूपेश ने देखा तो नही मैं गर्दन उठा कर देखा रूपेश मेरी मम्मी चिपका सो रहा था मैं भी सो गया अगली सुबह हम काम पर चले 2 दिनों बाद आंटी को कुछ कपड़े लेने थे वो मेरे साथ मार्केट गयी मैने रास्ते में आंटी से बोला आंटी उस रात के लिए माफ कर देना आंटी हँसने लगी बोली के चेतन यर ऐसी बाते मत करो उस रात मुझे भी मजा आया।

मैने आंटी से पूछा तो आप पहले भी ये सब करती थी वो हस्ते हुवे बोली हा मेरे राजा मैं समझ गया आंटी एक नंबर की रांड है वो बोली तेरी मम्मी भी कम नही है मैने कहा मतलब वो बोली उसने मुझसे बताया की वो भी गाव में कई मर्दो से चुदवाती थी मैं हिल गया फिर आंटी ने कपड़े लेकर हम घर आ गए सब लेट गए आधी रात मुझे किसी के चिपकने की आहट हुवी देखा आंटी थी वो बोली ऐसे ही सो जाओ गए।

मैने गर्दन उठा कर देखा मम्मी और रूपेश कमरे में नही थे मैने आंटी से पूछा मम्मी कहा है वो बोली वो रूपेश के साथ कमरे की छत पर सो रही है मुझे अजीब लगा मैने आंटी से कहा बतरूम कर के आता हु मैं सीढ़ी लगा कर चुपके से छत पर चढ़ कर देखा तो हिल गया दोनो नगगे थे रूपेश मम्मी की चुत चोद रहा था मम्मी आह आह की आवाज निकाल रही थी रूपेश तेजी से दकके लगा रहा था।

मम्मी भी उसका साथ दे रही थी तभी मैं नीचे उतर आया और कमरे में आंटी के पास चला गया आंटी ने हस्ते हुवे कहा क्यो कैसी चुदाई चल रही है मैं बोला ये कब से चल रहा है आंटी बोली उसी रात से जब तुमने मुझे चोदा था रूपेश ने तुम्हारी मम्मी को चोद दिया था

आंटी ने मुझे पकड़ कर बोली चेतन अब मुझे भी प्यार करो मैने उनके बूब्स मसलने लगा और किस करने लगा वो मस्ती में आह पी लो राजा उन्होंने मेरे मुँह को अपनी चूत पर रख दिया मैं जवान से उनकी चूत चाटने लगा वो आह हआआआ चाटो आह आओ चेतन मैं तेजी से चाटने चूसने लगा वो आह मर गयी आह उन्होंने जोस में बोला अब डालो राजा मैने उनकी चूत पर लड़ रख कर ध्क्का मारा वो आह कर रह गयी मैं ध्क्का मारने लगा वो चोद साले मुझे चोद आह फच फच की आवाज आ रही थी वो जोस में आह आंटी बोली मेरे बेटे ने तेरी मम्मी को चोदा है तू भी उसकी मम्मी चोद मैं पूरे जोस में दकके मारने लगा आंटी ने अपना गर्म पानी छोड़ दिया मैं भी झड़ गया।

हम दोनो सो गए सुबह जब मेरी आँख खुली तो देखा आंटी नग्गी मेरे बगल में सो रही थी मैने आंटी को उठाया फिर मैं कमरे की छत पर चढ़ कर देखा मम्मी पूरी नग्गी रूपेश से लिपटी पड़ी थी मैं नीचे आ गया आंटी बोली बेटा कोई रूम दूसरा ले लो मैने कहा ठीक है फिर मम्मी और रूपेश उतर आये मम्मी ऐसे एक्टिंग कर रही जैसे मुझे कुछ पता ही नही फिर काम पर चले गए रात को हम दोनो आये मम्मी ने सिल्की नाइटी पहनी थी आंटी ने सिर्फ कुर्ता हम लेट गए।

अपना लंड खड़ा करने के लिए हमें इंस्टाग्राम पर फॉलो करे !!

follow antarvasnastory on instagram

कुछ देर बाद अँधरे में गोर किया मम्मी और रूपेश हिल रहे थे और मम्मी की आह की धीमी आवाज भी आ रही थी तभी आंटी ने लाइट जला दी मम्मी सकपका गयी वो नग्गी ही रूपेश के साथ लिपटी थी आंटी बोली ढेरो मत मेघना आज लाइट में करो मैं भी करुँगी आंटी मेरे ऊपर लेट गयी आंटी ने मेरे लड़ को अपनी चुत में सेट कर लिया फिर मैं उनको चोदने लगा आह आह ससस की आवाज पूरे कमरे में गूँजने लगी ।

इसी तरह चलता रहा एक दिन मुझे एक घर का फ्लोर किराये पर मिल गया हम सब वहाँ रहने लगे उस घर में रहीस जो 30 साल के थे और उनकी वाइफ नगमा 29 साल की रहते थे एक दिन रात को रूपेश ने मम्मी छत पर चोदा और सो गया मम्मी नग्गी पड़ी रही तभी वहाँ रहीस ने मम्मी को नग्गी देखा उसने बवाल मचा दिया सब लोग फिर मैने रहीस को पूरी बात बताई फिर उसने कहा तो मैं भी तुम्हारी मम्मी की चुदाई करू गा मम्मी बोली ठीक है आप मेरी ले लेना।

तभी रहीस रोज मेरी मम्मी चोदने लगा नगमा को हम दोनो उसकी जवान बीवी को चोदने लगे। ये थी मेरी gangbang story अगर आपको इस कहानी से कामुक यौन संतुष्टि मिली तो मुझे ख़ुशी होगी।

स्टोरी कैसी लगी मुझे मेल करे।

[email protected]

आपको कहानी किसी लगी ?
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
error: Content is protected !!