मोटी गांड वाली बहन को चोदा भाग-1

अगर आप अपनी बेहेन को गन्दी नज़रो से देखते हो तो आपको मेरी सेक्स कहानी बहुत पसंद आएगी। मेरा नाम राजेश है और मैं मुंबई में रहता हूं। यह मेरी अन्तर्वासना कहानी है। जो कि मैं इस वेबसाइट पर सभी के साथ शेयर कर रहा हूं। यह कहानी है मेरी जब मैंने अपनी ही बहन को चोदा जो कि मेरी मौसी की लड़की थी।

यह गर्मी की छुट्टियों की बात है, जब हम सब घर पर एक साथ समय बिता रहे थे। तभी अचानक उस दिन मौसी घर पर आई मिलने के लिए। 

हमें मौसी से मिले हुए काफी समय हो गया था लगभग 5 सालों बाद हमसे मिलने आई थी। क्योंकि मौसा जी का बिजनेस बाहर था और उनका बिजनेस दुबई से था। तो मम्मी बहुत ही खुश हो गई और जल्दी से मौसी जी का स्वागत करने के लिए दरवाजे पर पहुंची। 

मौसा जी नहीं आए थे क्योंकि उनको बहुत ही जरूरी काम था लेकिन वह दो हफ्तों बाद जाने वाले थे। तब तक के लिए मौसी हमारे घर पर रहती जो कि बहुत ही अच्छी बात थी। 

लेकिन यह बात मजेदार और बहुत ही बढ़िया तब हुई, जब मैंने मौसी की लड़की को देखा। मौसी की लड़की बहुत ही आकर्षक और हॉट फिगर वाली थी। आप इसी तरह की और भी Bhai Behan Sex Stories इस वेबसाइट पर पढ़ सकते है।

हां मानता हूं, कि वह मेरी बहन लगती थी, लेकिन अन्तर्वासना कोई रिश्ता नहीं देती। 

हम दोनों की उम्र लगभग बराबर थी, और हम दोनों ही कॉलेज में पढ़ रहे थे। अब यह जाहिर बात है…. कि दो जवान लड़का-लड़की अगर एक दूसरे से बात करेंगे तो कुछ तो गलत होगा ही। 

मौसा जी की लड़की का नाम पिंकी था। और वह वाकई में इतनी गोरी और पिंक-पिंक थी। 

क्यों उसके पास पहुंचते ही मेरा लंड खड़ा हो जाता था और मेरा रोम-रोम कांपने लगता था। हम दोनों बहुत बात किया करते थे, मौसी जी बोलती थी, इन दोनों में कितनी दोस्ती हो गई है। 

लेकिन मैं उससे बात करता था, क्योंकि मुझे उसकी ठरक थी। मेरी अन्तर्वासना और कामुक इच्छाएं इतनी ज्यादा बढ़ गई थी। 

कि मैंने चुपके से उसकी फोटोस खींच ली थी, जब वह कपड़े बदलती थी। और उसकी फोटोस को देख कर खूब मुठ मारा करता था। 

हम दोनों में मजाक-मजाक में यह बात भी होती थी। कि क्या हम कभी किसी रिलेशनशिप में रहे हैं। पिंकी तो इस बात से साफ मना कर देती। और बोलती थी – नहीं, मैं कभी किसी रिलेशनशिप में नहीं रही। 

और मैंने भी पिंकी से झूठ बोल दिया कि, हां मैं भी हमेशा से सिंघल था। लेकिन ऐसा सच नहीं था क्योंकि मेरी गर्लफ्रेंड थी। और मैंने अपनी महिलामित्र  से मज़े लेके, छोड़ दिया था। 

 एक दिन मौसी और मम्मी बहुत देर रात तक बातें कर रहे थे। पिंकी और मैं एडल्ट पिक्चरों की बातें करने लगे। 

मैं उसके साथ में डेयर गेम खेल रहा था। और मैंने उससे यह सवाल किया कि क्या तुमने कभी पॉर्न वीडियो देखी है। 

उसने बोला तुम मेरे बहुत ही अच्छे दोस्त बन गए हो तो तुमसे क्या छुपाना। हां मैंने अपने दोस्तों के साथ मिलकर पोर्न वीडियो देखी है। 

मैंने मन में ही सोचा है, ऐसी लड़कियां कहां मिलती है, जो पोर्न वीडियो देखें। क्योंकि इस तरह की लड़कियां आपको पुण्य शारीरिक संतुष्टि दे सकती हैं। 

फिर मैंने बिना सोचे समझे अपने मोबाइल फोन में पोर्न वीडियोस खोल दी। और एक लीड उसको भी पकड़ा दी और बोले चलो पिक्चर देखते हैं। जैसे ही मैंने पोर्न वीडियो चलाई। 

वह अचानक से डर गई और बोली – छी! यह मत दिखाओ। 

मैंने कहा क्यों तुमने तो पोर्न वीडियो देखी है ना, तो हर्ज ही क्या? चलो साथ में मिलकर देखते हैं, खूब मजा आएगा। फिर हम दोनों मिलकर पोर्न वीडियो देखने लगे।

और इन अश्लील तस्वीरों को देखते-देखते पिंकी बहुत ही गर्म हो गई। जोकि, मुझे पता था। इसलिए मैंने यह साजिश रची थी। 

पिंकी गरम-गरम हवा छोड़ने लगी और अपने हाथों से जांग के पास छूने लगी। 

फिर मैंने मौका देखकर चौका मारा। और जल्दी से पिंकी के होठों पर एक चुम्मा ले लिया। 

पिंकी बोली – यह क्या कर रहे हो, यह मत करो बहुत ही गलत है। मम्मी नीचे ही बैठी हैं। 

मैंने बोला यह सब बातें छोड़ो, पहले यह बताओ क्या तुमको मजा नहीं आया। 

वो बोली – ऐसी बात नहीं है, मजा तो आया, लेकिन यह सब गलत है। 

मैंने उसको समझाया कि, अंतरवासना का कोई रिश्ता नहीं होता है। और इसे बस शारीरिक संतुष्टि चाहिए। इसे बस अपनी इच्छाएं पूरी करनी होती है। 

यह बोलने के बाद, मैंने दोबारा उसके होठों पर चूमा और फिर उसे चूमता ही रहा। मैंने उसके साथ फ्रेंच किस की, और हम एक दूसरे को जबान से जबान लगाकर चूमते रहे। 

ऐसा हम दोनों ने सिर्फ अश्लील पिक्चरों में ही देखा था, लेकिन अब हकीकत में करने का मौका मिला था। लगभग मैंने 1 घंटे तक उसको बस चूमा और चूमता ही रहा। क्योंकि पिंकी बहुत ही सुंदर थी, और उसके होंठ बहुत ही नरम थे। 

उसके बाद धीरे-धीरे मैंने अपना हाथ उसके पीछे डाल दिया। और उंगली करने लगा। 

पिंकी के मुंह से निकला – “आह”! 

और उसने अपने आप ही मुझे जोर से पकड़ कर गले लगा कर, और फिर उसके बाद चूमने लगी। उसके बाद मैंने उसका पजामा उतार दिया।

उसने बहुत ही सुंदर पिंक कलर की अंडरवियर पहनी थी। मैं उसकी अंडरवेयर को ऊपर से ही चूमने लगा। 

और पिंकी ने मेरा मुंह जोर से पकड़ कर और दबा लिया। 

पिंकी की खुशबू इतनी अच्छी थी, कि मुझ से रहा ना गया, फिर मैं उसकी चूत को चाटने लगा। उसकी चूत का स्वाद बहुत ही अच्छा था और मुझे चाटने में बहुत मजा आ रहा था। 

साथ में ही, मैं उसके नरम-नरम चुंचो को भी दबा रहा था। फिर उसके बाद में पिंकी के पास खड़ा हुआ और अपनी पैंट उतार दी। 

पिंकी ने बिना शर्म किए मेरे लंड के मुठ मारने लगी। और फिर उसने धीरे से अपने होठों से मेरे लंड को छुआ और चूमने लगे। 

यह एहसास बहुत ही आश्चर्यचकित और शानदार था। मानो जैसे, मेरी कामुक इच्छाएं पिंकी को ही मांग रही हो। 

फिर पिंकी ने मेरा लंड चूसना शुरू किया। और उसके नरम-नरम होथ और उसकी गरम जबान मेरे लंड पर घूम रही थी। यह एहसास, कितना शानदार था, कि बस मेरी अन्तर्वासना ही जानती थी। 

फिर मैंने पिंकी को रोक दिया और पिंकी को लेट आया। फिर मैंने अपना लंड धीरे से पिंकी की चूत में डालना शुरू करा। 

क्योंकि यह पिंकी का पहली बार था। तो मैं धीरे-धीरे अपना लंड डाल रहा था। उसकी चूत सच में बहुत ही कसी थी, जो कि मुझे और ज्यादा उत्तेजित कर रही थी। 

एक वर्जिन लड़की है, और वर्जिन लड़की के साथ कामुकता करने का सौभाग्य हर किसी को नहीं मिलता। जब मेरा पूरा लंड उसकी चूत में घुस गया।

तो वह चिल्लाई! 

आगे की कहानी पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे मोटी गांड वाली बहन को चोदा भाग-2 और स्टोरी का पहला भाग आपको केसा लगा हमें कमेंट में बातये।