मेरे मोटे गोटे

ये कहानी हरियाणा से सूरज द्वारा भेजी गई है। सूरज को अपने गोटे को मसलना और उनकी मालिश करना बहुत पसंद है। मेरे मोटे गोटे सेक्स कहानी में सूरज ने बताया की स्पा में बॉडी मसाज सर्विस दे रही लड़की कैसे सूरज के बड़े और मुलायम गोटे देख कामुक महसूस करने लगी। 

कहानी पढ़ कर सूरज की तरह आप अपने लिंक के साथ वो सब ना करना जो कहानी में दर्शाया गया है इसे आपके लिंग को नुकसान पहुंच सकता है।

मेरी उम्र 28 है और मैं हरियाणा में एक किराने की दुकान चलता हूँ। मैं अपनी बीबी और 5 साल की बेटी के साथ रहता हूँ।

अच्छा परिवार और कमाई कभी कभी मुझे वो ख़ुशी नही दे पाई जो मुझे चुदाई करने में मिलती है। चुदाई से जाता मुझे मालिश और भी ज्यादा पसंद है। मैं किसी आम मालिश की बात नही कर रहा मैं गोटो की मालिश की बात कर रहा हूँ। 

शादी से पहले से लेकर आज तक मैं ऐसा गन्दा काम करता आया हूँ। जब मैं स्कूल में था तो मेरे दोस्त ने मुझे बताया की लिंग के साथ साथ गोटे मसलने से लिंग बड़ा होता है।

उस दिन से इसकी लत लग गई। अपना कमरा बंद कर के मैं अपने लंड पर हल्का गर्म घी लगा कर अच्छे से एक घंटा मालिश करता हूँ। 

जब मेने नया नया शुरू किया था तो मुझे दर्द होता था पर अब नही। ये तरीका काम करता है या नही मुझे नही पता पर मुझे जोरदार चरम सुख हर बार मिलता है और मेरे गोटे भी मोटे और सुंदर हो गए है। 

मेरी बीबी उन्हें प्यार से सहलाती है और धीरे धीरे चूसा भी करती है। मालिश के कारण गोटो में माल जल्दी और ज्यादा बनता है और जब चरम सुख मिलता है तो मैं अपनी बीबी का मुँह पूरा भर देता हूँ। 

गोटो की बढ़िया मालिश कराने के लिए मेने एक मसाज स्पा का पता किया। मुझे पता लगा की वह की लड़किया पेसो के बदले चुदाई भी करती है बस वह जा कर फुल बॉडी मसाज के लिए पूछना है। 

मैं अलगे दिन वह गया और फुल बॉडी मसाज के लिए रिसेप्शन पर खड़ी लड़की से बोला। उसने मुझे मुस्कुरा कर गंदा इशारा किया और मेने सर हिला कर हाँ का जवाब दे दिया। 

फिर उसने 3 लड़कियों को बुलाया और उनमें से किसी एक को चुनने को कहा।

मैं उनके पास गया और उनके हाथ ध्यान से देख कर मेने वो लड़की चुनि जिसके हाथ सबसे नरम, गोर और नाख़ून बढे थे। 

वो तीनो लड़कियां हैरान हो गई क्यों की हर मर्द मोटी गांड, पतली कमर और भारी स्तन देखता है और मेने सिर्फ सुंदर हाथ देख कर चुना। 

वो लड़कियां मुझे मासूम और बच्चा दिमाग समझने लगी पर जिस लड़की को मेने चुना वो उसी पल मेरी देवानी हो गई और मुझे खीच कर कमरे में लेजाने लगी। 

वो लड़की जवान थी और उसकी सूरत किसी राजकुमारी जैसी थी। गोरा शरीर और बड़ी आँखे, लम्बे घने काले बाल। उसे देख मुझे अपनी बीबी किसी काम वाली जैसी लगने लगी। उसकी मोटी जांघो के बीच की खाली जगह देख मेरा लंड फूलने लगा। 

दिल कर रहा था अभी उसकी जीन्स उतार कर उसकी चुत पे मुँह मार कर सारा रास निकाल दू। और अपना सूखा लंड उसकी गुलाबी गीली चुत में घुसा दू। 

कमरे में जाते ही मेने उस लड़की को कूद को चूमने दिया। वो मुझे हवसी रंडी की तरह चूमने लगी। मे

ने उसे रोका और कहा चुदाई करने से पहली मेरी मालिश करो। 

लड़की – क्यों क्या हुआ मैं तुम्हारे सामने हूँ। अगले 2 घंटे के लिए पूरी तुम्हारी हूँ और तुम्हे सच में मालिश करवानी है?

मैं मुस्कुराया और अपनी पैंट उतार कर कछा के छेद से अपना लंड और गोटे निकाल लिया। 

लड़की – ओह माय गॉड ! अच्छा तो ये वाली मालिश कह रहे थे। चलो बिस्तर पर लेट जाओ स्वीट हार्ट। 

वो लड़की बाहर गई और मालिश वाला तेल लेकर वापस आई। 

उसने मेरे लंड पर हल्का गर्म तेल डाला और मेरे लिंग को हिलाने लगी। तभी मेने उसका कोमल हाथ पकड़ा और उसको अपने गोटो पर रख दिया। 

लड़की – क्या ?? यहाँ ?? तुम्हे दर्द होने लगेगा। 

मेने कहा – आज़मा कर देख लो। 

उस लड़की ने मेरा कछा उतार दिया और मेरे अखरोट हाथ में ले कर गौर से देखने लगी। 

मेने कहा – क्या हुआ क्या देख रही हो ?

लड़की – ये थोड़े बड़े नहीं है? मैंने आज तक इतने बड़े और मुलायम गोटे किसी के नही देखे।

मेने कहा – अब तो देख लिए ना ? चलो अब मालिश करो इनकी। 

उस सुडोल सुंदर लड़की ने अपने नरम और गोर हाथो का जादू दिखाना शुरू कर दिया। उसने मेरे लंड की एक घंटा मालिश की। इस दौरान उसने मेरे गोटो को तरह तरह से मसला दबाया और खींचा।

कभी और लंड हिलाते हुए मेरे गोटे दबती तो कभी लंड चूसते हुए मेरे गोते खिचती। इतनी जोर दार मालिश से मेरा पूरा लिंग बेहद गर्म और लाल पड़ गया। 

उसके नरम हाथ मेरे लिंग को ऐसे मालिश कर रहे थे की मानो उसी के लिए बने हो। उसने अपने मुँह से मेरे लिंगोते ग को हर जगह से चूसा।

इतने सालो बाद पहली बार किसी के इतना चूसने से मेरे गोटो में दर्द हो उठा और मेने उसे रोक दिया। मेरी तेज़ सासो से उस लड़की की चुत गीली हो गई थी। 

उसे रोकने के बाद भी वो लड़की नही मानी और अपने सुंदर लम्बे नाखुनो से मेरे गोते पुरे लिंग को हल्के हाथ से खरोचने लगी।

उस वक्त मानो मैं उसके वाश में था। वो अपनी बड़ी बड़ी आँखों से मेरे आँखों में देखते हुए मेरा लंड हिला रही थी और मेरे गोटो पर जोरदार चूसे मार रही थी। 

मैं दर्द के मारे हल्की हल्की आवाज़े निकालने लगा पर वो गोटो के उन चुसो की आवाज़ों के निचे दब रही थी।

लड़की – अब करे चुदाई?

मेने कहा – जो कर रही है वही करती रह मुझे कोई चुदाई नही करनी। 

उसी पल उस लड़की को गुसा आया और उसने अपनी पूरी गांड मेरे मुँह के ऊपर कर दी और बोली “मज़ा सिर्फ तुम लो ये तो कोई सही बात नही है चलो चाटो अब!”

उसकी चुत से लम्बी लार टपक रही थी वो देख मेरी अन्तर्वासना और भी भड़क गई और मैं उसकी चुत से निकलने वाला रास चाटने लगा और वो कापने लगी। 

वो मेरा लंड चूस रही थी और मैं उसकी चुत। हमें 2 घंटे से भी ज्यादा हो गया था पर वो लड़की मेरे साथ कामवासना में इतना डूब गई की मानो उसने जान मुझ कर टाइम नही देखा। 

अचानक मैं अपनी चरम सिमा तक पहुंच गया और मेने उस लड़की कह पूरा मुँह अपने सफ़ेद गाढ़ा माल छोड़ दिया और उसका पूरा मुँह गंदा कर दिया। 

इतना सारा माल निकलता देख उस लड़की की चुत से खुद पानी निकल पड़ा जिसे अंग्रेजी में squirt कहा जाता है। वो पल वो 2 घंटे मेरी ज़िंदगी के सबसे अच्छे पल थे। 

उस लड़की ने मुझे अपना नंबर दिया और रत को मिलने को कहा। वो लड़की मेरे गोटो की दीवानी हो चुकी थी। 

मेने उसका नंबर तो ले लिया था पर कभी बात नही की ना ही फिर कभी उसकी सर्विस लेने गया क्यों की मैं शादीशुदा था। और मैं नही चाहता था की मुझे उस लड़की से प्यार हो जाये। अगर हो जाता तो मैं खुद अपने परिवार को बर्बाद कर देता। 

ये थी मेरी देसी चुदाई कहानी अगर आपको मेरे गोटो की चुसाई पसंद आई तो कमेंट करना ना भूले। और अपने गोटो की मालिश करना शुरू करे क्युकी ये आपको यौन सुख की नई उचाइओ तक पंहुचा देगा।  

error: Content is protected !!