ममता मैडम की फुद्दी मे नशीला लंड

बेमिसाल हुस्न की मल्लिका ममता मैडम पूरे जोश मे आकर चुदवा रही थी और कभी कभी अपनी चूत का संकुचन भी कर देती थी जिससे मुझे बहुत ज्यादा मजा आता और मै दुगुने जोश मे आकर उसकी चूत की रेलम पेलाई करने लगता था। ममता मैडम की फुद्दी मे नशीला लंड मेरा धूम मचा रहा था और ममता पूरे जोश मे आकर चुदवा रही थी और कभी कभी अपनी चूत का संकुचन भी कर देती थी।

मै हूं आपका विनीत कुमार। एक नयी Desi Sex Story लेकर आपके सामने उपस्थित हुआ हूं। काफी अनोखी और अलग है ये मेरी अन्तर्वासना कहानी इस कहानी मेने एक एक चीज़ बताई है, तो इसे पूरा पढ़ना।

हमारे घर से थोडी दूरी पर एक मैडम किराए मे मकान मे रहती थी।वह हमारे गांव के ही स्कूल मे पढाती थी।मैडम का नाम ममता था और उनकी उम्र लगभग 27 साल के आसपास थी और उसपर भी अब तक कुंवारी थी। तो अब आप ही विचार कीजिए जब किशोरी लड़कियों को भी चूत मे खुजली होती है, तो 27 साल की ममता मैडम का चुदास के मारे कितना बुरा हाल होता होगा।

वह चुदना तो बहुत चाहती थी पर किसी से कह नही पाती थी क्योंकि यहां उसकी जान पहचान वाला कोई नही था।मैडम दूर के किसी शहर की रहने वाली थी और कुछ सालो पहले उसकी पोस्टिंग यहां हुई थी।

मैडम दिखने मे भी बहुत सुन्दर और आकर्षक थी।

मैडम के पडोस मे एक टीचर किराए के मकान मे रहता था।मेरी उस टीचर के साथ दोस्ती थी इसलिए मै उसके पास बैठने जाया करता था। तो मैडम जी से भी मुलाकात हो जाती थी।

मै जानबूझकर उसकी तरफ देखता था और वो भी सहज भाव से मेरी तरफ देख लेती थी। कुछ दिनो तक यूं ही चलता रहा।एक दिन मै उसकी तरफ देखकर मुस्कुरा लिया।वो सकपका गयी और दूसरी तरफ देखने लगी।

मै मन ही मन लज्जित हुआ और सोचने लगा कि शायद मैडम मुझे पसंद नही करती।

उसके बाद कुछ दिनो तक वहां से गुजरते समय मैने उसकी तरफ नही देखा।मुझे मन ही मन अफसोस हो रहा था कि ममता ने मेरे मुस्कुराने का गलत अर्थ समझ लिया है।

एक रात जब मै अपने दोस्त टीचर के कमरे से लौट रहा था तो मैने शराब पी हुई थी। मैने ममता मैडम को कमरे के बाहर खडा पाया। नशे मे होने के कारण मेरा खुद पर कंट्रोल नही था। इसलिए मैने ममता की ओर देखकर आंख मार दी और कहने लगा-आई लव यू माय डियर।

वो ये देखकर डर गयी और कमरे के अंदर जाने लगी।मै भी उसके पीछे पीछे कमरे मे घुस गया।चुदना तो वो भी चाहती थी पर इस तरह किसी अनजान शख्स पर भरोसा नही कर सकती थी।

उसने गुस्से से मेरी तरफ देखा और बोली – ये क्या बदतमीजी है आप बाहर निकलिए मेरे कमरे से। नशे के कारण मेरी आवाज बहक गयी थी इसलिए मै प्रेमयाचना करते हुए बोला-ठंड का मौसम है मैडम जी अगर मै अकेला घर जाकर सोऊंगा तो मुझे ठंड लगेगी और आप यहां अकेली सोएगी तो आपको भी ठंड लगेगी।अगर हम दोनो साथ लिपटकर सोएंगे तो ठंड नही लगेगी।

मेरी बेबाक बाते सुनकर उसकी वासना जाग गयी थी लेकिन अब भी वह थोडा डर रही थी। वो मेरी तरफ पीठ करके खडी थी लेकिन मै उसकी चुदास को समझ गया था।

गर्म लोहे पर हथौडा मारने के लिए मैने दरवाजा अंदर से बंद कर दिया और पीछे से उसके मस्त मखमली बदन से लिपट गया।

क्या मस्त चिकना जिस्म था उसका!!! 

अपना लंड खड़ा करने के लिए हमें इंस्टाग्राम पर फॉलो करे !!

follow antarvasnastory on instagram

मेरे इस तरह लिपटने से वो कसमसाने लगी और छूटने की कोशिश करने लगी। मेरा लंड उसके नितंबो से टच होने के कारण टाईट हो गया था। मैने ममता की गर्दन पर चुम्मी दी और उसके कान मे कहा – डरो मत… मेरी जान,मै तुम्हे बहुत प्यार करता हूं।

उसकी चूत मे भी लंड लेने के लिए खुजली मची हुई थी इसलिए उसने मेरा विरोध नही किया और मै अपना काम करता रहा।लंड से उसकी गांड पर धक्के लगाते हुए उसके मम्मे दबाने लगा और उसके गाल और गर्दन पर चूमने लगा। वो भी गर्म सांसे छोडते हुए कामुक आहे भर रही थी और मेरे लंड पर अपने चूतड दबा रही थी।

मै एक हाथ उसकी चूत पर ले गया और चूत को मुट्ठी मे भरकर दबाने लगा। 

उसने – आह आह्ह करके दो बार कामुक कराह भरी और उसकी चूत गीली हो गयी।

उसकी चुदास पूरी तरह जाग गयी थी और वो मेरा लंड लेने के लिए तडप रही थी।उसने एक हाथ पीछे लाया और मेरा लौडा दबाने लगी। उसके दबाने से मेरा लौडा और भी सख्त और लंबा होने लगा।मुझे बहुत आनंद आ रहा था और लग रहा था कि इसी तरह दबाती रही तो मै झड जाऊंगा।लेकिन मै तो ममता की प्यारी रसीली चूत मे झडना चाहता था।

इसलिए मैने अपने लंड से उसका हाथ छुडा लिया और उसे अपनी तरफ घुमा लिया।

अब मैने अपनी कमीज उतार दी और उसकी स्लीवलेस सलवार भी उतार दी।फिर मैने उसकी ब्रॉ भी उतार दी और उसके चूचो को मुँह मे डालकर चूसने लगा।ममता भी किसी दुधमुँहे बच्चे की तरह मुझे दुलारते हुए मेरे सिर पर हाथ फेरने लगी और अपने चूचो का रस मुझे पिलाने लगी।

फिर मैने अपना पैंट और अंडरवियर भी उतार दिया और पूरा नंगा हो गया।

मेरे नग्न शरीर को देखकर वो शर्मा गयी और दूसरी तरफ देखने लगी। मुझे शर्माने वाली औरते और लडकियां बहुत पसंद आती है इसलिए मै ममता की इस अदा पर फिदा हो गया और उसे बिस्तर पर चौडा कर दिया।

फिर मै अपना लंड उसके मुंह के पास ले गया और उसके होंठो पर फिराने लगा।उसने आंखे बंद कर ली और मेरे लंड को चूमने लगी।

मैने कहा – मुंह मे लेकर चूसो मेरी रानी बहुत मजा आएगा।

उसने मेरा लंड मुंह मे लिया और चूसने लगी।

थोडी देर लंड चूसवाने के बाद मैने उसकी ढीली पजामी उतार दी।अब वह सिर्फ पैंटी मे थी।मैने पैंटी के ऊपर से ही उसकी चूत को सूंघा तो उसमे से कामरस की बू आ रही थी।इसका मतलब उसकी फुद्दी मेरे लंड से मिलने की बेताब हो रही थी।

मैने झट से उसकी पैंटी उतार दी।अब उसकी चूत मेरे सामने थी।उसकी चूत पर झांटे काफी बढी हुई थी क्योंकि काफी दिनो से उसने शेव नही की थी।मुझे झांटो वाली चूत शेव की हुई चूत से भी ज्यादा पसंद आती है इसलिए मै उसकी चूत देखकर बहुत प्रसन्न हुआ।और उसकी चूत के दानो को चाटने और चूसने लगा।

मेरे चाटने से उसकी फुद्दी पानी छोड रही थी जिसे मै स्वाद ले लेकर पी जाता था।

चूत की चुसाई करने के बाद अब उसकी लंड से रगडाई करने का समय आ गया था।इसलिए मैने उसकी दोनो टांगे चौडी कर दी और अपना लंड उसकी चूत पर रख दिया।फिर उसकी चूत के दोनो होंठ खोल दिये और लंड चूत के छेद पर अच्छी तरह से टिका दिया और फिर ममता मैडम की कमर पकडकर एक धक्का लगाया।

मेरे लंड का टोपा उसकी चूत मे घुस गया।उसने एक कराह भरी और मैने एक और धक्का लगाया इस बार मेरा आधा लंड उसकी चूत मे प्रविष्ट हो गया।

थोडी देर मैने आधे लंड से ही उसकी चूत की चुदाई की फिर पूरा लंड उसकी चूत मे उतार दिया और लंड अंदर बाहर करके उसकी चूत चुदाई चालू कर दी। वो भी मजे से मेरा लंड अपनी चूत मे लेकर चुदाई का मजा लूटने लगी।

उसने मुझे कमर से पकड लिया और मेरे होंठ चूसने लगी।मै भी उसके होंठो का रस पीते हुए फुद्दी को रगड रहा था।

एक हाथ से उसके मम्मे भी दबा रहा था।

वो – आह उह आह्ह आह्ह्ह उह्ह्ह उह्ह उम्ह्ह्ह्ह्ह्ह करके आहे भरते हुए गांड

उठा उठाकर चुदवा रही थी।

उसकी चूत अंदर से चिकनी और गर्म थी।जिसे चोदने मे मुझे बहुत मजा आ रहा था। वैसे भी सर्दियो मे चूत मारने का अलग ही मजा आता है।

ममता पूरे जोश मे आकर चुदवा रही थी और कभी कभी अपनी चूत का संकुचन भी कर देती थी जिससे मुझे बहुत ज्यादा मजा आता और मै दुगुने जोश मे आकर उसकी चूत की रेलम पेलाई करने लगता था।

अब ममता की फुद्दी रस छोडने की कगार पर आ गयी थी इसलिए ममता ने मुझसे बुरी तरह लिपटकर अपनी आंखे बंद कर ली थी।

तभी उसने एक मीठी सिसकारी ली और उसकी चूत ने कामरस छोड दिया जिसने मेरे लौडे को नहलाकर मुझे दुगुनी उत्तेजता और कामुकता से भर दिया। झडने के कारण ममता ठंडी हो गयी लेकिन और ज्यादा गर्म होकर उसे लगातार द्रुतगति से चोदे जा रहा था।

मेरे लौडा ममता मैडम की चूत मे ठेठ बच्चेदानी तक टच हो रहा था।

कुछ देर तक इसी तरह चोदने के बाद मै भी डिस्चार्ज होने को आया तो उसके कान मे कहा – मेरा छूटने वाला है मेरी जान,कहां निकालू अंदर या बाहर?

वो कुछ नही बोली और मै – आह उह्ह आह्ह उह्ह उह्ह आह्ह मेरी डार्लिंग मै आया ऐसा कहते हुए उसकी चूत मे झड गया। मेरे लंड से गर्मागर्म सफेद लावा निकला जिसने उसकी चूत को लबालब भर दिया।

चुदाई से निपटने के बाद हम बाथरूम मे गये और चूत लंड धोये और पेशाब किया।फिर ममता मैडम पलंग पहनकर कपडे पहनने लगी तो मैने उससे कहा कि – प्लीज नंगी ही सो जाओ !!! एक बार मुझे और चुदाई करूंगा फिर घर चला जाऊंगा।

वह बोली – कब चोदोगे जल्दी करो मुझे नींद आ रही है!!!

मैने अपने लौडे पर थूक लगाया और हिलाने लगा।

थोडी ही देर मे मेरा लंड खडा हो गया।

मैने ममता को घोडी बनाया और अपना लंड उसकी गांड की दरार पर घिसने लगा। फिर उसकी चूत मे डाल दिया और धक्के मारते हुए चुदाई करने लगा।

मेरा लंड उसकी चूत चोद रहा था और मेरे हाथ उसके पुद्दे (नितंब) दबा रहे थे।

बेमिसाल हुस्न की मल्लिका ममता मैडम मेरे सामने नंगी होकर घोडी बनी हुई थी और मेरे लंड से चुदवा रही थी। ममता मैडम की चुदाई करने में रूहानी मज़ा मिल रहा था… साला !!! मै अपने आपको खुशकिस्मत समझ रहा था।

मै उसे पांच मिनट तक घोडी बनाकर घोडे की तरह पेलता रहा।एक बार वो झड चुकी थी। फिर मै भी झड गया और वो भी झड गयी।

फिर मैने लंड बाहर निकाला और कपडे पहन लिये।ममता ने भी कपडे पहन लिये और सोने लगी।मैने उसके गाल और होंठो पर एक चुंबन दिया और घर के लिए रवाना हो गया।

उसने मुझे गुडनाईट बोला और अगली रात फिर से आने के लिए।मैने भी प्रॉमिस किया और चुपके से वहां से निकल गया।रात ज्यादा होने के कारण सारे लोग सो गये थे इसलिए किसी ने मुझे कमरे से निकलते नही देखा।

मै घर आ गया और ममता की मीठी यादो मे खोया हुआ नींद के आगोश मे चला गया।

समाप्त..

तो कैसी लगी आपको लोगो को विनीत कुमार द्वारा भेजी गई ये Teacher Sex Story, विनीत कुमार जी का बहुत बहुत ध्यानवाद !!। यदि आपको कहानी पसंद आई तो कृपा करके हमें सपोर्ट करे और अपनी कहानियाँ हमें भेजे।

अपनी कहानी भेजने के लिए “अपनी कहानी भेजे ” के पेज पर जाए।  

 

आपको कहानी किसी लगी ?
+1
2
+1
1
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
error: Content is protected !!