पहले मैने पत्नी को चोदा… फिर पति ने मुझे चोदा!!

मेरा नाम किशन है और यह मेरी सबसे अजीब और अतरंगी अंतर्वासना कहानी है जो कि मेरी जिंदगी में बीती थी। मैं एक ऐसी औरत के चक्कर में फस गया जिसके पति को आदमी और औरत दोनों का शौक था। कहानी पढ़ते-पढ़ते आपको पता चलेगा की कैसे पहले मैने पत्नी को चोदा फिर पति ने मुझे चोदा!! 

मेरी एक कपड़ों की दुकान थी लखनऊ में और हमारा धंधा अच्छा चल रहा था। परंतु मैं एक शौकीन मिजाज का लड़का था, जिसे लड़कियों को घुमाना बहुत ही पसंद था। मेरी 2-3 गर्लफ्रेंड थी, जिनके साथ में रंगरेलियां करता था।

परंतु मुझे भाभियों में बहुत ही ज्यादा दिलचस्पी थी और मैं किसी भाभी को चोदना चाहता था। मैं अक्सर Bhabhi Sex Story जैसी कहानियां ऑनलाइन पड़ता था और मुठ मारता था।

परंतु एक दिन कुछ ऐसा हुआ जिसने मेरी जिंदगी बदल दी। एक दिन, एक बहुत ही सेक्सी और हॉट भाभी जिसका नाम रुक्मणी था, मेरी दुकान पर साड़ी खरीदने आई। उसका हॉट बदन देखकर दुकान पर ही मेरा पैंट के अंदर लंड खड़ा हो गया था।

diwwali-banner-gif-min

मैं सुंदर और सेक्सी साड़ी देखने आई थी साथ में कुछ छोटे-छोटे नाइटी भी देखने आई थी।

जब मैं उसे कपड़े दिखा रहा था तो अपने मन में यही सोच रहा था – कितनी ज्यादा हॉट और सेक्सी लगेगी इन कपड़ों में।

बातचीत बनाने के लिए और उसके ऊपर लाइन मारने के लिए, मैंने उसे कपड़े डिस्काउंट में बेच दिये। जिससे वह बहुत ही ज्यादा खुश हो गई और हमारी बातचीत चालू हो गई। फिर मुझे पता लगा वह मेरे ही दूसरे मोहल्ले में तो गली छोड़कर रहती है।

तो हम अक्सर बाजार में भी मिला करते थे और बातें करते थे। मुझे पता था कि वह शादीशुदा है लेकिन मेरी भाभी वासना की भूख कुछ भी ना सोचने पर मजबूर कर रही थी।

और यही मेरी सबसे बड़ी भूल थी।

हम दोनों में अच्छा खासा रिलेशनशिप बन गया और हमारी दोस्ती इस हद तक बढ़ गई कि मैं उसके साथ चुम्मा चाटी भी कर सकता था।

ezgif-com-gif-maker
ऑफर्स सिर्फ आपके लिए!

परंतु इन सब के बावजूद मैं उसकी ले नहीं सकता था बस मैं उसको चोदना ही चाहता था। तो मैंने 1 दिन कहा – तुम मुझे कभी अपने घर पर क्यों नहीं बुलाती?!!

रुकमणी बोली – बुलाएंगे तुम्हें अपने घर पर भी बुलाएंगे, उसका भी समय आएगा।

तो मैं उसकी बात को समझा नहीं फिर मैंने कहा – क्यों ना तुम मेरे घर पर ही आ जाओ?!!

रुकमणी बोली – नहीं मेरे पति शाम को घर जल्दी आ जाते हैं।

मैंने बोला – तुम्हारे पति शाम को आते हैं… ना हम सुबह सुबह मिलते हैं।

अपना लंड खड़ा करने के लिए हमें इंस्टाग्राम पर फॉलो करे !!

follow antarvasnastory on instagram

वह मान नहीं रही थी लेकिन बातों ही बातों में मैंने उसे मना लिया और अगले दिन अपने घर पर बुलाया

वह मेरे घर पर आई और हम दोनों ने पहले खूब सारी बातें की फिर धीरे-धीरे माहौल रोमांटिक हो गया। और हम दोनों के बीच में चुम्मा चाटी चालू हो गए।

ऐसी भाभी के होंठ चूम कर जिसके लाल-लाल होठों, प्यारे-प्यारे गाल हो, बहुत ही मजा आ रहा था। मेरे लंड से तो बस पानी टपक रहा था और मैं उसे चूमे ही जा रहा था।

वह भी कुछ कम नहीं थी और उल्टा वह मुझे चुम रही थी मेरे गर्दन को चूम रही थी, और धीरे-धीरे मेरे निप्पल को भी चूसने लगी

मैंने बोला – अहह! क्या कर रही हो?!!!

Phones
अभी देखे! कही ये ऑफर्स आपसे छूट न जाये

उसने बोला – शांत हो जाओ, और मेरे होंठ पर अपनी उंगली रखदी…

फिर वह धीरे धीरे मेरी पैंट तक पहुंच गई और उसने मेरी पैंट उतार दिए और मेरा लंड अपने मुंह में ले लिया।

वो मेरे लंड को किसी के लिए दवा चूस रही थी जिसमें मुझे बहुत ही ज्यादा मजा आ रहा था।

आज तक मेरी किसी भी गर्लफ्रेंड ने मेरा लंड नहीं सोचा था परंतु भावे ने तो मजा ही दिला दिया मेरी वासना आनंद चरमसुख पर थी।

फिर हम दोनों में चुदाई चालू हो गई और मैं भाभी को दबा दबा कर घचाघच चोद रहा था। जितनी बार भी मैं उसे चोदता था उतनी बार उसके बड़े बड़े स्तन उप्पर नीचे हिलते थे और मुझे और भी ज्यादा आनंद आता था।

और हमारी चुदाई यूं ही चलती रही जिसका मैंने पूरा आनंद लिया था।

इस वाक्य के बाद से मैं बहुत ही ज्यादा खुश था और उसने मुझे दोबारा शनिवार की रात को अपने घर पर बुलाया था।

मैं मन ही मन बहुत ही ज्यादा खुश था मेरे मन में लड्डू फूटे जा रहे थे।

जब मैं उसके घर पर पहुंचा तब वह बहुत ही ज्यादा सेक्सी नाइटी पहन कर मेरा इंतजार कर रही थी कमरे में आसपास मोमबत्तियां जल रही थी माहौल बहुत ही ज्यादा रोमांटिक बना हुआ था।

जाते ही मैंने उसको चूमना चालू कर दिया और हमारे बीच में चुम्मा चाटी चालू हो गई।

home-and-kitchen

फिर पता नहीं कहां से उसका पति राजेंद्र उस कमरे में आ गयामेरी गांड फट गई बहुत ही बुरी तरीके से और मैं कांपने लगा।

परंतु राजेंद्र के चेहरे पर बिल्कुल भी गुस्सा नहीं था और वह मेरे बगल में आकर बैठ गया और बोला –  इतनी सेक्सी है ना मेरी बीवी।

मेरा तो मुंह बंद हो गया था और मैं कुछ भी नहीं कह पा रहा था।

राजेंद्र बोला – तुम्हें मेरी बीवी पसंद है मुझे भी मेरी बीवी पसंद है लेकिन मुझे तुम भी पसंद हो।

यह सुनने के बाद मेरे मन से चिल्लाने की आवाज आई “हे उप्पर वाले” किस मादरचोदी में फस गया मैं।

उसने कहा तुमने मेरी बीवी को चोदा अब बदले में मुझे भी तो कुछ करना चाहिए ना…। और वह धीरे धीरे मेरे पास आया और वह मुझे चूमने लगा।

मैंने डर के मारे उसको धक्का दे दिया और भागने की कोशिश करी परंतु उसने मेरा हाथ पकड़ लिया और कहा  भागने की कोशिश मत करो… मैंने यहां कैमरे लगा रखे थे और तुम्हारी करतूत को मैंने अपनी बीवी के साथ रिकॉर्ड करली है।

अगर तुमने यहां से भागने की कोशिश करी, और किसी को भी कुछ बताने की कोशिश करी, तो इसमें तुम्हारी ही बदनामी है।

मैं इस वीडियो को तो इंटरनेट पर डालूंगा ही डालूंगा साथ में तुम्हें अपनी बीवी के साथ जबरदस्ती करने के चक्कर में भी फसा दूंगा।

मेरी गांड फट के चारों गई और मेरे पैर सन सन आने लगे कांपने लगे मेरे बदन से पसीना छूटने लगा।

मैंने तो पहचान उसकी बात मान ली और बिस्तर पर जाकर लेट गया। राजेंद्र धीरे धीरे मेरे पास आया और मुझे चूमना चालू कर दिया वह मेरे गले गले को जूम रहा था मेरे पेट को चूम रहा था।

जिससे मुझे बहुत ही ज्यादा अजीब सा लग रहा था और भी ना रही थी। वही रुकमणी भी मेरे पड़ोस में बैठी अपने पति को चूम रही थी साथ में मेरे लंड की मुठ भी मार रही थी।

फिर रुकमणी ने बोला – चलो जल्दी से घोड़ा बन जाओ!!!

मैं गांड फटी में रुक्मणी के चेहरे को देखने लग गया और उसके पति का चेहरे को भी देख रहा था।

मैं घोड़ी बन गया और रुक्मणी का पति मेरी गांड मारने लगा। मैं बहुत ही ज्यादा हैरान था कि सच में मेरे साथ कुछ ऐसा हो रहा है मेरे चेहरे पर कोई भी हाव-भाव नहीं था।

और राजेंद्र मेरी गांड मार रहा था और रुक्मणी मुझे चूम रही थी।

इन दोनों हरामी पति-पत्नी ने मुझे अच्छा फंसाया और अपनी वासना की पूर्ति के लिए मेरा इस्तेमाल किया। जब इन माधरचोद पति-पत्नी का मन भर गया तब इन्होंने मुझे छोड़ दिया और कहा जब जरूरत होगी दोबारा बुलाएंगे।

मैं अगले ही दिन ट्रेन की टिकट बुक करवा कर दिल्ली भाग आया। किसी को भी नहीं पता था कि मैं कहां जा रहा हूं, कहां रहूंगा और मेरा नंबर पता क्या है।

मैंने यह अपनी अंतर्वासना कहानी इस वेबसाइट के साथ साझा करी है ताकि लोगों को पता लगे की दुनिया में कैसे-कैसे लोग हैं। मेरे साथ बिल्कुल वैसा ही हुआ था जैसा मैं Indian Desi Sex Stories में पढ़ता था तो मुट्ठ मरो लेकिन ज्यादा जुगाड़ के चक्कर में मत रहो। वरना तो मेरे जैसे किस्मत वाले नहीं हो गए जो बचकर इन चीजों से भाग सकोगे।

error: Content is protected !!