माँ बहन की लॉकडाउन में चुदाई

ये कहानी आंध्र प्रदेश के गुमनाम व्यक्ति की है जिन्होंने अपनी पहचान को गुप्त रखने के लिए अपना नाम अमित बताया है। अमित लॉकडाउन में अपनी प्रेमिका से न मिल पाने पर हवसी हो गया। मजबूर अमित को हवस मिटाने के लिए अपनी माँ बहन की लॉकडाउन में चुदाई करनी पड़ी। अपनी चुदाई कहानी से अमित ये बताना चाहता है माँ और बहन मर्दों को वो यौन आनंद प्रदान कर सकती है जो उनकी प्रेमिका नहीं। 

मैं 22 साल का हूँ और अपनी प्रेमिका रितु से काफी प्रेम करता हूँ। लॉकडाउन की वजह से हम कई दिनों तक नहीं मिल सके। पर हम फ़ोन कॉल सेक्स और वीडियो कॉल सेक्स करते थे जिसमे हम एक दूसरे को नंगा देख सरका कूटते (मुट्ठी मारना, हस्तमैथुन करना) थे। पर मुझे चुदाई करने की लत थी। मेने अपनी पप्रेमिका की योनी चोद चोद कर उसको बड़ा कर रखा था। 

अपनी अन्तर्वासना बुझाने के लिए मैं अपनी आँखे बंद करके पुरानी चुदाई याद कर मुट्ठी मारता था। लॉकडाउन की वजह से मेरे पिता दिल्ली में फसे थे। और मैं अपनी माँ और बहन के साथ रह रहा था। मेरी बहन मुझ से छोटी थी (उम्र 19) और वो अभी 12 कक्षा में थी। माँ किसी सरकारी दफ्तर में काम करने वाली अफसर थी। 

मेने अपनी माँ बहन को कभी भी गन्दी या हवसी नजर से नही देखा पर जब मेरे सर चुदाई का भूत चढ़ा तो मैं खुद को रोक नही पाया। और मुझे लॉकडाउन में माँ बहन की चुदाई करनी पड़ी।  

diwwali-banner-gif-min

उस दिन मेरी बहन ऑनलाइन पढाई कर रही थी और मेरी माँ सिलाई कर रही थी। मेरी बहन उलटी लेटी थी और लैपटॉप में वीडियो देख रही थी। बस उसी वक्त मेरी नजर उसकी गोल मटोल बड़ी गांड पर पड़ी। उसकी नरम और तकिये समान गांड और पतली कमर देख मेरा लिंग तड़पने लगा। 

मेने कमरे का दरवाजा बंद किया और झट से बहन का पजामा उतार कर उसकी गोरी गांड को चूमने लगा। पर जब मेरी नजर उसके लैपटॉप पर पड़ी तो पता लगा वो पढ़ाई नहीं चुदाई की गन्दी वीडियो देख रही थी और उसकी चुत पहले से नम थी। 

मेने उसकी गांड खोली और उसकी चुत गांड में अपनी जुबान डाल दी। बहन पहले से कामुक थी तो उसने मेरी इस हवसी हरकत का कोई जवाब नहीं दिया बल्कि वो तो मजे लेने लगी। बहन की दोनों चूचियां और चुत मस्त गुलाबी थी और मेरे लिंग का टोपा भी कुछ काम नहीं था।  

बहन – अहह !! भइया ऐसा मत करो।

अमित – आज तू पकड़ी गई छोटी अब पता लगा तू क्या क्या देखती है। आज मैं तुझे सही पाठ पढ़ाने वाला हूँ।  

बहन – क्या नहीं मम्मी देख लेगी तो पता नहीं क्या होगा। हटो मेरे ऊपर से और मुझे गन्दी जगह मत चाटो। 

ezgif-com-gif-maker
ऑफर्स सिर्फ आपके लिए!

अमित -चुप चाप लेटी रह। 

मेने अपनी बहन की धड़ल्ले से चाटना शुरू कर दिया और बहन चुदाई वाली वीडियो देखती रही। उसके बड़े टोपे वाले लिंग पसंद थे। जब मेरा लिंग पूरा तन गया और मेने अपनी मोटी गांड वाली बहन को चोदा और अपनी वासना को मुक्ति देने लगा। 

मुझे मार चुदाई करने में काफी आनंद मिलता था। अपनी प्रेमिका को मैं मार मार कर होटलो में चोदा करता था। बस उसी तरह मैं अपनी बहन की गांड भी चोदे जा रहा था। 

कभी मैं उसकी गांड पर जोर दार झापड़ मारता तो कभी उसे बेदरदी से निम्बू की तरह निचोड़ता। बहन की गांड पर मेरे हाथ के निशान छपने लगे पर बहन भी कच्ची खिलाडी नही थी। 

19 साल की उम्र वाली जवान लड़कियों से स्तन काफी कोमल होते है ये मुझे उस दिन पता लगा। बहन की चुत पहली बार की चुदाई से खून छोड़ने लगी। 

अपना लंड खड़ा करने के लिए हमें इंस्टाग्राम पर फॉलो करे !!

follow antarvasnastory on instagram

बहन (लंड लेते हुए) – अहह !! दर्द उठ रहा है निचे। 

मेने कहा (चुदाई करते हुए) – अहह अहह !! पहली पहली बार होता है। 

बहन (बेचैनी से) – नहीं नहीं नहीं !! मुझे जलन हो रही है भइया रुक जाओ अब।  

मेने अपनी बहन की एक न सुनी क्यों की मैं उसकी टाइट चुत की वजह से चरम सुख प्राप्त करने वाला था। मैं उसकी कोमल चुत पर अपना कड़ा लिंग मारे जा रहा था। 

मेरे बड़े लंड और उसकी छोटी चुत एक दूसरे के बिना अधूरे थे। बहन की छूट टाइट होने की वजह से उसकी चुत से खून निकलने लगा पर उसे दर्द का मनो मजा सा आने लगा था। 

Phones
अभी देखे! कही ये ऑफर्स आपसे छूट न जाये

कुछ जोर दार धको के बाद मेने अपना माल उसकी चुत में भर दिया और वही रुक गया। 

बहन – भइया अभी भी निचे जलन हो रही है !!

मेने कहा – कुछ न होता छोटी जा नाहा ले जा कर कुछ देर में ठीक हो जाये गए।  

बहन – माँ को कुछ पता तो नहीं लगेगा ना ?

मेने कहा – हां हां कुछ न होरा। 

उसके बाद अगले दिन मेरा फिर चुदाई का दिल करने लगा और मैं अपनी छोटी बहन को चोदने चल पड़ा। पर बहन कल की चुदाई की वजह से उस हालत में नही थी। उसने कहा की उसकी चुत में तेज जलन और दर्द उठ रहा है और वो ये सब फिर नहीं करना चाहती। 

अब बहन तो बहन है मैं उसके साथ जबरदस्ती तो नहीं कर सकता था। मैं उसके कमरे से बाहर निकला तो माँ मुझे फिर सिलाई करती दिखी। जब वो कपड़ा सिलने के लिए मशीन का हैंडल घुमाती तो साथ में उनके दोनों सुंदर स्तन भी हिलने लगते ये देख मैं फिर कामुक हो गया। 

पर माँ के साथ में उनकी मर्जी के बिना कुछ नहीं कर सकता था। अगर मेने maa ko jabardasti choda तो बाद का अंजाम अच्छा नहीं होता। 

अपनी हवस मिटाने के लिए मेने माँ की पैंटी (चड्डी) ली और उसे अपने लिंग पर लपेट कर मुट्ठी मारने लगा। कमरे में मैं अकेला अपना लिंग हिला रहा था तभी मेरी नजर कमरे के दरवाजे पर पड़ी। 

दरवाजा थोड़ा खुला था और वहा से मेरी माँ मुझे ये अश्लील काम करता देख मजे ले रही थी। उन्होंने अपना हाथ पेटीकोट में डाल रखा था। ये देख मुझे चुदाई की एक उम्मीद की किरण दिखी।

home-and-kitchen

और मैं झट से दरवाजा खोल दिया। और माँ का चेहरा शर्म से लाल हो गया और वो वह से जाने लगी। मेने उनका हाथ पकड़ा और उन्हें कमरे में खींच लिया। 

पिता जी के न होने पर माँ की आँखों में अकेलापन और चुदाई की भूख दिख रही थी। 

मेने अपना लिंग निकला और उनके सामने कर दिया और वो बिना किसी हिचकिचाहट के उसकी अच्छी चुसाई करने लगी। 

ब्लाउज में छुपे उनके दो सरस स्तन दूध लिए भरे थे। मेने माँ की गर्दन पकड़ी और उनकी आँखों में देखते हुए ऊपर उठाया। 

और माँ का ब्लाउज झट से फाड़ कर उनके स्तनों से रसीला दूध चूसने लगा। इस उम्र में दूध दूध निकलने का मतलब है वो अभी भी किसी को स्तनपान करवाती है। 

हमारा कोई छोटा भाई या बहन नहीं है इसका मतलब पिता जी माँ के स्तनों से रोज दूध पिटे है। 

मेने माँ को लेटाया और उनकी चूचियां खींच कर दूध निकालने लगा। उनके दूध से मेरे लंड गिला हो जाने के बाद मेने उनकी साड़ी उठाई और उनकी चुदाई करने लगा।

माँ – अहह अहह अहह उफ्फ !! बेटा। 

मेने कहा – माँ !! माँ ! इतना दूध कैसे ??

माँ – तुम्हारी पिता मानते कहा है !

मैं उनकी चुदाई करता था और उन्हें मजे देता रहा। माँ की काली चुत से निकलता रस मेरे लिंग की मानो ताकत बढ़ा रहा था। 

जैसे ही मेने अपनी कमर हिलना शुरू किया माँ कामवासना के आनंद में डूबने लगी। और जल्द की उनकी चुत की मलाई निकल गई। 

माँ की चुत गन्दी हो गई तो मैं उनकी गांड चोदने लगा। माँ दर्द से आवाजे करती रही तभी वह बहन भी आ पहुंची। 

बहन ने मुझे हवसी नजरो से देखा और मुझे चूमने लगी पर जैसे ही मेने उसकी पैंट में हाथ डाला वो पीछे हट गई और बोली आज नहीं फिर कभी। 

मुझे माँ की चुदाई और बहन के छाती पर चूमने से अति अधिक यौन संतुष्टि मिलने लगी और मेने माँ की गांड में अपना माल पानी झाड़ दिया। 

माँ बहन की लॉकडाउन में चुदाई करके मेने अपनी हवस को शांति दी। उसके बाद अगले दिन मेरे बहन का नंबर आया। 

अब मुझे लॉकडाउन में मजा सा आने लगा है। मैं रोज बारी बारी अपनी माँ बहन की लॉकडाउन में चुदाई करता हु। ये थी मेरे रिश्तों में चुदाई की कहानी अगर पसंद आई तो अन्तर्वासना स्टोरी वेबसाइट को प्यार देना। 

error: Content is protected !!