चुदाई का बुखार चढ़ा तो लॉकडाउन में साली को चोदा

राकेश ने अपनी सेक्सी बड़े-बड़े स्तनों और गांड वाली साली की जबरदस्त चुदाई करि। उसने अपनी साली को ब्लैकमेल करके लॉकडाउन में अकेले पाकर चोदा। उसने खड़े-खड़े स्तनों वाली सुनैना की चूत में अपना लंड घुसाकर जबरदस्त चढाई की। जब राकेश को चुदाई का बुखार चढ़ा तो लॉकडाउन में साली को चोदा जो इसके घर पर रहे रही थी।   

अक्सर लोगों को अपनी बीवी से ज्यादा अपनी सालियां पसंद आती हैं। कई बार ऐसा होता है, उनकी सालियां उनकी बीवी से ज्यादा सुंदर और आकर्षक होती हैं। यही वजह है, कि लोग ज्यादातर अपनी सालियों के ऊपर, कहीं ना कहीं, अंतर्वासना की इच्छाएं रखते हैं। इस कहानी में राकेश ने लॉकडाउन में साली को चोदा और उसके कामुक शरीर का पूरा मजा लिया। 

यह बहुत ही जबरदस्त साली की अन्तर्वासना कहानी है जिसको पढ़कर आपको बहुत ही आनंद आएगा। तो इसे पूरा पड़े और मज़े ले, साथ ही अपने दोस्तों में शेयर भी करे।

ऐसी ही एक कहानी है, राकेश की, जिसकी नई-नई शादी हुई थी। राकेश की बीवी बहुत ही सुंदर और आकर्षक थी। परंतु उसकी छोटी बहन, जोकि कॉलेज में पढ़ रही थी, और वो लॉकडाउन की वजह से राकेश की घर ही रह रही थी। वह और भी ज्यादा आकर्षक और सेक्सी थी। 

उसका गोरा-गोरा बदन और नरम-नरम त्याचा और साथ में ही इतना हॉट फिगर, जिसे देखकर किसी भी आदमी का मन मचलने लगे और वह वासना से भर जाए।

राकेश की छोटी साली का नाम सुनैना था, और काफी अच्छी लड़की थी। राकेश को सुनैना पर बहुत ही ज्यादा ठरक थी और वो कुछ ना कुछ करके, बस, सुनैना को चोदना चाहता था। 

सुनैना एक मॉडर्न और नए जमाने की लड़की थी, जिसे फैशन करना बहुत ही पसंद था। वे नए जमाने की लड़कियों की तरह छोटे-छोटे कपड़े पहन के कॉलेज जाया करती थी। 

सुनैना जिस तरह के कपड़े पहनती थी, उन कपड़ों में वह बहुत ही ज्यादा आकर्षक और सेक्सी लगती थी। और उसके बड़े-बड़े स्तन इतने ज्यादा गोल मटोल और सुडोल दिखते थे। कि बस, उसके स्तनो को बहुत ही जोर-जोर से आटे की गुंडे की तरह मसलने का मन करता था। 

और सुनैना की गांड इतनी मोटी और गोल थी, जिससे सुनैना का फिगर और भी ज्यादा आकर्षक लगता था। इन सारी खूबियों के चक्कर में सुनैना एक ऐसी सेक्सी लड़की थी जिसे देखकर कोई भी लड़का उसके ऊपर फिदा हो जाए। 

और ऐसा ही कुछ हुआ राकेश के साथ क्योंकि वह इतनी सेक्सी थी, और साथ ही इतनी सेक्सी और हॉट भी थी

राकेश यह बात जानता था कि दोनों बहनों में बहुत ही ज्यादा प्यार है। और यह दोनों एक दूसरे के प्यार के लिए कुछ भी कर सकती हैं। तो राकेश ने योजना बनाई और सुनैना को ब्लैकमेल करने की कोशिश करी। 

परंतु राकेश ने सोचा अगर वह सीधे ही सुनैना को यह सब बोल देगा, तो कुछ बात नहीं बनेगी। तो राकेश ने थोड़ा सा और रुकने का फैसला किया और अपनी योजना को संपूर्ण तरीके से अजमाया। 

एक दिन सुनैना अपने कॉलेज से घर आ गई और सीधे ही नहाने को चली गई। लॉकडाउन में राकेश भी घर पर ही था और वह काम नहीं क्र रहा था सिर दर्द का बहाना बनाकर। 

और जब सुनाना नहा रही थी, तब राकेश चुपके से उसे देख रहा था। सुनैना का बहुत ही ज्यादा सुंदर और सेक्सी बदन देखकर राकेश का लंड खड़ा हो गया। और वो अपने पजामे में हाथ डालकर अपने लंड को मसलने लगा। 

फिर जब सुनैना किचन में काम कर रही थी, तब भी राकेश उसे घूरे ही जा रहा था। वो  सुनैना को बहुत ही ठरकी और वासना पूर्वक नजरों से देखता था। 

फिर बाद में सुनैना को थोड़ा बहुत शक हो गया और वो दोनों घर पर अकेले भी थे। परिवार के बाकी सारे लोग निचे वाले कमरे में थे। राकेश अपने कमरे में उप्पेर लेता वाले कमरे में लेता था। 

सुनैना राकेश के कमरे में गई और बोली – जीजू मुझे पता है! आप मुझे देखते ही रहते हो। 

राकेश बोला – क्या करूं?!! तुम इतनी ज्यादा सेक्सी जो हो, सुनैना! 

सुनैना – गलत है, आप मेरे जीजू हो और अगर आप ऐसा करोगे, तो मैं दीदी को सब बता दूंगी। 

बस यही से राकेश ने अपनी योजना की शुरुआत करि। 

और बोलने लगा – अगर तुम दीदी को बता दोगी, तो मैं उसे छोड़ दूंगा और तुम्हारा सारा परिवार बिखर जाएगा। 

सुनैना को अपने परिवार से बहुत ही ज्यादा प्यार था, और वह रह भी राकेश के घर में रही थी, क्योंकि लॉकडाउन लगा हुआ था। 

सुनैना सोचने लगी और शर्माने लगी। 

राकेश बोला – अरे! इतना मत सोचो, वेसे भी साली आधी घरवाली होती है। और इस बात का किसी को भी पता नहीं चलेगा, यह बात इसी कमरे में दब जाएगी। 

सुनैना – हां ठीक है लेकिन…

राकेश बोला – हम यह सिर्फ एक ही बार करेंगे, तुम बस मेरी वासना मिटा दो।

सुनैना मान गई और राकेश की बातों में आ गई।

सुनैना के हां बोलते ही, मानो राकेश के मन में तो बीस-पच्चीस लड्डू ही फूट रहे थे। वे धीरे-धीरे सुनैना के करीब आया और फिर उसे जोर से चूमने लगा। सुनैना और राकेश दोनों के होठों से होठ लड़े हुए थे, और दोनों एक दूसरे को अपना रस दे रहे थे। 

सुनैना के रसीले होंठ बहुत ही रसीले थे, जिसे राकेश बहुत ही बढ़िया तरीके से चूस रहा था। 

इसके बाद वे धीरे-धीरे सुनैना के कपड़े उतारने लगा। सुनैना के बड़े-बड़े स्तन राकेश को सबसे ज्यादा पसंद थे। और उसके नरम-नरम चुँचो को राकेश बहुत जोर-जोर से दबाने और मसलने लगा। 

वह सुनैना के स्तनों को अपने दोनों हाथों में लेकर अपना मुंह घुसा के, अपने गाल रगड़ रहा था। राकेश अपना चेहरा सुनैना के चुन्चो में रगड़ रहा था और उन्हें चाट रहा था। 

सुनैना बोलने लगी कि – जीजू! तुम कितने गंदे हो, कैसी हरकतें कर रहे हो। 

राकेश बोला – क्या करूं! तुम्हारे लिए तो मैं पागल ही हो गया हूं। फिर राकेश धीरे-धीरे सुनैना के नीचे-नीचे पहुंचने लगा। पहले वह सुनैना के स्तनों को चाट रहा था, फिर वह सुनैना के पेट तक पहुंच गया, फिर इसके बाद, वे सुनैना की योनि तक पहुंच गया। 

सुनैना खड़ी थी और राकेश अपने घुटनों पर बैठा सुनैना की योनि सुंग रहा था। 

सुनैना – जीजू क्या कर रहे हो?!! ऐसा मत करो! मुझे शर्म आ रही है….  

राकेश ने उसकी बात पर ध्यान नहीं दिया और वह सुनैना की योनि चूसने लगा। वो उसकी योनि कुत्ते की तरह चाट रहा था। सुनैना को भी बहुत ही ज्यादा अंतर्वासना (Antarvasna) का आनंद प्राप्त हो रहा था। 

सुनैना पहली बार कुछ ऐसा महसूस कर रही थी और उसे बहुत ही चले चरम सुख की प्राप्ति हो गई। फिर राकेश खड़ा हुआ और उसने खड़े-खड़े ही सुनैना की चूत में अपना लंड घुसा दिया। 

सुनैना एकदम से चीख पड़ी और हैरानी से बोलने लगी – कितने कमीने हो जीजू!! खड़े-खड़े ही डाल दिया। 

राकेश बोला – अरे!! यह वासना करने का नया तरीका है जिसे मेने Indian Hindi Sex Stories में पढ़ा था , इसमें बहुत ही ज्यादा मजा आता है। और वह सुनैना की चूत में अपना लंड खड़े-खड़े ही अंदर बाहर करने लगा। साथ ही उसने सुनैना की बड़ी गांड को भी अपने हाथों पकड़ रखा था। वो उसकी गांड को जोर से पकड़ कर सहारा बनाकर, सुनैना को दबा-दबा कर चोद रहा था।

वो वासना आदमी सुनैना की बहुत ही जबरदस्त चुदाई कर रहा था और उसकी गांड को तो वह आटे के गुंडे की तरह दबाया जा रहा था। 

सुनैना को अति कामवासना सुख की प्राप्ति हो रही।

और वह राकेश साथ में सुनैना को चूम भी रहा था। इतने जबरदस्त शारीरिक पोज की वजह से राकेश सुनैना को चोद भी रहा था, उसकी गांड को दबा रहा था, और उसको चुम्मी भी रहा था। 

राकेश एक वक्त पर तीन गुना वासना आनंद ले रहा था। फिर उसने सुनैना को बेड पर लिटा दिया और कुत्तिया के जैसे होने को बोला। सुनैना घोड़ी की तरह हो गई और राकेश ने उसकी गांड जोर से पकड़ कर अपना लंड घुसा दिया। 

राकेश सुनैना की बहुत जोर-जोर से धकाधक प्रचंड चुदाई कर रहा था। और चोदते-चोदते हुए सुनैना की कांड पर थप्पड़ भी मार रहा था। और साथ में वह अपने दोनों हाथों में सुनैना के चूजे बहुत जोर जोर से दबा रहा था और मसले जा रहा था। 

वह सुनैना के निपुल पकड़कर भी अपनी उंगलियों से खींच रहा था। इतनी सारी कामुकता के कारण दोनों को बहुत ही ज्यादा चरम सुख की प्राप्ति हो रही थी। उन दोनों को एक अलग ही स्तर का चरम सुख और वासना सुख प्राप्त हो रहा था। 

फिर जैसे ही राकेश का झड़ने वाला था उसने अपना लंड बाहर निकाल कर। सुनैना के मुंह में अपना सारा माल झाड़ दिया। और उसके मुंह में अपना लंड घुसा कर मुठ मारने लगा ताकि बचा-कुचा भी सब कुछ झड़ जाए। 

इसके बाद राकेश की कामवासना की इच्छा सुनैना को लेकर शांत हो गई। वह बहुत ही ज्यादा खुश ना हंसी उसके चेहरे से हट ही नहीं रही थी।

Share Story With Friends