लॉकडाउन में नौकरानी और मालिक की चुदाई

दिल्ली का आकाश अपनी कहानी में ये बता रहा है की कैसे उसके गंजे हवसी पड़ोसी ने अपनी बीवी की गैरमौजूदगी में घर की नौकरानी के साथ यौन-क्रिया की। आकाश का कहना है की उसका पडोसी ठरकी इंसान था जो अपनी बीवी को पिछले 3 सालो से धोका देता आ रहा था। 

शादी के बाद भी उसने किसी पराई औरत के साथ योनसंबंध बना रखे थे। दिल्ली में लॉकडाउन के कारण वो अपनी प्रेमिका से नहीं मिल पा रहा था। ऊपर से हवस मिटाने के लिए बीवी भी घर पर नहीं थी। अब ऐसे समय में आकाश के गंजे पड़ोसी ने क्या कदम उठाया आकाश ने अपनी सेक्स कहानी लॉकडाउन में नौकरानी और मालिक की चुदाई में विस्तार से बताया है। 

मैं उस दिन घर बैठ बोर हो रहा था की सोचा छत पर जाकर ताजी हवा खा लू। घर बेथ बेथ मैं बस अपना वजन बड़ा रहा था तो सोचा थोड़ी कसरत कर लूं। तभी मुझे चुदाई की घपा घप आवाज आने लगी। 

वो आवाज मेरे हवसी पड़ोसी के घर से आ रही थी। पर उसकी बीवी तो लॉकडाउन से पहले अपने मइके गई थी और अभी तक वही फसी हुई थी। मैं यही सोचने लगा की ये साला गंजा आखिर चुदाई कर तो कर किसी रहा है। 

मेरा पडोसी ठरकी और कमीना इंसान था इसलिए उसकी पहली बीवी उसे छोड़ कर चली गई थी। अब भगवान जाने की क्या हुआ था। फिर इसने किसी और लड़की को सेट कर के उस से शादी कर ली। 

नई बीवी के साथ मेरा पड़ोसी रोज चुदाई करता। बीवी की गांड चोद चोद कर उसने गांड का गुब्बारा और चुत का भोसड़ा बना दिया था। बीवी की चुत बड़ी करने  के बाद वो बाहर मुँह मारने लगा। 

खेर मैं छत टाप कर उसकी छत पर गया। छत की जाली से नीचे देखा तो पता लगा की नौकरानी और मालिक की चुदाई चल रही थी। 

मेरा हवसी पड़ोसी नौकरानी को जमीन पर घोड़ी बना कर चोद रहा था। वो कामवाली हमारे घर भी काम करने आया करती थी और मैंने उसे कभी ध्यान से देखा भी नहीं था। 

नौकरानी की गांड साड़ी में छुपी रहती थी जिस वजह से मुझे कभी पता ही नहीं लगा की वो कितनी कामुक है। 

पडोसी उसे नंगे फर्श पर चोद रहा था और खुद दोनों पेरो पर खड़ा था। 

नौकरानी – अहह मालिक मेरे घुटने छिल गए है अब तो रुक जाओ। 

गंजे पडोसी – चुप बे साली तुंजे पैसे किस लिए दिया है ?

नौकरानी – अहह अहह कम से कम बिस्तर पर तो कर लो !!

गंजे पडोसी – चुदाई के पैसे दिया है बिस्तर पर आराम फरमाने के लिए नहीं !!

उसके बाद वो नौकरानी की जबरदस्त चुदाई करता रहा। 

नौकरानी की रसीली गांड आगे पीछे हिलते देख अब मेरा भी लिंग तन गया। चुदाई देखते देखते शाम से रात हो गई और मैं वही अपना लंड पकड़ के उन्दोनो को सेक्स करता देखता रहा। 

मेरा हवसी पडोसी कभी उसकी गांड में थूक लगा कर चुदाई करता तो कभी अपने लंड पर थूक कर चुत की चुदाई। उसे इतनी हवस चढ़ी थी की सेल ने कंडोम भी नहीं लगा रखा था। 

वो नौकरानी की गांड चुदाई करता हुआ पीछे से उसके ब्लाउज में हाथ डाला और उसके दोनों स्तन फर्श की तरफ नीचे खींचने लगा। 

पडोसी – तेरे दूध तो काफी लटके हुए है सुच बता कौन कौन चूसता है तुझे ? 

नौकरानी – मेरे दो बच्चे है साहब !!

पड़ोसी – अरे क्या बात है फिर तोह दूध भी होगा !!

नौकरानी – नहीं मालिक ऐसा मत करो ये दूध बच्चो के लिए है। 

पडोसी – तो क्या हुआ तेरी तो दूध की दो फ़ैक्टरी है !!

ये बोलने के बाद उसने जल्दी से नौकरानी का ब्लाउज खोला और उसके रसीले स्तन खींच खींच कर दूध निकालने लगा।  

मैं ऊपर से नौकरानी और मालिक की चुदाई देख कर अपना लंड भी हिलाने लगा। मैं ऊपर था इसलिए नौकरानी के कामुक स्तन नहीं देख पा रहा था। जब वो आगे पीछे और दाये बाये हिलते तो मुझे थोड़ी सी झलक दिख जाती। 

पर नौकरानी की रसीली गांड नई ही मेरे लैंड का पानी निकाल दिया था। थोड़ी देर में ही नीचे का फर्श नौकरानी के दूध दे सफ़ेद हो गया और नौकरानी उसके लंड के साथ साथ स्तनों का दर्द भी सहने लगी। 

कुछ देर चुदाई के बाद पडोसी ने उसके फर्श पर पीठ के बल लेटाया और उसकी चुत में लंड दे कर धके लगाने लगा। तब जाकर मुझे उसके स्तनों के दर्शन हुए। 

जिस तरह से वो उसके स्तन हाथो से दबा दबा कर दूध निकाल रहा था मेरे भी हाथो में तेज खुजली मचने लगी। 

नौकरानी भी खूब मजे से पनि चुत मालिक को दे रही थी और उसे इस बात की कोई शर्म नहीं थी। क्या पता लॉकडाउन की वजह से उसे पेसो की जरूरत हो इस लिए वो ये सब सहन कर रही हो। 

मैं ऊपर से नौकरानी के स्तन और सही गोलाई वाली पतली कमर और मोटी जंघे देख अपना लिंग तेजी से हिला रहा था।   

ऐसा लग रहा था की जैसे नौकरानी की जबरदस्ती चुदाई हो रही हो पर नौकरानी को उस हवसी हवन का हाथ अपने जिस्म पर काफी अच्छा लग रहा था। 

वो हर एक हरकत का कामुक तरीके से जवाब दे रही थी। एक नौकरानी का ऐसा रूप देख मेरी गांड फटी की फ़टी रह गई। 

रात हो गई थी और अब नीचे जलने वाले ब्लफ की रौशनी जाली से ऊपर आ रही थी जहा से मेर चेहरा दिखने लगा।

अब नौकरानी पीठ के बल लेटी कभी अपनी गांड चुदवा रही थी तो कभी चुत। लेटे लेटे उसने मुझे देख लिए और चीला कर बोली मालिक हमें कोई ऊपर से देख रहा है। 

पर मेरा पड़ोसी तो गांड चोदने में लगा था शायद वो अपना चरम सुख प्राप्त करने वाला था इसलिए वो बस नौकरानी की गांड में लंड देकर धके पर धके लगाए जा रहा था। 

नौकरानी चीला चीला कर उसे धका मारने लगी तो उसे होश आया। 

पडोसी ने जैसे ही ऊपर देखा मैं वहा से भाग गया। तो दोस्तों ये थी मेरी लॉकडाउन में नौकरानी और मालिक की चुदाई कहानी। उसके बाद वो नौकरानी डर गई की अब ये बात मोहोल में फेल जाएगी इसलिए उसने हमारे यहाँ के सभी घरो का काम छोड़ दिया। 

पर आखिर में मेरे हाथ मेरा ही लंड लगा। मेरे पड़ोसी का क्या है आज नहीं तो कल वो कोई और पटा लेगा या रंडी बुला लेगा। और कुछ नहीं तो बीवी की फटी चुत दोबारा चोद लेगा। 

और मैं वही का वही अपना लंड हिलाता रहुगा। दोस्तों मेरे लिए विश करना की मुझे एक कामुक और सबसे प्यारी बीवी मिले।