गर्ल्स हॉस्टल में गंदी मस्ती भाग – 2

लड़कियों को शारीरिक संतुष्टि के लिए हर समय आदमियों की आवश्यकता नहीं पड़ती है। महिलाएं स्वयं संतुष्टि के जरिए भी प्रसन्नता और वासना सुकून प्राप्त कर लेती है। गर्ल्स हॉस्टल वह जगह है, जहां पर केवल लड़कियां ही रहती हैं और वह अपनी पढ़ाई पूरी करने कॉलेजों में दाखिला लेती हैं। 

जैसा कि हम सभी जानते हैं, जवान खून, नया जमाना, कई सारी मस्तियां करता है, हॉस्टल और कॉलेज में। ऐसी ही कुछ मस्तियां के दो लड़कियों ने अपने गर्ल्स हॉस्टल के कमरे में। यह गर्ल्स हॉस्टल में गंदी मस्ती का दूसरा भाग है।

पहला भाग यहां पर [ गर्ल्स हॉस्टल में गंदी मस्ती भाग – 1 ] है आप इसे पढ़ें, फिर दूसरे भाग को पढ़े, तो आपको ज्यादा मजा आएगा।

और ये दोनों साहित्य Lesbian Sex Story in Hindi में है। तो आपको ज्यादा और बढ़िया समझ भी आएंगी और साथ ही मज़ा भी आएगा।   

मेघना और रजनी दो लड़कियां थी, जिन्होंने एक साथ स्वयं संतुष्टि प्राप्त की अपने गर्ल्स हॉस्टल के कमरे में। इन दोनों ने अश्लील तस्वीरें देखते-देखते खुद को गर्म किया। 

और फिर दोनों ने एक दूसरे को शारीरिक संतुष्टि प्रदान की, जो कि बहुत ही वासना पूर्वक थी। जब मेघनाथ और रजनी ने यह कांड कर लिया था परंतु उन्हें फिर भी संतुष्टि ना मिले। क्योंकि अंतर्वासना कभी खत्म नहीं होती और वह एक आवश्यकता बन जाती है। 

कामवासना है क्या ऐसी आवश्यकता बन जाती है जो हमें लगातार हर बार चाहिए होती है। तो इन लड़कियों ने पहली बार तो स्वयं संतुष्टि प्राप्त कर ली परंतु उनकी वासना बार-बार जाग रही थी। क्योंकि इन लड़कियों को अंतर्वासना का स्वाद मिल गया था जिसे वह बार-बार चखना चाहती थी। 

ऐसे ही मेघना ने कॉलेज के वक्त रजनी से बोला – चलो आज फिर करते हैं। 

रजनी ने बोला – क्या करते हैं, तुम क्या करना चाहती हो? 

मेघना ने बोला – यार! उस रात जो किया था, जिसका एक अलग ही अहसास था। रजनी – हां! यह बात तो सच है, मुझे भी बहुत आनंद आया। 

रजनी – लेकिन हमें यह बार-बार नहीं करना चाहिए, यह गलत है… 

मेघना – इसमें गलत ही क्या है? हम आज के जमाने की लड़कियां है, और आज के समय  पर यह सब आम बात है। 

मेघना ने बोला – क्या फर्क पड़ता है, अगर मैं एक ऐसी लड़की हु, जिसे लड़के और लड़की दोनों में दिलचस्पी है। 

रजनी – लेकिन, मुझे सिर्फ लड़कों में ही दिलचस्पी है और मुझे लड़कियों से कुछ ज्यादा खास फर्क नहीं पड़ता। 

मेघना ने हंसते हुए बोला – अगर तुम्हें फर्क नहीं पड़ता, तो उस दिन तुम मेरे चिपट नहीं जाती। 

अपना लंड खड़ा करने के लिए हमें इंस्टाग्राम पर फॉलो करे !!

follow antarvasnastory on instagram

और तुम तो मुझे किसी वासना प्यासे की तरह चूस रही थी। तो रजनी बेटा क्या तुमको अभी भी मजा नहीं आया, उसमें दिलचस्पी नहीं है…. 

रजनी कुछ वक्त शरमाई और बाद में वह मान गई। 

हॉस्टल की रात मेघना एक बहुत ही सुंदर ड्रेस पहन के आई और साथ में वह कुछ सामान भी ले कर आई। 

रजनी ने उससे पूछा – तुम तो आज बहुत प्यारी लग रही हो, और तुम्हारे हाथ में यह सामान कैसा है? 

मेघना ने बोला – यही वह समान है, जो आज हमारी रात और भी ज्यादा रंगीन करेगा।

उस पैकेट में से दो पेप्सी की बोतल, एक चॉकलेट, और एक लंबा सा नकली लंड खिलौना था। 

रजनी उस वक्त खिलौने को देखते ही बहुत ही हैरान हो गई! 

और रजनी ने पूछा – तुम्हें यह कहां से मिला? 

मेघना ने बोला – चल यार, इतना नाटक मत कर ऑनलाइन सब कुछ बिकता है आजकल। 

फिर दोनों ने एक बहुत ही रोमांटिक गाना चला दिया और दोनों एक साथ डांस करने लगी। नाचते-नाचते दोनों का धीरे-धीरे माहौल और मूड बनने लगा और दोनों ने पेप्सी पी। 

इसके बाद रजनी ने चॉकलेट का एक हिस्सा अपने मुंह में डाला और दूसरा हिस्सा रजनी के मुंह में डाल दिया। दोनों ने चॉकलेट के दोनों कोने अपने-अपने मुंह में पकड़ रखे थे। और वे दोनों एक साथ उसका लुफ्त उठा रही थी। 

फिर थोड़ी सी पिगली हुई चॉकलेट, मेघना ने अपने मुंह से रजनी के मुंह में डाली एक चुम्मा लेते हुए। 

दोनों एक-दूसरे से चिपक गई और दोनों के बदन से बदन लड़ गए। मेघना का हाथ रजनी की गांड पर था, और रजनी का हाथ मेघना के बड़े-बड़े स्तनों पर था। रजनी मेघना की चूचियों को बहुत ही जोर से दबा रही थी। जिससे मेघना और भी ज्यादा उत्तेजित हो रही थी और उसकी Antarvasna बढ़ती जा रही थी, और उसने रजनी को बिस्तर पर लेटा दिया। 

फिर वो रजनी की योनि चाटने के लिए बड़ी और उसके मुंह में लगी हुई थोड़ी सी चॉकलेट, उसने रजनी की चूत पर थूक दी। और फिर रजनी की चूत का लुफ्त उठाते हुए उसकी योनि चाटने लगी। 

फिर रजनी ने मेघना से बोला – आज मैं भी करूंगी। 

और रजनी ने मेघना को लेटा कर उसकी योनि चाटने लगी। परंतु योनि चाटने के साथ उसने अपने दोनों उंगलियां मेघना की चूत में घुसा रखी थी। और वो अपनी उंगलियां बहुत जोर-जोर से अंदर बाहर कर रही थी, उसकी चूत को चाटते हुए। 

इस क्रिया से मेघना को बहुत ही आनंद आ रहा था और वह रजनी से बोलने लगी – रजनी! बहुत ही मजा आ रहा है और जोर से करो….  

यह सुनने के बाद रजनी ने अपनी दो उंगलियों की बजाय, अपनी पांचों उंगलियां मेघना की चूत में घुसा दी। 

इस प्रचंड क्रिया के बाद रजनी एकदम से हक्की-बक्की रह गई। 

मेघना दर्द में बोली – यह तुम क्या कर रही हो? 

रजनी ने बोला – यह तो मीठा दर्द है, तुम्हें अभी इससे और ज्यादा मजा आएगा। और वह अपनी पूरी मुट्ठी को मेघना की चूत में अंदर-बाहर करने लगी। और इससे रजनी को कई बार चरम सुख की प्राप्ति हुई। 

उसने अपनी जिंदगी में कभी भी इतना बड़ा चरम सुख का आनंद नहीं लिया था। और उसका चेहरा पूरा लाल हो गया था, आंखों से आंसू निकल रहे थे ,नाक से पानी बह रहा था। 

क्योंकि उस क्रियाकर्म की संतुष्टि इतनी ज्यादा प्रचंड थी। और जैसे ही मेघना एकदम टूट गई रजनी ने अपनी मुट्ठी मेघना की चूत से बाहर निकाल ली। मेघना की चूत में गुफा बन गई थी, और उसकी योनि में भोकला हो गया था। 

मेघना जैसे-जैसे सांसें भर रही थी, वैसे-वैसे उसकी चूत भी सांस ले रही थी।

इसके आगे की XXX Porn Story अगले भाग में आएगी तब-तक के लिए हमारी वेबसाइट पर और दूसरी जबरदस्त कहानियों का मजा ले। 

इस सीरीज का तीसरा भाग है – [ गर्ल्स हॉस्टल में गंदी मस्ती भाग – 3 ]

इसका तीसरा भाग और भी ज्यादा मस्त और जबरदस्त होने वाला है, तो हमारी वेबसाइट पर आते रहे।

error: Content is protected !!