घर का मजदुर और मेरी गांड भाग 2

अब धीरे धीरे वो मेरी चुत पर अपना लिंग रगड़ने लगा तो डर गई की कही ये मुझे ठोकने तो नहीं वाला ? दोस्तों ये मेरी कहानी का दूसरा भाग है अगर अपने पहला वाला नहीं पड़ा तो नीचे दिए गए लिंक पर जाकर पढ़े।

घर का मजदुर और मेरी गांड भाग 2

अब मजदुर ने अपना लंड मेरी चुत में घुसा दिया था। मैं छोटी की कुर्सी पर घोड़ी बनकर बैठी रही और वो मेरे अंदर लंड देता चला गया। मुझे काफी मजा आ रहा था पर मैं करती भी क्या दोस्तों।

मजदुर धीरे धीरे पागल सा होने लगा उसने मेरी कमर जकड़ी और जोर से धाकरे लगा कर मेरी चुत चोदने पर उत्तर आया। इस तरह उन्होंने मेरी खूब गांड मरी और मेरी चुत का पता नहीं क्या बना डाला।

मैं कभी दर्द से चिलाती तो कभी आनंद से हस्ती मुझे पता नहीं क्या हो रहा था।

उसके बाद जब मैं थक गई और मैं कुर्सी से नीचे गिर गई। पर मजदुर ने मुझे प्यार से उठाया और मेरे कमरे में ले गया। अंदर जाते ही उसे मेरा बिस्तर दिखा तो उसने मुझे वहा लेटाया और मेरी जंघे खोल कर मुझे नीचे से चाटने लगा।

भाभी ने चूत में बेलन ले लिया!! 😱🤪

उफ़ उफ़ क्या मजा आ रहा था अह्ह्हम्म्म !!

उह्ह्ह ऊह्ह्ह ाफ्फफ्फ्फ़ !!!

फ़क !!

मजदुर – मैडम जी केसा लग रहा है ?

अह्ह्ह !!!

मजदुर – मैडम अपनी बुर स्वाद है !!

अह्ह्ह्ह उफ्फ्फ !!

अपना लंड खड़ा करने के लिए हमें इंस्टाग्राम पर फॉलो करे !!

follow antarvasnastory on instagram

दोस्तों अब धीरे धीरे मेरा मलाई निकलने लगा तो मजदूर समज गया की अब चुदाई का सही वक्त है।

उसने अपने हथोड़े को पकड़ा और मेरे अंदर घुसा दिया। अंदर घुसा कर वो अपने गंदे और मर्दाना हाथो को मेरे शरीर पर चलाने लगा।

उस दिन काफी मजा सा आया। उसका लिंग मेरे अंदर तबाही मजा रहा था। देखते ही देखते वो पसीने से भर गया और मैं लाल हो गई।

कुछ देर बाद चुदाई करते हुए उसने मेरा पैर पकड़ा और मेरा उंगूठा चूसने लगा। वो अपणु जुबान से मुझे पता नहीं कहा कहा चुम रहा था जो मैं बता भी नहीं सकती।

धीरे धीरे उसने मुझे अपने हाथो से दबाना शुरू कर दिया। उसने मेरे ठन पकड़े और मुझे निचोड़ता हुआ छोड़ने लगा। मेरी पूरी छाती लाला सी हो गई। मैं तक गई परेशां हो गई पर उसकी न सासे फूली और न लंड थका।

कुछ देर बाद उसने मुझे पलटा और मेरे ऊपर चढ़ कर मेरी खुदाई करने लगा।

मैं तो हैरान परेशां हो गई। धीरे धीरे चुत में दर्द होने लगा और मुझे मजा आने लगा। वक्त के साथ साथ ऐसा लग रहा था की उसका और ज्यादा बड़ा होता जा रहा है।

अंदर काफी टाइट और कड़ा लिंग लेकर मुझे लगा की मैंने गलती कर दी। धीरे धीरे चुत मेरे झड़ने लग गई।

चुत पर झापड़ भाग – 1 👋

मजदुर मेरे ऊपर कूद कूद कर मेरी गांड चुत में लंड दिए जा रहा था और मुझे पीछे से गर्दन पर चुम रहा था।

मेरी गांड तो लाल हुई ही उसके साथ भार से मनो मेरी कमर ही टूट गई हो। मजदुर ने गंदे होठ और बदबू से भरी सासे मुझे काफी अच्छी लग रही थी। उसने अपने होठो से मेरी गर्दन को गीला कर डाला।

पुरे कमरे बस चुत लंड की बू फैली हुई थी और घर में चुदाई की आवाजे गूंज रही थी।

जल्द ही मैं अपनी चरम सीमा के पास आ पहुंची और चुत से पानी निकाल बैठी। उसके बाद तो मजदूर साला पागल ही हो गया। मेरे कोमल और नजर शरीर को ऐसे जकड़ा ऐसे मुझ जैसी लड़की उसे कभी नहीं मिलने वाली।

उसने मुझे जकड़ा और पूरा जोर लगा कर चोदता रहा।

उसके पागल पन से पूरा बिस्तर हिलने लगा और मैं आनंद से तड़प पड़ी।

पर वो रुका नहीं उसका गठीला शरीर काफी हॉट था और मुझे चुदाई का पूरा मजा दे रहा था। मेरी चुत पर सफ़ेद झांग सी उठने लगी वो मुलायम चुत को चोदता रहा।

पूरी चुदाई के दौरान उसका लिंग वैसे का वैसा पथर सा हो रखा था।

इसी तरह चुदाई चलती रही और अंत में उसका निकल गया। उसने अपने हाथो से मेरी बाहो को जोर से पकड़ा और चिलाने लगा।

मजदुर – यहहहह ुह्ह्ह्ह अह्ह्ह्हह !!!

मैं डर गई और सोचने लगी की अब इसे क्या हो गया ?

मजदुर – अहह अह्ह्ह उह्ह्ह्ह साली रंडी !!

उसी पल मुझे अपने अंदर कुछ गर्म गर्म सा महसूस होने लगा और तब मैं समज गई की इसने मेरे अंदर छोड़ दिया।

मैं अचानक उठ खड़ी हुई और नीचे देखा तो मजदूर का गन्दा पानी मेरी चुत से बाहर निकल रहा था।

ट्यूशन वाली दीदी की चुत चाट कर आया !! भाग-1 😛

ये देख मजदूर समज गया की उसने क्या किया है !!

जब लंड बैठा तो वो दिमाग से सोचने लगा और वहा से भाग निकला।

मैं भी डर गई की ये मैंने क्या किया। पर कुछ देर बाद मैंने अपनी सहेली को फ़ोन किया और उसने मुझे बच्चा रोने वाली दवा बता दी।

मैंने जल्दी से कपड़े पहने और बाहर दवा लेने जाने लगी तभी पापा और मम्मी हॉस्पिटल से घर आ गए।

घर आते ही उन्हें चुत लंड की बू आने लगी जो पुरे घर में फैली थी।

बू सूंघते हुए वो मुहे देखने लगे।

अब दोस्तों अपनी Hindi Sex kahani मैं यही खत्म करना चाहती हूँ। आगे जो हुआ अच्छा नहीं हुआ था मेरे साथ। उमेद है आपको मेरी हॉट कहानी पसंद आयी होगी।

error: Content is protected !!