छोटी बहू की पहली सुहागरात!

लखनऊ में रहने वाले राज ठाकुर के छोटे बेटे प्रताप ठाकुर ने शादी कर ली है। पहली बार छोटी बहू उस घर में कदम रख रही है जिसका नाम निशा है। निशा बहुत ही प्यारी और सुंदर होने के साथ-साथ हॉट भी है। परंतु निशा यह शादी नहीं करना चाहती थी उसकी शादी जबरदस्ती उसके मां-बाप ने करा दी।

अब उसका पति उसके साथ केसा व्यबहार करता है इस First Time Sex Story को पढ़कर जाने।

निशा एक आज के जमाने की लड़की थी जो कि लव मैरिज में यकीन रखती थी परंतु उसके घर वालों ने उसकी अरेंज मैरिज करा दी।

शादी भी बहुत ही धूमधाम से हो गई और उन दोनों का घर प्रवेश भी हो गया। अब बारी थी सुहागरात की, अब बारी थी छोटी बहू की पहली सुहागरात की।

निशा बहुत ही घबराई हुई थी क्योंकि यह उसका पहली बार था और यह शादी उसकी मर्जी के खिलाफ भी हुई थी।

निशा का पति प्रताप एक हट्टा-कट्टा आदमी था और यह लखनऊ के अमीर परिवारों में से एक है। जैसा कि हर लड़का अपनी पहली सुहागरात में बहुत ही रोमांच से भरा होता है, वैसे ही प्रताप भी अति रोमांच से भरा हुआ था।

उसे यह सोच सोच कर बहुत ही मजा आ रहा था कि उसकी शादी एक प्यारी और हॉट लड़की से हो गई है। वह अपने मन में ही सोच रहा था कहां – मैं बारवी पास और कहां वह b.a. पास एक पढ़ी-लिखी हॉट लड़की।

मेरी तो जिंदगी ही बन गई और अब तक मैं सुहागरात की कहानियां Indian Desi Sex Stories में पढ़ता था परंतु आज वह दिन है जब मैं खुद यह सब करूंगा।

प्रताप अपने कमरे में जाता है जहां पर छोटी बहू उसका इंतजार कर रही थी फूलों से सजे बिस्तर पर। वे अंदर घुसता है और निशा के पास बैठ जाता है रीति रिवाजों के हिसाब से निशा उसे दूध देती है।

प्रताप वह दूध नहीं पीता और वह उसे निशा को पिला देता है।

निशा बोलती है – यह दूध आपके लिए है।

प्रताप ने बोला – मैं दूध नहीं पीता इसे तुम पी लो तुम्हें काफी ताकत बचानी है।

और प्रताप 3 – 4 शारीरिक सक्ति ड्रिंक निकालता है जिसे वह सारी की सारी पी जाता है। इस ऊर्जा से भरे ड्रिंक को पीकर प्रताप के अंदर वासना ऊर्जा भर जाती है।

फिर प्रताप निशा के पल्लू उठाता है और बड़ी ही वासना भरी नजरों से उसके बड़े बड़े स्तनों को देखकर उसके ब्लाउज के बटन खोलना चालू कर देता है।

निशा को यह सब पसंद नहीं आ रहा होता है और वह बहुत ही उदास बैठी हुई होती है।

प्रताप पुझता है – क्या हुआ तुम इतनी उदास क्यूं हो, मेरा मजा खराब मत करो!!

निशा कहती है – मैं यह शादी नहीं करना चाहती थी मेरी अरेंज मैरिज करा दी!

प्रताप बोलता है – तो क्या हुआ अरेंज मैरिज करा दी, क्या मैं दिखने में सुंदर नहीं हूं, क्या मेरे पास पैसा नहीं है, और तुम्हें लगता है कि क्या मैं तुम्हें प्यार नहीं दूंगा।

निशा प्रताप की आंखों में देखती है और कहती है – नहीं वह बात नहीं है!!

प्रताप – फिर तुम्हें किस बात की फिक्र है मैं एक बहुत ही अच्छा पति बनूंगा और अगर तुम्हें ज्यादा टेंशन है, यह लो बची हुई एक ऊर्जा ड्रिंक तुम भी पी लो।

निशा के अंदर भी वासना इच्छाएं बढ़ जाती हैं उस वासना ऊर्जा ड्रिंक को पीने के बाद।

और दोनों की आंखें लड़ जाते हैं दोनों बस एक दूसरे की आंखों में ही देखते रहते हैं फिर दोनों एकदम से चिपक जाते हैं।

निशा और प्रताप में चुम्मा चाटी-चालू हो जाती है और वह एकदम लिप-लॉक किसिंग कर रहे हैं। दोनों एक दूसरे के होंठों को आइसक्रीम की तरह चूसे जा रहे हैं।

निशा प्रताप के होंठों को चूस रही है और प्रधान निशा की जबान को चूस रहे दोनों एक दूसरे को वासना रस प्रदान कर रहे हैं।

फिर प्रताप निशा को धीरे-धीरे करके पूरा नंगा कर देता है और उसके स्तनों को पीने लग जाता है।

निशा – आ! आ! आ!

प्रताप फिर उसके पेट को चूमने लग जाता है और धीरे-धीरे करके निशा की योनि तक पहुंच कर उसकी योनि को चाटने लगता है।

निशा एकदम सर्वप्रथम आपका चेहरा पकड़ लेती है और उसे हटाने की कोशिश करती है परंतु प्रदान नहीं हटता और उसकी चूत को चाटने लगता है।

निशा – आ! आ! आह! आह! ऊह…!

निशा के ऊपर कामवासना पूरी तरह से हावी हो रही है और उसकी अंतर्वासना बस चुदाई मांग रही है।

इस एहसास प्रताप समझ जाता है और वह अपना बड़ा लंड निकालता है उसके ऊपर थोड़ा सा थूक लगाकर निशा छोटी बहू की पहली सुहागरात की चुदाई चालू  देता है।

प्रताप का बड़ा लंड निशा की छोटी सी चूत में धीरे-धीरे घुस रहा था परंतु, पूरा अंदर नहीं जा रहा था।

प्रताप – अरे यार!! कितनी टाइट चूत है!!!

निशा – ऐसी गंदी बातें मत करो… यह मेरा पहली बार है!!

प्रताप धीरे-धीरे करके अपना पूरा लंड निशा की चूत में घुसा देता है।

निशा को बहुत ही ज्यादा दर्द हो रहा था वह और वो एकदम से चीज पड़ती है तो प्रताप उसका मुंह दाब देता है।

निशा – बहुत दर्द हो रहा है… प्रताप…!!

प्रताप – कोई बात नहीं अभी थोड़ी देर में मजा भी आएगा!!

और प्रताप निशा को चूमना चालू कर देता है और बहुत ही धीरे-धीरे आहिस्ता से अपने लंड को निशा की चूत में हिलाना चालू कर देता है!!

निशा – आ… आ…  बहुत दर्द हो रहा है….!!!

लेकिन प्रताप उसकी बात पर ध्यान नहीं देता क्योंकि प्रताप की भी यह पहली बार चुदाई हैं और उसे चुदाई करने में बहुत मजा आ रहा था।

वह अपना पूरा लंड निशा की चूत में घुसा कर उसकी जुदाई जोर जोर से करने लग जाता है।

तो निशा बोलती है – अपना लंड बाहर निकालो मुझे बहुत दर्द हो रहा है!!!!!

परंतु प्रताप उसकी बात नहीं सुनता और उसके स्तनों को दबाना चालू कर देता है जुदाई करते करते।

धीरे-धीरे करके कामवासना निशा जो पर भी हावी होने लगती है और उसे चुदाई में मजा आने लग जाता है।

निशा सुकून भरी आवाज निकालते हुए – आ आ आ आ आ आ आ आ!!!

यह सुनकर प्रकाश समझ जाता है कि आप उसे भी मजा आ रहा है तो वह निशा की जबरदस्त चुदाई करना चालू कर देता है।

निशा – प्रताप… आ… तुमने एकदम से रफ्तार क्यों बढ़ा दी… प्रताप?!!!

प्रताप – अरे! अब तो, तुमको मजा आ रहा है ना और चलो इस वासना में डूब जाए हम दोनों।

दोनों कामुकता के प्यार में बह चुके हैं और दोनों में कामवासना की सारी हदों का आनंद लेना चालू कर दिया है।

प्रताप निशा की जबरदस्त चुदाई कर रहा होता है और उसकी चूची को भी साथ में पी रहा होता है और साथ में उसे चूम बिरहा होता है।

निशा अपने दोनों पैरों से प्रताप को कस लेती है और प्रताप उसकी और जबरदस्त चुदाई करना चालू कर देता है।

बस कुछ ही देर में दोनों को चरम सुख की प्राप्ति होने वाली थी। तो प्रताप निशा की और जबरदस्त घचाघच चुदाई करना चालू कर देता है। निशा को इतनी जोर जोर से चोदने लग जाता है कि पूरा बिस्तर हिलने लगता है।

फिर कुछ ही क्षण में प्रताप और अनुसार दोनों को चरम सुख की प्राप्ति होती है और प्रताप अपना सारा माल निशा की चूत में झाड़ देता है।

प्रताप – आ आ आह ओह्ह!!

निशा – आह… आह… आ… आ… आह…..!!!!!

इसके बाद निशा प्रताप की बाहों में लेटी प्रताप को चूम रही होती है।

और कहती है लगता है भगवान ने मेरी जोड़ी एक बहुत ही बढ़िया आदमी के साथ बनाई है। जोकि मुझे हर एक तरह का सुख देगा।

प्रताप – हां बिल्कुल! मैं तुम्हें दुनिया की हर एक खुशी या दूंगा मैं तुम्हें बहुत ही पसंद करता हूं, और मुझे तुमसे प्यार हो गया है।

यह बोलने के बाद दोनों में एक प्यार की लहर दौड़ जाती है और दोनों एक दूसरे से चिपके नंगे सो रहे हैं।