चांदनी रात में पहली सुहागरात की रंगीन चुदाई 

पहली सुहागरात की XXX Hindi Story जोकी बहुत ही मजेदार है। यह इन दोनों की पहली चुदाई की रंगीन है। जिसमे पति अतिउत्तेजित होकर अपना अंगूठा पत्नी की गांड में घुसा देता है और पत्नी बहुत ही जोर से चिल्ला उठती है। 

इस पहली सुहागरात की रंगीन चुदाई कहानी में हम आपको एक नई नवेली शादी की जुड़े की सुहागरात के बारे में सुनाइगए। सुहागरात वह हसीन पल है जिसका इंतजार हर पुरुष और महिला करती है। 

सुहागरात हम शादी होने के बाद मनाते हैं उसको काफी सुंदर रात मानी जाती है मर्द और महिला के लिए। कई आदमी तो बस एक सुंदर बीवी के साथ सुहागरात के ही सपने देखते रहते हैं। ऐसा ही एक व्यक्ति था अर्जुन। 

वह एक बहुत ही अच्छा और खूबसूरत आदमी था जिसका बहुत बड़ा कारोबार था। परंतु हर जवान लड़के की तरह वह भी एक सुंदर लड़की के साथ सुहागरात बिताने के सपने देखता था। 

हर लड़के की तरह उसके अंदर भी बहुत सारी काम वासनाओं की इच्छाएं थे। अर्जुन की मुलाकात एक लड़की से हुई जब वह कारोबार के सिलसिले में बाहर गया हुआ था। लड़की देखने में बहुत ही खूबसूरत जवान और आकर्षक थी। मेरी Antarvasna Kahani पढ़ कर अपने दोस्तों के साथ जरूर शेयर करना। 

अर्जुन को पहली नजर में देखते ही उस लड़की से प्यार हो गया। और दोनों की यह पहली टकरार प्यार में बदल गई जब दोनों की एक-दूसरे से आँखें मिली। उस लड़की को भी अर्जुन से पहली नजर में प्यार हो गया और दोनों ने यह ठान लिया कि एक दूसरे से ही शादी करनी है। 

फिर अर्जुन ने यह प्रस्ताव अपने मां-बाप और उस लड़की के मां-बाप को रखा और कहा कि हम दोनों शादी करना चाहते हैं। 

उन दोनों के मां-बाप मान गए क्योंकि वह सब खुले विचारों वाले व्यक्ति थे, और वह अपने बच्चों की खुशियों को महत्व देते थे। फिर पूरा परिवार दोनों की शादी करने में लग गया। 

उस लड़की का नाम सीमा था और उन दोनों ने खूब धूमधाम से शादी करी। जिस दिन इन दोनों की शादी हुई थी वह बहुत ही खुशनुमा दिन का और सब ने बहुत ही ज्यादा मजा किया था। खाना भी बहुत ही अच्छा था और लोगों को शादी भी बहुत ही पसंद आई थी। 

यह कार्यक्रम खत्म होने के बाद अब आया सुहागरात की हसीन रात। सीमा जो किया उसकी पत्नी बन चुकी थी वह अपना पल्लू संभाले। अपने पति अर्जुन का इंतजार बिस्तर पर कर रही थी। उनका बिस्तर बहुत ही सुंदर तरीकों से सजा हुआ था फूल और चमक-धमक से। 

अर्जुन बाहर अपने दोस्तों के साथ बातचीत कर रहा था अपनी पहली सुहागरात को लेकर। उसके दोस्त उससे कह रहे थे – यार! तू तो बहुत ही नसीब वाला है। तेरी बीवी इतनी सुंदर और आकर्षक है, कि बस उनको देखकर मजा ही आ गया। 

अर्जुन बोला – क्या बोल रहा है? भाभी है वो तेरी अब। 

उसके दोस्तों ने बोला – हां पता है चल एतो बताओ सुहागरात का क्या प्लान बनाया है?

अर्जुन ने बोला – कैसा प्लान, सुहागरात के लिए प्लान भी करा जाता है क्या? 

उसके दोस्तों ने बोला – हां भाई! करा जाता है, क्योंकि आज तेरी पहली सुहागरात जो है। 

अपना लंड खड़ा करने के लिए हमें इंस्टाग्राम पर फॉलो करे !!

follow antarvasnastory on instagram

फिर उसके दोस्तों ने अर्जुन को एक पान दिया। 

अर्जुन ने बोला – यह पान क्यों दे रहे हो? मेरी सुहागरात है भाई। 

दोस्तों ने कहा – अरे भाई! यह पान कुछ खास है। 

अर्जुन – खास मतलब, क्या मिला दिया इसके अंदर? 

उसके दोस्तों ने बताया इस पान  के अंदर देसी वायग्रा मिली हुई है। अगर तुम इसे खाओगे, तो तुम्हारी सुहागरात और भी रंगीन और हसीन बन जाएगी, कसम से। 

अर्जुन ने अपने दोस्तों पर भरोसा किया और वह पान खा लिया। 

फिर सब लोगों ने मिलकर अर्जुन को उसके सुहागरात वाले कमरे में धक्का दे दिया। अर्जुन बहुत ही खुश था, क्योंकि उसके ऊपर वायग्रा का असर होने लग गया था। उसकी बीवी सीमा पल्लू ताने बहुत ही नजाकत से बैठी हुई थी। 

जब अर्जुन सीमा के पास गया और उससे बोला – हाय, तुम कैसी हो? 

सीमा ने उसको बगल में रखा हुआ दूध उठा कर दे दिया। और बोली – दूध पी लो।

अर्जुन ने एक तो वायग्रा वाला पान खा रखा था और उसके ऊपर से वह दूध भी पी लिया। अर्जुन पूरे तरीके से कामवासना में बह गया था और उसके जोश बहुत बड़ गया था। 

उसने सीमा का पल्लू उठाया और उसको बहुत ही जोर से चूमने लगा। सीमा एकदम से हैरान हो गई और उस को धक्का दे दिया। 

सीमा बोली – अरे तुम्हें क्या हो गया? 

अर्जुन बोला – अरे सीमा पगली, क्यों घबरा रही हो? 

मानता हूं, यह हम दोनों की पहली सुहागरात है। चलो अब एक अच्छी बीवी बनो और मेरी बाहों में समा जाओ। 

अर्जुन ने धीरे-धीरे सीमा के ब्लाउज के बटन खोलना भी शुरू कर दिया। और साथी उसे जोर से चुम्मा देने लगा। तू भी यह दोनों हसीन और जवान थे तो इनका चुम्मा भी एकदम फिल्मी स्टाइल का था। 

वे दोनों एक-दूसरे को स्मूच दे रहे थे जबान से जबान लगाकर। यह करते-करते अर्जुन ने सीमा की पेटीकोट के अंदर अपनी उंगलियां डाल दी। और सीमा की चूत में उंगली करने लगा। 

सीमा को बहुत ही मजा आ रहा था – और वह आह!!!!! ऊह!!!!! की आवाजें निकाल रही थी। 

फिर अर्जुन उसकी गर्दन पर चूमने लगा और उसके सारे कपड़ों को धीरे-धीरे करके उतार दिया। सीमा का शरीर बहुत ही आकर्षक और सेक्सी था। 

जिसे देखकर अर्जुन के लंड से पानी टपकने लगा। और उसने सीमा के दोनों टांगों को उठाया और अपने कंधे पर रख लिया। 

फिर धीरे-धीरे उसने अपना लंड सीमा की चूत में घुसाना शुरू कर दिया। सीमा अपने मुंह को दाएं-बाएं हिलाने लगी जो भी है उसका पहली बार था। 

और सीमा बोलने लगी – धीरे डालो धीरे, दर्द हो रहा है। 

अर्जुन – कोई बात नहीं अभी मजा भी आएगा। 

और यह बोल-बोल कर उसने अपना पूरा उसकी चूत में अपने टट्टो तक घुसा दिया।

“सीमा एकदम से चीख परी” और उसके मुंह से निकला “हाय अम्मा“!!!!!!। 

अर्जुन ने उसका मुंह दाब लिया और चुम्मा देने लगा। साथ ही वह सीमा को चोदने भी लगा। 

वो अपना लंड को चूत में अंदर बाहर कर रहा था बहुत ही तेजी से। जितनी बार वह सीमा को ठोक्ता था, उतनी बार सीमा के बड़े-बड़े स्तन ऊपर नीचे हीलते थे। 

यह मंजर देखकर अर्जुन और भी ज्यादा उत्तेजित हो गया और मैं सीमा को और जोर से, बहुत ही जोर से, धकाधक चोदने लगा। 

सीमा के मुंह से आवाजें निकल रही थी – आह!!!!!!!, ऊह!!!!!!!!, मजा आ रहा है, अर्जुन!!! 

“चोदो मुझे, थोड़ा और जोर से चोदो”। 

यह सुनकर, अर्जुन के अंतरवासना और भी ज्यादा उत्तेजित हो गई। और उसने सीमा को डॉगी पोजीशन यानी कुतिया की तरह होने को बोला। सीमा की गांड बहुत ही मोटी और गोल-गोल थी, जिसे देखते ही अर्जुन ने अपना लंड घुसा दिया। 

सीमा एकदम से बोली – “जरा धीरे करो। तुम बहुत ही जल्दी घुसा देते हो”। 

अर्जुन – क्या करूं? तुम हो ही इतनी सेक्सी और हॉट। 

और वह सीमा की कमर पकड़ कर उसकी गांड को जोर-जोर से ठोकने लगा। जितनी बार वो सीमा को ठोक रहा था, उतनी बार सीमा शरारती और कामवासना वाली आवाजें निकालते थे। 

जिसे सुनकर कोई भी पुरुष और भी ज्यादा उत्तेजित हो जाता है। 

और “अर्जुन ने अतिउत्तेजित होकर अपना अंगूठा सीमा की गांड में घुसा दिया”। 

सीमा बहुत ही जोर से चिल्ला उठी। 

और बोली, – अर्जुन क्या कर रहे हो? मेरी गांड का छेद बड़ा कर दोगे क्या? 

लेकिन जो भी कर रहे हो, बहुत मजा आ रहा है…… “चोदो मुझे“। 

अर्जुन उसे और जोर से चोदने लगा धकाधक और साथ में उसकी गांड पर थप्पड़ भी मारने लगा। और जैसे ही अर्जुन का झड़ने वाला था, उसने अपना लंड बाहर निकाल कर उसकी कमर पर झाड़ दिया। 

परंतु अर्जुन का लंड अभी तक नहीं बैठा और वह डंडे की तरह खड़ा ही था। 

सीमा – तुम्हें क्या हो गया? अभी-अभी तुमने अपना माल निकाला है। लेकिन तुम्हारा लंड अभी भी खड़ा का खड़ा है। 

खुश होते हुए सीमा ने बोला – अर्जुन तुम कितने बड़े मर्द हो! 

अर्जुन ने सीमा को अपने ऊपर बैठाया, मतलब अपने लंड पर बैठाया। और सीमा ने अपनी दोनों टांगों को चौड़ा किया और अर्जुन उसे चोदने लगा। 

इस ऊपर-नीचे पोजीशन में दोनों ही पति-पत्नी को बहुत ही आनंद आ रहा था। अर्जुन उसे एक पागल कुत्ते की तरह धड़ाधड़-धड़ाधड़, दबा-दबा कर चोद रहा था। 

और दोनों को चरम सुख की प्राप्ति हो रही थी कामवासना करते हुए। फिर अर्जुन ने अपना सारा माल, अपना वीर्य सीमा की चूत में डाल दिया। 

और सीमा बहुत ही जोर से बोली – आह!!!!!!!!!!! मजा ही आ गया अर्जुन !! 

फिर दोनों पति-पत्नी बहुत ही थक गए। और सीमा अर्जुन के बाहों में आकर सो गए और दोनों बहुत ही खुश थे। 

हो सकता है की इस Hot Indian Sex Story को पढ़कर आपको अपनी पहली सुहागरात याद आजाये। अगर हा, तो आप हमें अपनी कहानी भेजे। हम उसे पढ़कर अपनी वेबसाइट पैर साझा करेंगे, आपकी पूरी गोपनीयता के साथ। 

error: Content is protected !!