बॉयफ्रेंड ने मेरी बहन को भी नहीं छोड़ा

अंकिता के बॉयफ्रेंड को सेक्स का काफी शोक था। अब अंकिता रोज रोज की सुहागरात से परेशां हो गई तो बॉयफ्रेंड ने अंकिता की बहन के साथ अपनी सेक्स की भूक मिटा डाली। अंकिता का कहना है की उसकी कहानी में मजा तो काफी है पर उसे ज्यादा कामुक आनंद है। अंकिता ने अपनी कहानी बॉयफ्रेंड ने मेरी बहन को भी नहीं छोड़ा में काफी दर्द जेहला और ये तो होना ही था क्यों की अपने बॉयफ्रेंड को अपनी ही बहन के साथ देख कौन कुश होगा भला। 

मेरा नाम अंकिता है और मैं 23 साल की कॉलेज जाने वाली लड़की हूँ। मैंने कभी नहीं सोचा था की मैं अपनी पारिवारिक चुदाई कहानी इतने लोगो तक पहुंचा पाउगी। मैं अन्तर्वासना स्टोरी का धन्यवाद करती हूँ। 

मेरा एक बॉयफ्रेंड था वो काफी गुस्से वाला और मर्दाना था जिस वजह से मैं उस से प्यार कर बैठी। उसे मिलने के कुछ दिनों बाद मैंने उसे खुद अपने दिल की बात बोली और उस दिन के बाद वो मेरा बॉयफ्रेंड बन गया। 

अब हुआ की कुछ महीनों बाद मैंने उसे अपने साथ सेक्स करने दिया और बस वो मेरे कामुक शरीर के लिए पागल हो गया। पहली चुदाई मुझे आज भी याद है। उस दिन उसकी आँखों में मेरे लिए प्यार था पर उसके बाद बीएस हवस। 

उसके बाद जब भी वो मुझे मिलता तो वो मुझे होटल में लेजाने की कोशिस करता। शुरू शुरू में तो मुझे भी मजा अत था पर बाद में जब मेरी योनी में दर्द होना शुरू हुआ तो मुझे समज आया की अब ज्यादा हो रहा है। 

वो मुझे कभी अपनी गाड़ी में चोदता तो कभी होटल में और कभी लाभ तो वो मुझे अपने किसी गंदे दोस्त के फ्लैट में भी चोदा करता था। उसने मेरे कामुक शरीर को चोद चोद के बेहाल कर दिया। अब जब भी मैं अपने आप को शीशे में देखती हूँ मुझे एक चुदक्कड़ रंडी जैसा महसूस होता है।

रोज रोज की चुदाई से मेरी योनी बड़ी हो गई जिसे लड़को की भाषा में चुत का भोसड़ा बनाना भी कहते है। 

अब आप सोचेंगे एक लड़की इस वेबसाइट पर अपनी कहानी वो भी इतने गंदे शब्दों के साथ क्यों लिख रही है ? 

में ये कहानी और इतने गंदे शब्द अपना दिल हल्का करने के लिए बोल रही हूँ। 

अब रोज रोज सेक्स की वजह से मुझे उसके साथ रहना पसंद नहीं था तो मैंने उस से मिलना बंद कर दिया। कुछ दिनों बाद मेरा बॉयफिरंद मुझे पागलो की तरह फ़ोन करने लगा। अब तक मैं उसका फ़ोन नहीं उठा रही थी पर उस दिन मैंने उठा लिया क्यों  की मुझे लगा की कही उसको कुछ हो न गया हो। 

बॉयफ्रेंड – हेल्लो अंकिता ?

मैंने कहा – हाँ बोलो। 

बॉयफ्रेंड – तुम्हे हुआ क्या है ? न फ़ोन उठाती हो न मिलने आती हो !!

मैंने कहा – वो मैं कुछ दिनों से बिजी हूँ इसलिए। 

बॉयफ्रेंड – ओह अच्छा ? 

अपना लंड खड़ा करने के लिए हमें इंस्टाग्राम पर फॉलो करे !!

follow antarvasnastory on instagram

कहानी ज्यादा लबी न हो इसलिए मैं फ़ोन पे हुई बात पूरी नहीं बताना चाहती। फ़ोन पर बात करते करते हमारी लड़ाई हो गई और उसने फ़ोन काट दिया। 

पहले तो मुझे लगा की ये सही मौका है उस से पीछा छुड़ाने का। मैंने सोचा की अगर मैं इसी तरह उस से लड़ती रही तो को अंत में मुझे छोड़ देगा पर ऐसा नहीं हुआ। 

कुछ दिन बाद वो मेरे घर आया और उस वक्त घर पर सिर्फ मैं और मेरी बहन थी। मैं उस वक्त छत पर कपड़े सूखा रही थी तभी मेरी बहन का पहने आया। 

बहन – नीचे आकर देख तेरे से कोई लड़का मिलने आया है क्या तू इसे जानती है ?

मैंने बाहर देखा तो वो मेरा बॉयफ्रेंड था और मैंने अपनी बहन को कहा बोलदे मैं घर पर नहीं हूँ। 

मेरी बहन ने दरवाजा खोला और उसे कहा ” दीदी घर पर नहीं है आपको कुछ काम है तो मुझे बोल सकते है ! “

बॉयफ्रेंड – नहीं मुझे अंकिता से ही बात करनी है क्या तुम्हे कुछ पता है वो कहा गई है। 

बहन – नहीं। 

बॉयफ्रेंड – क्या मैं कुछ देर अंदर रुक कर उसका इंतजार कर सकता हूँ ? मुझे कुछ जरुरी काम है।

न जाने क्यों मेरी बहन ने उसे हाँ बोल दिया और वो मेरे घर में बैठा मेरा इंतजार करने लगा। 

मैंने अपनी बहन को मैसेज किया की तू क्या कर रही है ?

बहन ने कहा मैं क्या करती वो इतने प्यार से बोला तो मैं मना नहीं कर पाई। 

बहन की मीठी बोली से मैं समज गई की उसे मेरा बॉयफ्रेंड पसंद आ गया इसलिए उसने उसे अंदर आने दिया ताकि वो उसे गन्दी नजर से देख पाए और मौका मिले तो बात भी कर पाए। 

मेरी छोटी बहन अभी अभी कॉलेज जाना शुरू की थी और उसने अभी अभी आसमान ने उड़ना शुरू किया था बुल्कुल मेरी तरह। 

उसकी गांड मुझ से बड़ी 38 इंच की है और स्तन मुझ से छोटे 32 इंच के और कमर 26 की थी। मेरे बॉयफ्रेंड को मोटी गांड और पतली कमर वाली लड़किया ज्यादा पसंद थी। 

इस तरह की लड़कियों को वो नोच नोच कर खानी के लिए तैयार रहता है। मुझे लगा की वो कुछ देर में चला जाएगा इसलिए मैं छत पर बैठी इंतजार करती रही और नीचे नहीं गई। छत पर बेथ बेथ मैं यही सोच सोच कर डरती रही की अगर मम्मी या पापा घर आ गए तो क्या होगा। 

इसलिए मैं उसे खुद भगाने और बात खत्म करने के लिए नीचे जाने लगी। नीचे जाते जाते मैं यही सोचने लगी की आखिर उसको क्या बोलूगी ? 

और जब मैं नीचे गई तो मैंने अपनी ही बहन को उसके लंड पर बैठा देखा। 

अपनी बहन को अपनी बॉयफ्रेंड से चुड़ते हुए मुझे गस्सा, जलन और सेक्स तीनो एक साथ चढ़ने लगे। साथ साथ मैं ये भी सोचने लगी की अगर ये मेरी बहन के प्यार में पड़ जाये तो मेरा पीछा छूट जायेगा पर ये मेरी बहन को भी चोद चोद कर उसे रंडी बना देगा फिर ?

मैं यही सोचती रही की नीचे जाकर उसे गाली दू या जो हो रहा है होने दू। इतने में उनकी चुदाई देख मैं कामुक होने लगी। मेरा बड़ा भोसड़ा मिनट से ओहले अपनी की बुँदे टपकाने लगा। 

मेरे बॉयफ्रेंड की सॉलिड बॉडी देख मेरी बहन चुदाई का आनंद लेने लगी। मैं यही सोचने लगी की इसने मेरी बहन को फसाया है या मेरी बहन ने इसको। 

पर जो भी था उनकी सुहागरात शुरू हो गई थी। मेरे बॉयफ्रेंड ने मेरी बहन को अपनी गोद में बिठाया और उसे स्तन चूस चूस कर उसकी चुदाई करने लगा।   

उनकी चुदाई देख मेरा भोसड़ा पानी टपकने लगा और मेरे पैर कपङे लगे और मैं घुसे में ये सोचने लगी की मेरे बॉयफ्रेंड ने मेरी बहन को भी नहीं छोड़ा। 

मेरी बहन – अहह तुम हो कौन ? अहह कोई फिल्म स्टार हो क्या जो इतनी अच्छी बॉडी बना राखी है !! अहह !!

बॉयफ्रेंड – नहीं मैं बस तुम्हारी बहन का X बॉयफ्रेंड हूँ !!

बहन – क्या !!!! 

जैसे ही मेरी बहन ने ये कहा मेरा बॉयफ्रेंड उसे उठाया और उसे सोफे पर लेटा कर उसके पैर खोल कर चोदने लगा। अपने भारी लंड से वो उसकी चुत को भोसड़ा बनाने में लगा था साथ ही साथ वो अपनी ऊँगली भी चुत में कर रहा था। 

अचानक मेरी बहन आनंद के सागर में डूबने लगी और उसे कुछ बोन का बोका ही नहीं मिला। 

मेरी ये क्सक्सक्स हिंदी कहानी सिर्फ कामुक आनंद से ही नहीं बल्कि मेरे दर्द से भी भरी है। मैं वही खड़ी अपनी बहन को रंडी बनता और मेरे बॉयफ्रेंड को रंडी बनाता देखती रही और वही खड़ी अपनी चुत और आँखों से पानी टपकाती रही। 

मेरी बॉयफ्रेंड अपना पूरा दम लगा और मेरी बहन का रस निकालने में लगा था। वो कभी उसे घोड़ी बना कर चोद रहा था तो कभी सोफे पर लेटा कर। उसे मेरी बहन की मोटी गांड और पतली गोरी कमर काफी पसंद आई थी। 

वो चुदाई करते करते मेरी बहन की गांड नोचे जा रहा था। उसका मेरी बहन के शरीर से होता लगाव देख मुझे गुस्सा आने लगा। मेरा बॉयफ्रेंड गुस्सैल और रोबदार था। उसे न तो किसी से डर लगता था और न ही वो किसी की सुनता था। 

इसलिए वो मेरे घर में मेरी ही बहन को इस तरह चोद रहा था। 

 मेरी बहन 19 साल की थी और यहाँ तक मुझे पता है उसने बस एक बार सेक्स किया था। मेरी जवान और सुंदर बहन की थुलथुली गांड देख मेरा बॉयफ्रेंड पागल हो गया। 

कुतो की तरह चिपक कर वो मेरी बहन की गांड चोदे जा रहा था और मेरी बहन को इतना मजा आ रहा था की उसकी आंखे उलटी होने लगी। 

तभी मुझ से और रहा नहीं गया। मैं गुस्से से नीचे गई और चीला कर अपनी बहन का नाम लिया। 

बॉयफ्रेंड – ओह तो मैडम छूट बोल रही थी !!

मैंने कहा – मेरी बहन से दूर हट कमीने !!

बहन – अहह अहह ओह येअहह दीदी !!!

मेरे बॉयफ्रेंड ने मेरी एक न सुनी और वो मेरी आँखों में देखता देखता मेरी बहन की गांड चोदने लगा। मुझे देख मेरी बहन को शर्म आने लगी और उसने दूर हटना चाहा पर मेरे बॉयफ्रेंड ने उसकी गांड इतनी जबरदस्त तरीके से दबोच रखी थी की कुछ न कर पाई। 

मैं वही खड़े खड़े उसे गाली देने लगी और वो अपनी चरम सीमा तक पहुंच गया। मैंने गुस्से में उसे एक चटा जड़ दिया और तभी उसके मुँह से अहह की आवाज नकली। 

मैंने जैसे ही अपनी बहन की गांड देखी तो वहा से सफ़ेद माल टपकने लगा। ये देख मैं समज गई की उसने मेरी बहन के सहरीर में अपनी गंदगी डाल दी गई। 

उसके बाद मैंने जो किया वो मैं अपनी इस देसी चुदाई कहानी में नहीं बताने वाली। तो बस ये थी मेरी कहानी उम्मीद करती हूँ की आपको अच्छी लगी होगी।

error: Content is protected !!