भाभी और साली को होटल में चोदा

मेरा नाम शाज़िद अली खान है और मुझे विभिन्न लड़कियों और वेश्याओं को चोदना बहुत पसंद है। हालाँकि मैंने कई अलग-अलग लड़कियों के साथ सेक्स किया है लेकिन फिर भी मैं अपने भाई की पत्नी के साथ सेक्स करना चाहता हूँ। मेरी भाभी सच में सेक्सी हैं और उनके बड़े और मुलायम स्तन हैं। उसका नाम पूजा है और उसकी उम्र 27 साल है। इस कहानी में मैं आपको बताऊंगा कि कैसे मैं भाभी और साली को होटल में चोदा वो भी एक साथ।

ये भाभी की चुदाई कहानी तब की है जब मेरा कॉलेज ख़तम हो गया था। और मैं नई नौकरी को तलाश में था। उस समय मैं विवाहित था और मेरी कोई प्रेमिका नहीं थी। जब मुझे कामवासना की इच्छा होती थी तो मैं होटल के कमरों में कॉल गर्ल्स को बुला कर चोदता था। 

मैं कॉलेज के दिनों में ही अपनी प्रेमिका से शादी कर लिया था। पर कुछ महीनो में मेरा अपनी बीबी से मन भर गया क्यों की मैं उसकी हर रत चुदाई करता था। बीवी से ऊब जाने के बाद मैंने रंडीओ को चोदना शुरू कर दिया।

लेकिन फिर भी इन सब के बाद मैं अपनी देसी भाभी के साथ सेक्स करना चाहता था। मेरी भाभी को बड़े लंड वाले आदमी पसंद थे। ये मुझे तब पता लगा जब गलती से भाभी ने अपना लैपटॉप खुला छोड़ दिया था और बाजार चली गई थी। 

मेने देखा की लैपटॉप में गन्दी फिल्मो का भंडार पड़ा था। तब मुझे पता लगा की भाभी अंग्रजो के लम्बे को मोठे लण्ड देख अपनी चुत सहलाती है। 

मैंने अपनी भाभी को ब्लैकमेल किया और कहा कि तुम्हें मेरे साथ सेक्स करना होगा नहीं तो मैं बड़े भाई को बता दूंगा। भाभी ने हाँ कहा और मैंने अपने पसंदीदा होटल के कमरे में उसके साथ चुदाई करने का फैसला किया। इसके साथ ही मैंने रात को अधिक कामुक बनाने के लिए एक महंगी कॉल गर्ल बुक करने का फैसला किया।

अगले दिन, मैं और मेरी भाभी होटल के कमरे में गए।

भाभी – तुम मेरे शरीर के साथ जो चाहो करो लेकिन अपने भाई को इस बारे में मत बताना।

मैंने कहा – भाभी जी मैं वो हर गंदी हरकत करूंगा जो आपने उन एडल्ट फिल्मों में देखी थी। लेकिन इससे पहले कि हम शुरू करें हमें किसी का इंतजार करना होगा।

भाभी – रुको तुमने अभी क्या कहा? यहाँ कौन आ रहा है।

मैंने कहा– मैं एक ग्रुप सेक्स को बहुत बुरी तरह से आजमाना चाहता था और अब मेरे पास मौका है इसलिए मैंने एक सेक्सी कॉल गर्ल बुक की।

भाभी – ओह माय गॉड !! आपने कहा था कि यह हमारे बीच होगा। फिर आप किसी अन्य व्यक्ति को क्यों शामिल कर रहे हैं।

मैंने कहा – भाभी अपनी गांड ज़ादा मत फुलाओ और चुप चाप बैठे रहो। 

जैसे ही कॉल गर्ल (रंडी) आई तो मेरा और भाभी का मुँह खुला का खुला रह गया। 

जिस रंडी की गांड मारने के लिया मेने बुलाई थे वो मेरी बीबी की छोटी बहिन निकली। जिसका मतलब था की आज मैं अपनी भाभी के साथ साथ साली की भी चुदाई करने वाला हूँ। 

मेने अपनी साली से कहा की अगर वो मेरे साथ सेक्स नही करेगी तो मैं उसकी बड़ी बहिन को सब बता देने वाला हूँ। उसके बाद, वह डर गई और उसने सेक्स के लिए हाँ कह दिया।

मैं अपनी साली और भाभी को उठा पटक के चोदने की तयारी करना लगा। मेने अपने बास्ते में से कंडोम निकला और भाभी को दे दिया। 

मेने साली को मेरे कपडे उतारने को बोला और भाभी को कंडोम लगाने को। फिर भाभी ने मेरा लण्ड मुँह में लेकर चूसना शुरू कर दिया और मैं साली के छोटे छोटे स्तनों को चूस कर लाल करने लगा। 

मैंने कहा- भाभी आप बहुत अच्छा काम कर रही हैं। ऐसा लगता है कि आप हर दिन मेरे भाई के साथ ऐसा करते हैं।

भाभी ने कहा- चुप रहो।

मैंने साली से कहा- क्या कर रही हो डार्लिंग? चलो अपने रसीले होठो से मुझे चुम्बो। 

मेरी साली अभी जवान थी वो सिर्फ 21 साल की थी इसलिए उसको चोदने में मुझे और मज़ा आने वाला था। 

चुम्बन के दौरान मेने साली से पूछा कि क्यों वह रंडी बन कर यहाँ वह अपनी चुदाई करवा रही है। 

उसने बताया की घर वाले उसको पैसे नही देते इसलिए उसको गांड मारनी पड़ती है। 

इसके बाद मेने भाभी और साली को नाचने को कहा। फ़ोन के ज़रिये मेने कुछ अश्लील गाने चला दिए और भाभी और साली अपनी मोटी और थुलथुली गांड हिला हिला कर नाचने लगी। 

नृत्य प्रदर्शन के दौरान मैं और भी उत्साहित हो रहा था। भाभी बिना कपड़ो के अपने बड़े बड़े स्तन हिला कर देखा यही थी और साली अपनी गांड मटका रही थी। 

अपनी भाभी और साली को ऐसा नंगा नाच करते देख कुछ अजीब तो लग रहा था पर मेरी अन्तर्वासना और भी बढ़ती जा रही थी। 

जोश में मेने अपनी साली को करीब खींचा और उसे घोड़ी बना कर चोदना शुरू कर दिया। साथ ही भाभी को पास बुलाया और उसको चूमना शुरू कर दिया।

कुछ ही दर में साली मेरे लण्ड की गेहराइओ में खो गई और उसने अपनी गुलाबी चुत से पानी छोड़ना शुरू कर दिया। तभी मेने भाभी को साली की चुत चाटने को बोला। 

थोडी ज़बरदस्ती के बाद भाभी मान गई और साली की चुत से निकलने वाला पानी चाटने लगी। 

फिर मेने साली को बिस्तर पे लेटा दिया और भाभी को उसके ऊपर। फिर मेने भाभी को पीछे से ज़ोर से धका देना शुरू कर दिया। 

भाभी और साली को भी मज़ा आने लगा वो भी एक दूसरे को चुमबने और चाटने लगी। 

भाभी की गांड पे कुछ ज़ोरदार थपड मारे तो उनकी चुत ने भी हार मन कर पानी छोड़ दिया। 

कुछ देर भाभी की गांड चुदाई और करने के बाद मेने भी अपना माल कंडोम में छोड़ा दिया। 

इतनी चुदाई की वजह से भाभी और साली थक गई थी। दोनों एक दूसरे को गले लगा कर गहरी नींद में सो गई। 

मेने मोके का फायदा उठाया और एक कागज़ पर लिखा “कल रात की चुदाई के लिए भी तैयार रहना।” 

मेने अपने कपडे पहने और वह से निकल गया। 

मेरी समूह सेक्स कहानी के बारे में आप क्या सोचते है कमेंट में ज़रूर बताना। 

error: Content is protected !!