बरसात में दोस्त की बीवी को चोदा

मेरे सबसे अच्छे दोस्त की बीवी मेरी बीवी की किटी पार्टी में आए हुए थी। मेरी बीवी ने एक छोटी सी सामूहिक पार्टी रखी थी ताकि हम अपने पुराने दोस्तों से मिल सके। लेकिन मेरी मुलाकात वहां मेरे सबसे अच्छे दोस्त की बीवी से हो गई जो कि बहुत ही ज्यादा सेक्सी और हॉट थी। उसने एक बहुत ही सुंदर साड़ी पहन रखी थी जिसमें वह कतई जहर लग रही थी और उसका बल खाता हुआ बदन इतना ज्यादा हॉट लग रहा था।

वो एक कोने के टेबल पर बैठकर दारू पी रही थी तभी मैं उसके पास चला गया।

और मैंने बोला – पहचाना रंभा भाभी??

रंभा हंसते हुए – हां बिल्कुल.. आप मेरे पति के सबसे अच्छे दोस्त हैं.. पहचानेंगे कैसे नहीं!

मैंने बोला – मुझे लगा आप मुझे भूल गए लेकिन पार्टी में आज सबसे ज्यादा हॉट लग रही हैं।

रंभा शर्मा के हंसते हुए – अरे! आप भी कुछ भी बोलते हैं!!

मैं – हां! आप बहुत ही ज्यादा हॉट लग रही है, इतनी हॉट कि मेरी बीवी भी आपके आगे चीनी कम पानी लग रही है।

और यूं ही हमारी बातचीत चलती रही हमारी बातें काफी लंबी चली और मैं उससे ऐसे ही  मजे लेता रहा।

रंभा मेरे साथ बहुत ही ज्यादा कंफर्टेबल हो गई थी और वह अपनी सारी बातें बता रही थी। की सुरेश (मेरे दोस्त) के पास टाइम नहीं रहता है कि वह रंभा को खुशी दे सके।

रंभा – उनके पास तो मेरे लिए वक्त ही नहीं है हम दोनों एक साथ बहुत ही कम समय बिताते हैं।

मैं समझ गया यह समय का मतलब चुदाई से है

और मैंने हंसी हंसी में बोला – अरे.. रंभा भाभी आप हमें भी याद कर लिया करो.. हम भी खुशी दे देंगे!!

और हम दोनों बहुत जोर जोर से हंसने लग गए।

जब पार्टी खत्म हो गई तो सब अपने-अपने घर जाने लगे परंतु उस वक्त बहुत ही जोर से बरसात चालू हो गई।

बारिश बहुत ही जोर से झमाझम हो रही थी। तो जितने लोग अपनी कार लेकर आए थे वह तो अपनी कार लेकर चले गए।

परंतु रंभा अभी भी इंतजार कर रही थी कि उनका पति उन्हें लेने आएगा।

उन्होंने उसे फोन भी किया था परंतु उसने फोन उठाया और कहा मैं अभी जरूरी व्यापारिक मीटिंग में हूं, मैं नहीं आ सकता तुम जोगेंद्र (मै) के साथ घर आ जाओ।

रंभा मेरे पास आई और बोली – मेरे वो लेने के लिए नहीं आ सकते हैं तो क्या तुम मुझे घर छोड़ दोगे?!!

मेरे मन में तो लड्डू फूटने लगे, मैंने कहा – आज तो किस्मत मेरे ऊपर मेहरबान हैं।

और हम दोनों मेरी गाड़ी में बैठे हैं और मैं उन्हें उनके घर छोड़ने के लिए ले चला। बहुत ही जोर से झमाझम बारिश हो रही थी और कुछ भी गाड़ी के सामने नहीं दिख रहा था। बहुत ही मुश्किल से मैं गाड़ी चला पा रहा था इतनी बारिश में तभी अचानक एक गड्ढा सामने आ गया।

और गाड़ी में बहुत जोर से झटका लगा जिसकी वजह से रंभा मेरे ऊपर गिर गई

मैंने अचानक से ब्रेक लगा दी और रंभा मेरी आंखों में देखने लगता है मैं रंभा की आंखों में देखने लग गया।

झमाझम होते हुए बारिश, चलती हुई ठंडी-ठंडी हवा, और रंभा के साथ रोमांटिक पल, यह सब किसी Desi Sex Story जैसा लग रहा था, और मुझे बहुत ही ज्यादा उत्तेजित कर रहा था। और कहीं ना कहीं रंभा भी इसे बहुत ही ज्यादा उत्तेजित हो रही थी उनकी अंतर्वासना जाग रही थी।

तभी मैंने धीरे-धीरे अपने मुंह को रंभा के पास लेकर आया और उनके होठों के ऊपर चुम्मा दे दिया।

रंभा ने भी मुझे मना नहीं करी और बदले में वह भी मुझे चूमने लग गई।

फिर क्या हम दोनों की चुम्मा चाटी चालू हो गई बरसात में और मैं रंभा को चूमे जा रहा था उनके होठों को चुसे जा रहा था।

फिर मैं रंभा के बड़े बड़े स्तन बड़ा उसके ऊपर से दबाने लगा। और उनके ब्लाउज को पूरा उतार के रंभा को पूरा ऊपर से नंगा करके मैं उनके बड़े-बड़े दूधों को चूसने लगा

फिर मैंने अपनी गाड़ी की सीट एकदम नीचे कर दी और रंभा को उसके ऊपर लेटा दिया।

और रंभा की साड़ी ऊपर की और अपना लंड घुसा दिया उसकी चूत में।

मैं रंभा को खचाखच चोदने लग गया और गाड़ी खटाखट हिलने लग गई।

मैं मन ही मन सोच रहा था की – भरी बरसात में दोस्त की बीवी की चुदाई करते हुए कितना मजा आ रहा है।

और यही सोच सोच कर मैं और भी ज्यादा उत्तेजित हो रहा था जिसे मैं रंभा के कंधों को पकड़कर उनकी चूत की जबरदस्त चुदाई कर रहा था।

परंतु गाड़ी के अंदर चुदाई ठीक से बन नहीं पा रही थी और मेरा सिर बार-बार गाड़ी की छत से लड़ जाता था।

तो वासना की इच्छाओं को पूरा करने के लिए मैंने गाड़ी का दरवाजा खोला और रंभा को लेकर भरी बरसात में बाहर आ गया।

रंभा – अरे!! क्या कर रहे हो,,, हम दोनों भीग जाएंगे!!

मैंने बोला – इसी भरी बरसात में चुदाई करने का मजा ही अलग है, रंभा।

और दोबारा से मैंने रंभा की साड़ी ऊपर करें गाड़ी के बोनट के ऊपर लेटा दिया और उनकी चुदाई करने लगा।

बारिश झमाझम हो रही थी हर एक बूंद मैं और मेरे दोस्त की बीवी दोनों महसूस कर रहे हैं। टपा-टप गिरती बूंदे रंभा की चूत में उनको और भी ज्यादा उत्तेजित कर रही थी।

रंभा – हां! हां! ऐसे ही चोदो मुझे… हां, ऐसे ही मेरी चूत मारो!! किसी Bhabhi Sex Story की रंडी की तरह चोदो मुझे!!

यह सुनकर मैंने रंभा के बड़े बड़े स्तनों को अपने हाथों से पकड़कर सहारा बनाया और उनकी चूत की जबरदस्त प्रचंड चुदाई करने लगा खचाखच खचाखच। भरी बरसात में गाड़ी के ऊपर में रंभा की चुदाई 25 की रफ्तार से कर रहा था।

और मेरी वासना पूरी होने ही वाली थी मेरे लंड से मेरा माल छोड़ने ही वाला था।

रंभा – हां ! अपना सारा माल अपनी रंभा की चूत में डाल दो!! बहुत मजा आ रहा है चोदो और जोर से चोदो अपने दोस्त की बीवी को!!

यह सुनकर और भी ज्यादा उत्तेजित हो गया और मैं 25 की जगह 50 की रफ्तार से रंभा की चूत की चुदाई करने लगा।

जैसे यह मेरा झड़ने वाला था मैंने रंभा को नीचे घसीटा और उनके मुंह में अपना लौड़ा घुसा के उनकी चूत में सारा माल झाड़ दिया।

रंभा वासना की सॉंसे भरते हुए – मैंने तुमको अपने अंदर झाड़ने को कहा था

मैं बोला – कोई बात नहीं बाबू… अब झाड़ देता हूं… आपकी चूत में… मैंने रंभा को खड़ा करा उनकी गांड को पीछे घुमाया और उनकी चूत में बड़ा लंड घुसा दिया।

रंभा – अरे!! अभी अभी तो तुम्हारा झाड़ा है, तुम्हारे लंड अभी तक नहीं बैठा?!!

मैं – रंभा आप इतनी ज्यादा सेक्सी और हॉट हो कि मेरे लंड में अभी भी ताकत बाकी है।

और बहुत ही तेजी से में रंभा की चूत की चुदाई पीछे से करने लगा। मैंने रंभा के दोनों हाथों को पीछे कौन रखा था और उनकी गांड की चूत की चुदाई मैं खचाखच करे जा रहा था।

रंभा – आ… आ… आ… आ… आ… आह….. आह…. आह….!!

मैं खचाखच रंभा की चूत को अपने मजबूत लंड से चोदा जा रहा था और कुछ ही देर में मेरा फिर से झड़ने वाला था।

और जैसे ही मेरा दोबारा झड़ने वाला था मैंने पूरा लंड रंभा की चूत में तान दिया और अपना सारा माल झाड़ दिया।

मैंने अपने लंड की एक-एक बूंद रंभा की चूत में भर दी और रंभा के पैर मेरी चुदाई से कांप रहे थे।

रंभा – आ! आ! आह… आ! आ!! आ… आ…. आ.. आ.. आ.. आ… आ… आ… आ… आ.. आ..!!!!! 

यही तो चाहिए था मुझे

रंभा हंसते हुए – तुमने तो भरी बरसात में दोस्त की बीवी को चोदा वह भी जबरदस्त तरीके से।

मैंने हंसते हुए बोला – रंभा आप इतनी हॉट और सेक्सी हो कि क्या करें… पता नहीं मेरा चूतिया दोस्त आपको खुशी कैसे नहीं दे पाता।

रंभा – क्योंकि वह चूतिया है

और हम दोनों खुशी से हंसने लग गए और हमारे यह नाजायज संबंध आगे भी कामयाब रहा।