अंड मंड का टोला

दिल्ली के आशु ने अपनी गर्लफ्रेंड के साथ खेला गंदा खेल। आशु ने बताया की कैसे उसने सिर्फ एक खेल के जरिये अपनी नई गर्लफ्रेंड की गांड मार ली। आशु की लिखी कहानी “अंड मंड का टोला” मजेदार और अतरंगी तो है ही साथ में काफी कामुक भी है। आशु की ये कहानी सभी लड़को को ये बताती है की लड़कियों को बेवकूफ बनाना कितना आसान है। इसलिए अपनी गर्लफ्रेंड से खुल कर मजे ले और दिल खोल कर बाते करे आखिर किसे पता लड़कियों के दिमाग में क्या चल रहा है। 

उस दिन मैं अपनी नई बंदी के साथ दोस्त के फ्लैट में रुका था। मैं और मेरी गर्लफ्रेंड कॉलेज के बाद घूमने जाते थे। पर मुझे तो सेक्स की तेज भूख थी इसलिए मैं अपने गर्लफ्रेंड से बोला मेरे दोस्त का फ्लैट है वहा चल कर थोड़ी अकेले में बाते करते है। 

बंदी के मान जाने के बाद मैं उसे वहा ले गया। उसको पता था की मैं उसके साथ सेक्स करना चाहता हूँ इसलिए उसने पहले ही मना कर रखा था। 

वहा जा कर हमने खूब बाते की और एक दूसरे को जाना। उसके बाद मेरी बंदी ने कहा चलो एक गेम खेलते है जो rock paper scissors में हारा को जीतने वाले की एक बात माननी होगी।

मैं हस कर बोला अच्छा ?? 

गर्लफ्रेंड – हाँ बाबा हस क्यों रहे हो ?

मैंने कहा – अंड मंड का टोला जो न…………

गर्लफ्रेंड – बस बस ये बोलने की जरूरत नहीं है। चलो पापा कसम मैं न नहीं बोलूंगा।

बस उसी वक्त वो वही फस गई क्यों की मेरी बंदी कसम वसन दिल से मानती है। इसके बाद हमने खेल चालू किया। 

पहली बार मैं हार गया और उसने मुझे बिना गाने के नाचने को कहा। गर्लफ्रेंड को खुश करने के लिए मैं पागलो की तरह दिल खोल का नाचा और वो हस हस कर पागल हो गई। 

दूसरी बार मैं जीत गया और जीते ही मैंने उसे करीब आने को कहा। 

गर्लफ्रेंड – नहीं ! तुमने वही कहा जो मैंने सोचा था। 

मैंने कहा – ये गेम का रूल है बेबी अपने ही कहा था। 

वो थोड़ी देर रुकी और उसके दिमाग में पापा की कसम वाली बात आई तो उसने मेरी तरफ आना शुरू किया। 

उसके प्यार से मेरे कान में कहा तुम बहुत कमीने हो !

उसके बाद वो मुझे होठों पर चूमने लगी और मुझे मजा आने लगा। मैंने उसे बाहो में भरा और हम बिस्तर पर लोट पॉट होने लगे। 

मुझे उसके स्तन अपनी छाती पर महसूस होने लगे जो काफी बड़े और नरम थे। 

गरिमा ने एक हल्का नीला टॉप पहना था और काली टाइट जीन्स। 

हम दोनों एक दूसरे को मजे से चुनते जा रहे थे की तभी मैंने उसकी गांड पर हाथ रखा और उसे कामुक तरीके से सहलाने लगा। 

गरिमा – रुको ये क्या कर रहे हो ? बस हो गया अब और नहीं। 

मैंने तभी अपना हाथ उसकी चुत की तरफ बढ़ाया और जीन्स के ऊपर से उसकी योनी सहलाने लगा। 

गरिमा – आशु नो ये सब नहीं !!

गरिमा ने सिर्फ मुँह से बोला चाहे तो मुझे धका दे कर पीछे हट सकती थी पर ऐसा कुछ नहीं हुआ। 

चूमा चाटी की वजह से गरिमा की चुत नम हो गई और वो अपने आप पर काबू नहीं कर सकीय। 

मैं लगातार जीन्स के ऊपर से उसकी गांड चुत सहलाता रहा तभी वो और गर्म हो जाये। 

मेरे एक दोस्त ने रसोई में दोस्त की बहन को गर्म करके चोदा था। मैं भी उसी तरह अपनी गर्लफ्रेंड की बड़ी बहन का भोसड़ा चोदना चाहता था। 

मैंने कई सारी इंडियन सेक्स स्टोरीज बड़ी थी इसलिए मुझे पता था की गरिमा को कहा छूना है और कहा नहीं। 

मैंने गरिमा को अपने ऊपर से हटाया और उसके ऊपर पर चाड कर उसकी गर्दन पर चुंबन करने लगा। साथ ही मैं उसके स्तन भी छूने लगा और निप्पल मसलने लगा। 

गरिमा – अहह बेबी और मत करो मैंने मना किया था न !!

गरिमा को काफी मजा आने लगा पर मुँह से न निकल रही थी। उसकी बेशर्मी बाहर निकालने के लिए मैंने जल्दी से उसकी जीन्स उतारी और कच्छी में हाथ डाल कर उसकी योनी में ऊँगली करने लगा। 

उसकी योनी काफी गीली थी तो मेरी ऊँगली भी लसलसी हो गई। साथ ही मैं दूसरे हाथ से उसके टॉप में हाथ डाला और उसके स्तन दबाने लगा। 

मुझे मजा तो काफी आने लगा था पर जब तक मेरे लंड को कोई न हिलाये तो मुझे कुछ कमी लगती है। मैंने अपनी पैंट की जीप खोली और पूरा लिंग बाहर निकाल कर गरिमा के हाथ में थमा दिया। 

गरिमा – छी अब और नहीं ! तुम जो सोच रहे हो वो मैं नहीं करने वाली। 

मैंने उसकी आँखों में देखा और उसे फिर प्यार से चूमने लगा। 

गरिमा – तुम नहीं मानोगे ना ?

उसके बाद गरिमा मेरा लिंग को अपने लंबे नाखून वाले हाथ से पकड़ा और उसे हिलाने लगी। 

उसके हाथ के सुंदर नाखून कभी मेरे टटो पर चुभते तो कभी लंड पर। मुझे काफी मजा आने लगा और गरिमा भी मेरे लंड में रुचि लेने लगी। 

वो ध्यान से मेरा लिंग देखती तो कभी गोटे मसलती। उसकी वो सुंदर आंखे मेरे लिंग को देखे जा रही थी। 

बस तभी मेरे लिंग से पानी टपकने लगा तो मैं झटके से उठा और गरिमा को घोड़ी बना कर अपना लंड उसकी योनी ने देने लगा। 

फ्लैट के और लोग गरिमा की गांड चुदाई की आवाज न सुन ले इसलिए मैंने कोई अच्छा सा गाना चला दिया। उस रोमांटिक माहौल में मैं उसकी चुत में अपना लंड रगड़े जा रहा था और मुझे काफी मजा आ रहा था। 

गरिमा – ओह येह अहह ……

गरिमा के पैर और सासे दोनों थर थरा रही थी। उसकी योनी मुलायम होने लगी। टाइट चुत की रगड़ किसी होती है वो मुझे उस दिन पता लगा। 

मैंने गरिमा के स्तन पकड़े और उसे ऊपर उठा कर चोदने लगा। मेरी कमर के धको से उसके स्तन आगे पीछे उछाल रहे थे और गरिमा मजे ले रही थी।  

जल्द ही नीचे का सारा मामला गर्म और गंदा होने लगा। गरिमा की चुत से सफ़ेद पानी निकला और मैंने उसकी चुदाई और तेज कर दी। 

गांड पर पड़ते जोर दार थपेड़ो से गरिमा की गांड लाल हो गई और उसके दोनों रसीले स्तनों पर मेरे हाथो की छाप पड़ गई। 

चुत की जबरदस्त चुदाई से मेरे टटे लाल हो गए क्यों की वो गरिमा की चुत की पिटाई कर रहे थे। 

गोटो से और दर्द सहा नहीं गया तो उन्होंने लंड से आंसू बहाना शुरू कर दिया। रोते लिंग को देख मैं भी रुक गया और गरिमा के ऊपर लेट कर उसे चूमता रहा। 

मैंने गरिमा की चुत में अपना माल डाल दिया था पर उसे वो गर्भवती नहीं हुई क्यों की उसने चुदाई के बाद ही बच्चा रोकने की गोली खा ली थी। 

ये थी दिल्ली के आशु की गर्लफ्रेंड सेक्स स्टोरी। इस कहानी के अंत में आशु ने हमको ये सिखाया की जब भी आप किसी लड़की के साथ है तो अपनी जेब में कंडोम जरूर रकना चाइये।